7 Effective Yoga For Increasing Immunity in Hindi | अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग अपनाये

Show Some Love By Sharing!

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) : हमारी लगातार बदलती जीवन शैली कई बीमारियों को आमंत्रित करने का काम करती है। हमें इन बीमारियों से बचने के लिए न केवल अपनी दिनचर्या को ठीक करने की जरूरत है बल्कि हमें अपनी दिनचर्या में प्रतिदिन योग को शामिल करने की भी आवश्यकता है। स्वस्थ रहने का सबसे आसान और सटीक तरीका योग है। योग के नियमित अभ्यास से जीवन में अनुशासन आता है।

रोजाना सुबह जल्दी उठकर स्वच्छ वातावरण में योग करने से यें आपको शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं और इनसे आपको अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद मिलती है। इसलिए प्रतिदिन रोज सुबह योग करना हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

वैसे तो योग कई प्रकार के होते हैं लेकिन आज हम आपके लिए यह लेख लाये है, इस लेख में आप जानेगें की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग (Yoga To Increase Immunity in Hindi) कौन-कौन से होते है, तो चलिए शुरू करते है।

विषय सूची:

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग कौन-कौन से है? (Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

  1. उत्कटासन योग [Utkatasana Yoga (Chair Pose)]
  2. शलभासन योग [Shalabasana Yoga (Locust Pose)]
  3. हलासन योग [Halasana Yoga (Plow pose)]
  4. पश्चिमोत्तानासन योग [Paschimottanasana Yoga (Seated Forward Bend Pose)]
  5. धनुरासन योग [Dhanurasana Yoga (Bow pose)]
  6. मत्स्यासन योग [Matsyasana Yoga (Fish pose)]
  7. वृक्षासन योग [Vrikshasana Yoga (Tree Pose)]

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग (Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

यहाँ निचे हमने इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग (Yoga To Increase Immunity in Hindi) के बारे में विस्तार से बताया है, जिसे आपको जानना चाहिए-

1. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें उत्कटासन योग (Utkatasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

उत्कटासन योग के बारें में जानकारी:

उत्कटासन संस्कृत के दो शब्दो से मिलकर बना है, जिसमे उत्कट का अर्थ “जंगली / भयंकर” है और आसन का अर्थ “मुद्रा या पोज” है।

यह एक काल्पनिक कुर्सी पर बैठने जैसी मुद्रा है, जिसके कारण इसे कुर्सी मुद्रा (Chair Pose) भी कहा जाता है। उत्कटासन के लाभों को उग्र मुद्रा, वज्र मुद्रा, जंगली मुद्रा, खतरनाक मुद्रा और शक्तिशाली मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है।

यह पैरों को मजबूत करने और इम्यूनिटी पॉवर को मजबूत बनाने के लिए एक शक्तिशाली मुद्रा है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Utkatasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में उत्कटासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Utkatasana Yoga beneficial in yoga to increase immunity?):

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग के बारें में बात करें तो उत्कटासन योग एक आदर्श योग मुद्रा साबित होता है। यह आसन मुख्य रूप से हमारी ताकत और सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करता है, यह उत्कटासन योग आसन हमारीआंतरिक शक्ति को बढ़ावा देने में मदद करता है।

यह मांसपेशियों, जोड़ों पर काम करता है और किसी भी दर्द से राहत देने में मदद करता है। चूंकि, कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगका अभ्यास करना अत्यंत महत्वपूर्ण है, और यह योग आसन आपको स्वस्थ और सक्रिय जीवन शैली जीने में मदद करता है।

उत्कटासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- उत्कटासन योग

(यह भी पढ़े – 8 Best साइनस के लिए योग और प्राणायाम (Sinus Treatment in yoga in Hindi))

2. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें शलभासन योग (Shalabasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

शलभासन योग के बारे में जानकारी-

लोकस्ट पोज को संस्कृत भाषा में “शलभासन” के नाम से जाना जाता है, जो दो शब्दों से मिलकर बना है, जिसमें पहला शब्द “शलभ” का अर्थ है “टिड्डी” और दूसरे शब्द आसन का अर्थ है “मुद्रा”।

