Vitamin E Ke Fayde, Dosage, Srot, Side Effects in Hindi

Spread the love

विटामिन E के फायदे, खुराक, स्रोत और नुकसान : इस लेख में हमने विटामिन E के बारे में विस्तार रूप से बताया है, जिसमे आपको Vitamin E Ke Fayde, लाभ , स्रोत और नुकसान (Vitamin E Benefits, Dosage, Sources And Side Effects in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

विटामिन E क्या है? : Vitamin E Kya Hai In Hindi

विटामिन E एक वसा में घुलनशील विटामिन और एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है, जो आपकी त्वचा को नुकसान से बचाता है। यह स्वाभाविक रूप से कई खाद्य उत्पादों में पाया जाता है और शरीर आवश्यक पदार्थ के रूप में इसे संग्रहीत करता है। विटामिन E के आठ अलग-अलग यौगिक हैं, जिनमें से सबसे सक्रिय रूप अल्फा-टोकोफ़ेरॉल है। यह आपकी त्वचा की सामान्य लोच को बनाए रखता है।विटामिन E में उपस्थित मुक्त मूलकों के कारण, यह हमें समय से पहले बूढ़ा या झुर्रियों से मुक्त रहने में मदद करता है। त्वचा,बालों एवं शारीरिक रूप से  Vitamin E Ke Fayde / लाभ अनगिनत हैं, जिनमें से कुछ लाभ की आगे के खंडों में चर्चा की जाएगी। यहा निचे हमने Vitamin E Ke Fayde बताये है।

यह भी पढ़े –

Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan

विटामिन E के फायदे : Vitamin E Ke Fayde in Hindi

एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होने के नाते, विटामिन E मुक्त मूलकों द्वारा त्वचा और बालों को नुकसान से बचाने के लिए जाना जाता है, जिसके बारे में ऊपर चर्चा की गई है। त्वचा और बालों के स्वास्थ्य में सुधार के अलावा, विटामिन E के और भी कई लाभ है। यह वायरस, बैक्टीरिया और अन्य रोगजनक जीवों के खिलाफ लड़कर प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ाने में भी प्रभावी है। यह शरीर द्वारा RBC के गठन और अन्य विटामिनों के कार्यों के संचालन में भी मदद करता है। इसके अलावा, इसके एंटीऑक्सिडेंट गुणों के कारण यह विभिन्न अंगों एवं उनकी कार्य प्रणालियों की सुरक्षा व संचालन कार्य करता हैं, जो शारीरिक कार्यों और शरीर के समग्र तंत्र को बढ़ाने में मदद करता है।

  1. युवा दिखने वाली त्वचा के लिए: विटामिन E आपकी त्वचा के लिए एक सही पूरक है। यह आपकी त्वचा पर एक मॉइस्चराइजिंग और ताजगी युक्त प्रभाव डालता है, जो शुष्क त्वचा को क्रीमी बनाने में सहायक है। इसके अलावा, यह मुँहासे के जोखिम को कम करता है और बढ़ती हुई उम्र से त्वचा को बचाता है।
  2. लंबे और स्वस्थ बालों के लिए: आपके बालों की देखभाल की दिनचर्या में विटामिन E का समावेश बालों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में सहायक है। यह प्राकृतिक बालों में उपस्थित प्रोटीन की तरलता को बनाये रखने में मदद करता है और आपको लंबे और चमकदार बाल प्रदान करता है।
  3. आंखों की रोशनी बढ़ाता है: नेत्र विशेषज्ञों के अनुसार, विटामिन E से भरपूर खाद्य पदार्थ, नेत्र, दृष्टि को संरक्षित करने और दृष्टि में सुधार के लिए व्यापक रूप से उपयोग हैं। उनके सुझाव के अनुसार, विटामिन E को आहार में शामिल करने से बढ़ती उम्र के साथ आने वाले आंखों के विकार जैसे मोतियाबिंद और आँखों पर धब्बे आ जाना आदि समस्याओं में बहुत अधिक फायदा पहुँचता हैं।
  4. मनोभ्रंश को रोकता है: शोध अध्ययन से पता चलता है कि विटामिन E की अधिक कमी से  मनोभ्रंश या पागलपन और अल्जाइमर की जोखिमता बढ़ जाती हैं। अतः विटामिन E को अल्जाइमर के मामले में पूरक की तरह उपयोग करने से एक सुखद अनुभूति होती है तथा यह इसके उपचार में  भी काफी मददगार होता हैं।
  5. दिल के दौरे के खतरे को कम करता है: विटामिन E एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में  हृदय की मांसपेशियों को मजबूत करता है और धमनियों में रक्त के थक्के बनने के जोखिम को कम करता है। इसलिए, स्ट्रोक और दिल के दौरे के जोखिम को कम करता है।

तो यहाँ उपर हमने जाना Vitamin E Ke Fayde क्या होते है, चलिए अब बात करते है विटामिन E के स्रोत कौन कौन से होते है।

यह भी जाने –

विटामिन E के खाद्य स्रोत : Vitamin E Ke Srot in Hindi

विटामिन E स्वाभाविक रूप से खाद्य पदार्थों की तरह मौजूद है, जो यहा निचे दर्शाए गए है –