इस आसन को अंग्रेजी में “लोकस्ट पोज” कहा जाता है। शलभासन रीढ़ की हड्डी, पीठ के निचले हिस्से के दर्द और थकान को दूर करने में मदद कर सकती है। यह पीठ के धड़, हाथ और पैरों को मजबूत बनाने के साथ साथ हमारे शरीर की इम्यूनिटी भी बढ़ाता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Shalabasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में शलभासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Shalabhasan Yoga beneficial in yoga to increase immunity?):

जब हम इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए योग का अभ्यास करते हैं, तो यह योग आसन भी एक महत्वपूर्ण योगासन है जो रीढ़, पीठ के निचले हिस्से, कूल्हे के जोड़ों, हाथ, पैर और श्रोणि अंगों को मजबूत करने में मदद कर सकता है।

यह लगातार हो रहें पीठ दर्द से भी राहत देता है और यह इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले योगों में से एक है। यह रीढ़ की हड्डी के क्षेत्र में रक्त के प्रवाह में सुधार करता है और पेट में मौजद एब्डोमेन पर भी पर्याप्त दबाव लागू करता है।

शलभासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- शलभासन योग

(यह भी पढ़े – YOGA FOR 30 MINUTES in Hindi | जानिए 30 मिनट के लिए योगासन में कौन-कौन से योग करें!)

3. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें हलासन योग (Halasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

हलासन योग के बारे में जानकारी-

‘हलासन’ संस्कृत के दो शब्दों के मेल से बना है, जिसमे ‘हला का अर्थ है “हल” और ‘आसन’ का अर्थ है “आसन” या “मुद्रा”। भारतीय पारंपरिक कृषि में, हल एक विशेष उपकरण है जिसका उपयोग खेतों की जुताई के लिए किया जाता है। अपने पूरे आसन में, यह आसन उसी ‘हल’ के समान दिखता है, इसलिए इसे अंग्रेजी में ‘प्लो पोज’ कहा जाता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Halasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में हलासन योग कैसे लाभदायक है? (How is halasana yoga beneficial in Yoga For Increasing Immunity in Hindi?):

हलासन योग (Plow Pose) के नियमित अभ्यास से शरीर में रक्त के संचार को बढ़ावा मिलने के साथ साथ हमारे शरीर की इम्यूनिटी पॉवर भी बढती है। रक्त परिसंचरण मानव शरीर के सबसे महत्वपूर्ण तंत्रों में से एक है।

जिसका मन, शरीर और आत्मा के कल्याण पर सीधा प्रभाव पड़ता है। दिल और फेफड़ों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए और शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, हलासन योग कई मायनों में सबसे अच्छा व्यायाम हो सकता है।

हलासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- हलासन योग

(यह भी पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए योग (7 Effective Pranayama And Yoga for Erectile Dysfunction in Hindi))

4. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें पश्चिमोत्तानासन योग (Paschimottanasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

पश्चिमोत्तानासन योग के बारे में जानकारी-

इस आसान का नाम पश्चिमोत्तानासन संस्कृत भाषा के तीन शब्दों से मिलकर बना है- पश्चिम + उत्ताना + आसन।

पश्चिम :- पश्चिम या पीछे

उतना :- तीव्र खिंचाव या सीधा

आसन :- आसन या मुद्रा

इसे अंग्रेजी में “सीटेड फॉरवर्ड बेंड पोज” भी कहा जाता है।

पश्चिमोत्तानासन एक बैठकर आगे झुकने वाला योग आसन है, जिसमें ऊपरी शरीर आगे की तरफ मुड़ा हुआ होता है। यह आसन अष्टांग प्राथमिक श्रृंखला का हिस्सा है। और पद्मासन,  वज्रासन और सिद्धासन के साथ “शिव संहिता” में एक कुशल आसन के रूप में भी इसे उल्लेखित किया गया है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Paschimottanasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में पश्चिमोत्तानासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Paschimottanasana Yoga beneficial in yoga to increase immunity?):

अपने मन और शरीर को मजबूत बनाये रखने के लिए कई सर्वोत्तम तरीकों में से एक है इम्यूनिटी को बढ़ावा देने और इम्यूनिटी के स्तर को बढ़ाने के लिए योग का अभ्यास करना। पश्चिमोत्तानासन योग शरीर को खींचते हुए मस्तिष्क को शांत रखने में मदद करता है।

और तो और यह इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे योग आसनों में से एक है, यह तनाव, सिरदर्द और चिंता से भी राहत देता है। इसके अलावा, यह रीढ़, हैमस्ट्रिंग पर दबाव लागू करता है और साथ ही पाचन तंत्र में सुधार कर सकता है।

पश्चिमोत्तानासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- पश्चिमोत्तानासन योग

(यह भी पढ़े – ब्रेस्ट साइज कम करने के लिए योग (8 Effective Yoga For Reduce Breast Fat in Hindi))

5. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें धनुरासन योग (Dhanurasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

धनुरासन योग के बारे में जानकारी-

धनुरासन 12 हठ योग के साथ-साथ आधुनिक योग शैली में एक विशेष आसन है। इस आसन को करने से शरीर का आकार “धनुष” जैसा हो जाता है, इसलिए इस आसन को “धनुरासन” या “धनुष मुद्रा” कहा जाता है।

“धनुरासन” आसन जिसे “उर्ध्व धनुरासन” या “धनुष मुद्रा” और अंग्रेजी में इसे “बो पोज” भी कहा जाता है। यह सबसे महत्वपूर्ण योग आसनों में से एक है।

इस आसन में, पेट और जांघ धनुष के हिस्से के रूप में और पैरों और बाहों के निचले हिस्से धनुष के ट्रंक के रूप में कार्य करते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Dhanurasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में धनुरासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Dhanurasana Yoga beneficial in Yoga For Increasing Immunity in Hindi?):

जब भी कोई इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगका अभ्यास करते है, तो वह धनुरासन योग का भी अभ्यास करते है, क्युकी यह वो योग आसन है जो इम्यूनिटी पॉवर को बढ़ावा देने में मदद करता है।

यह एक आदर्श तनाव बस्टर के रूप में कार्य करता है क्योंकि यह पाचन तंत्र पर दबाव लागू करके श्वेत रक्त कोशिकाओं के प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद करता है।

धनुरासन का अभ्यास करने से आपके पेट पर दबाव पड़ता है, जिससे पाचन तंत्र मजबूत होता है। इसके अलावा, यह इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे योग में से एक है।

धनुरासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- धनुरासन योग

(यह भी पढ़े – जल्दी प्रेगनेंट होने के लिए योग और प्राणायाम (12 Effective Jaldi Pregnant Hone Ke Liye Yoga Aur Pranayama))

6. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें मत्स्यासन योग (Matsyasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

मत्स्यासन योग के बारे में जानकारी-

यह एक संस्कृत शब्द है जिसमे “मत्स्य” का अर्थ “मछली” और “आसन” का अर्थ “मुद्रा” होता है। इस मुद्रा में शरीर मछली रूपी मुद्रा में दिखाई देता है, इस लिए इस मुद्रा को मत्स्यासन कहा जाता है।

यदि आप हिंदू पौराणिक कथाओं को देखें, तो वहां यह उल्लेख मिलता है कि मत्स्यन भगवान विष्णु के अवतारों में से एक हैं, जो ब्रह्मांड के संरक्षक हैं। यह आसन न केवल आपको कई लाभ प्रदान करता है, बल्कि यह आपके शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी मदद करता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Matsyasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में मत्स्यासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Matsyasana Yoga beneficial in Yoga For Increasing Immunity in Hindi?):

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए एक और प्रभावी योग आसन है मत्स्यासन। इस योग मुद्रा को व्यापक रूप से “सभी रोगों का नाश करने वाला योग” माना जाता है।

जैसा कि आप इम्यूनिटी को बढ़ावा देने के लिए योग का अभ्यास करते हैं, यह योग आसन प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए विभिन्न लाभ प्रदान करता है।

इसके अलावा, यह थकान से तुरंत राहत प्रदान कर सकता है और यह इम्यूनिटी और चयापचय को बढ़ाने के लिए आदर्श योग आसनों में से एक है।

मत्स्यासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- मत्स्यासन योग

7. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में करें वृक्षासन योग (Vrikshasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi):