विटामिन ई के फायदे, स्रोत और नुकसान – Vitamin E Ke Fayde, Srot Aur Nuksan, Vitamin E Benefits, Sources, Side Effects in Hindi
Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan

  • हरी पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक, गोभी, ब्रोकोली, शलजम साग, कुछ मिर्च, बीन्स और फलियाँ।
  • एवोकाडो
  • सैलमन मछली।
  • समुद्री भोजन।
  • कम वसा युक्त मांस या सफेद मांस (चिकन या फिश)
  • अंडे।
  • नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, हेज़लनट्स, फ़ाइबरेट्स, पाइन नट्स।
  • बीज जैसे सूरजमुखी के बीज।
  • कुछ वनस्पति तेल जैसे सूरजमुखी तेल, कुसुम तेल, मक्का, सोयाबीन तेल, गेहूं के दानों का तेल।
  • मछली का तेल।
  • कुछ पैक खाद्य सामग्री जैसे फलों का रस या नाश्ते के अनाज। 

इन स्रोतों के अलावा, विटामिन E टैबलेट, सप्लीमेंट और कैप्सूल के रूप में भी उपलब्ध है, जो अक्सर प्रतिरक्षा बढ़ाने या एक आम त्वचा की तरलता को बनाये रखने में उपयोग किया जाता है।

प्रति दिन कितना विटामिन E लेना चाहिए? : Daily Vitamin E Kitna Lena Chahiye in Hindi?

जब आप अब जन गए है की Vitamin E Ke Fayde हमारे लिए कितने महत्वपूर्ण, तो चलिए अब जानते है की हमे प्रतिदिन विटामिन E की मात्रा कितनी लेनी चाहिए।

यहा निचे 14 वर्ष या इससे अधिक आयु के व्यक्तियों के लिए विटामिन E की अनुशंसित दैनिक सेवन की मात्रा बताई गयी है –

अल्फा-टोकोफेरॉल की 15 मिलीग्राम प्रतिदिन है, जो प्राकृतिक स्रोतों से 22 आईयू या सिंथेटिक स्रोतों से 33 आईयू के बराबर है। हालांकि विटामिन E की कमी के मामले में, प्रति दिन 60-75 IU के बराबर (1 IU जोकि 0.9 मिलीग्राम टोकोफेरॉल के बराबर) की मात्रा का सुझाव दिया जाता है।प्राकृतिक रूप से विटामिन E के आहार स्रोत उपर वर्णित किये गये हैं, जो बिल्कुल सुरक्षित और कारगर है।विटामिन E की गोलियों और सप्लीमेंट के रूप में प्रयोग आने वाले सिंथेटिक डेरिवेटिव को उपभोग करने से पहले चिकित्सक का परामर्श अवश्य लेना चाहिए।

यदि आप अन्य स्वास्थ्य उद्देश्यों के लिए विटामिन E का सेवन कर रहे हैं, तो आपको इस विटामिन के सेवन से पहले और उसके दौरान अपने चिकित्सक की सलाह का पालन करने की सख्त सलाह दी जाती है, क्योंकि अत्यधिक खुराक उम्र, वजन, ऊंचाई, लिंग और अन्य कारकों पर निर्भर करता है, इसके अलावा विटामिन E का किस प्रकार से तथा कितनी मात्रा में सेवन करें, इसके लिए नीचे  एक मार्गदर्शन तालिका है।

आयु पुरुषों के लिए  महिलाओं के लिए
6 महीने तक4 मिग्रा4 मिग्रा
7 महीने से 1 साल तक5 मिग्रा5 मिग्रा
1 से 3 साल6 मिग्रा6 मिग्रा
4 से 8 साल7 मिग्रा7 मिग्रा
9 से 13 साल11 मिग्रा11 मिग्रा
14 साल और उससे आगे15 मिग्रा15 मिग्रा
उम्र के हिसाब से विटामिन E की मात्रा (Vitamin E Ke Fayde in Hindi)

महिलाओं के लिए उपरोक्त मात्रा के अलावा, स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अतिरिक्त विटामिन E लेना चाहिए। स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए विटामिन ई की सिफारिश मात्रा दैनिक सेवन के रुप में 19 मिलीग्राम है।

विटामिन E के दुष्प्रभाव : Vitamin E Ke Nuksan Aur Side Effects in Hindi

दैनिक रूप से अनुशंसित खुराक में विटामिन E लेना आमतौर पर सुरक्षित है, लेकिन उच्च खुराक के निम्नलिखित दुष्प्रभाव हो सकते हैं:

  • जी मिचलाना
  • थकान
  • दस्त
  • सरदर्द
  • धुंधली दृष्टि
  • खून बहना
  • हडबडाहट
  • कमजोर हड्डियाँ
  • पेट में ऐंठन

उम्मीद है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की Vitamin E Ke Fayde, स्रोत और नुकसान क्या होते है

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan (विटामिन E के फायदे, स्रोत और नुकसान) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan (विटामिन E के फायदे, स्रोत और नुकसान) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan (विटामिन E के फायदे, स्रोत और नुकसान) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी Vitamin E Ke Fayde, Srot aur Nuksan (विटामिन E के फायदे, स्रोत और नुकसान) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a Comment