वृक्षासन योग के बारे में जानकारी-

वृक्षासन एक स्थिर और सुशोभित वृक्ष की तरह है। यह एक संस्कृत शब्द है जिसमे “वृक्षा” का अर्थ “वृक्ष” और “आसन” का अर्थ “मुद्रा” होता है।

वृक्षासन वह मुद्रा है जिसमे रावन ने बरसो तक तपस्या कर के भगवान शिव को प्रसन्न किया था अर्थात तब से ही वृक्षासन को एक अमूल्य आसन माना जाता है।

स्वस्थ शरीर के लिए एक स्वस्थ दिमाग की जरूरत होती है। वृक्षासन न केवल चयापचय को सक्रिय करता है, बल्कि यह आपके दिमाग को स्थिर करने के साथ साथ आपकी इम्यूनिटी को भी बढ़ाने में मदद करता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग, Immunity Badhane ke Liye Yoga, Yoga To Increase Immunity in Hindi, Yoga For Increasing Immunity in Hindi,
Do Vrikshasana Yoga For Increasing Immunity in Hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग में वृक्षासन योग कैसे लाभदायक है? (How is Vrksasana Yoga beneficial in Yoga For Increasing Immunity in Hindi?)

हमारे व्यस्त दैनिक जीवन के दौरान भी हमे अपनी इम्यूनिटी का ध्यान रखना चाहिए। हालांकि, जब हम इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग का अभ्यास करते हैं, तो वृक्षासन हमें संतुलन की स्थिति प्राप्त करने में मदद करता है।

यह योग हमारे शरीर को पूर्णतया शांत करता है और ट्री पोज़ या वृक्षासन इम्यूनिटी बढ़ाने और मन और तन को शांत करने के लिए सबसे अच्छे योग में से एक है।

वृक्षासन योग करने की सही विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें- वृक्षासन योग

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग करते समय क्या सावधानियां बरतनी चाहिए (What Precautions Should Be Taken While Doing Yoga To Increase Immunity in Hindi):

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग सभी लोगो को अत्यधिक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। लेकिन विभिन्न योग आसनों को करते समय सावधानी बरतना भी उतना ही आवश्यक है। यहां कुछ बिंदु दिए गए हैं, जिन्हें आपको इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगकरते समय याद रखना चाहिए:

  • इन अभ्यासों को अकेले करने की कोशिश न करें क्योंकि एक पेशेवर की देखरेख में उन्हें प्रदर्शन करना किसी भी प्रकार की ऐंठन या चोट से बचने में मदद कर सकता है।
  • हमेशा वार्म अप के साथ योग का अभ्यास शुरू करें, योग से पहले अपने शरीर को थोड़ा सा खुलने दें।
  • अपने चिकित्सक से परामर्श करें यदि आप किसी भी प्रकार की असुविधा का अनुभव करते हैं जो व्यायाम के किसी भी रूप में या उसके बाद आपको प्रभावित करता है।
  • सही तरीके से योग आसन और विभिन्न श्वास तकनीकों का अभ्यास करना बहुत महत्वपूर्ण है।
  • आपको योग आसन करने की आदत नहीं डालनी चाहिए, इसके लिए आपको अपनी पहली तिमाही खत्म होने के बाद ही योग करने का अभ्यास करना चाहिए।
  • आपको अधिक समय तक सांस लेने से बचना चाहिए।
  • योग आसनों को संतुलित करते हुए आपको सावधानी बरतनी चाहिए।
  • योग के सत्र से पहले और बाद में आपके शरीर के पोषण और जलयोजन की जरूरतों पर ध्यान देने की सिफारिश की जाती है।
  • आपको योग के लिए आरामदायक कपड़े पहनने चाहिए।
  • आपको ओवर-स्ट्रेचिंग से बचना चाहिए।
  • आपको योग के सत्र के बाद आराम करना चाहिए।
  • अगर आपकी हाल ही मे कोई सर्जरी हुयी है तो इन योगासनो का अभ्यास न करें।

आशा है इन सभी योगासनों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगा (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े-

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगा (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगा (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगा (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योगा (Yoga For Increasing Immunity in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!
×