विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान [7 Amazing Benefits Of Vitamin D in Hindi]

Spread the love

विटामिन D के फायदे, खुराक, स्रोत और नुकसान : इस लेख में हमने विटामिन D के बारे में विस्तार रूप से बताया है, जिसमे आपको विटामिन D के फायदे, खुराक, स्रोत और नुकसान (Vitamin D Benefits, Dosage, Sources And Side Effects in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

विटामिन D क्या है? : What Is Vitamin D in Hindi?

विटामिन D एक सूर्य की रोशनी से प्राप्त तथा वसा में घुलनशील विटामिन है। सूरज की रोशनी के संपर्क में शरीर की कोशिकाओं द्वारा उत्पादित एक स्टेरॉयड इसे विटामिन डी में परिवर्तित करता हैं।वैकल्पिक रूप से भी हम विटामिन D की खुराक ले सकते हैं, लेकिन प्रत्यक्ष रुप से सूरज की रोशनी इसका प्रचुर मात्रा में प्राप्त किया जाने वाला स्रोत है। विटामिन D कुछ खाद्य स्रोतों से भी प्राप्त होता है, जैसे दूध या अंडे, आदि लेकिन ये सब भी हमारी हड्डी और समग्र स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नहीं है। अब, यह कैसे पता चलेगा कि हमें पर्याप्त धूप मिल रही है और यह धूप हमारे शरीर द्वारा विटामिन D में परिवर्तित हो रही है? आईए पहले इसकी और जानकारी लेते हैं-

यहाँ निचे हमने Vitamin D Ke Fayde विस्तार रूप से बताये है, जो आपको जरुर जानना चाहिए –

विटामिन D के फायदे और लाभ : Vitamin D Benefits in Hindi

विटामिन D हमारे लिए क्यों आवश्यक है, और यह हमारे शरीर के कार्यों को कैसे प्रभावित करता है।

  • विटामिन D के फायदे हड्डियों को मजबूत बनाते है : शरीर में फॉस्फोरस और कैल्शियम के अवशोषण के लिए विटामिन D आवश्यक होता है। ये दोनों ही तत्व हड्डियों की मूल संरचना बनाते हैं। विटामिन D की कमी से हड्डियां कमजोर हो सकती हैं जिससे चोटिल होने पर फ्रैक्चर होने का खतरा हो भी हो सकता हैं।
  • विटामिन D के फायदे बच्चों के लिए : विटामिन D शिशुओं और बच्चों में उनकी हड्डियों की मजबूती और उचित विकास के लिए महत्वपूर्ण है। इस विटामिन की कमी से बच्चों में रिकेट्स (हड्डियों में विकृति) रोग हो सकता है। सप्लीमेंट के रुप में 2000 IU विटामिन D के सेवन (लेकिन चिकित्सक की सलाह से) से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है, जोकि अस्थमा के प्रबंधन में मदद करती है। (यह भी जानिए – Plasma Therapy Kya Hai? [What Is Plasma Therapy in Hindi])
  • विटामिन D के फायदे महिलाओं के लिए : रजोनिवृत्ति (जब महिलाओं में मासिक धर्म चक्र पूरी तरह बंद हो जाता हैं) के लक्षणों में सुधार और महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस (वह स्थिति जिसमें हड्डियाँ  नाजुक और कमजोर हो जाती हैं।) के खतरे को कम करने के लिए विटामिन D पूरकता का सुझाव दिया जाता है।
  • विटामिन D के फायदे दांतों को मजबूत करते है : शोध के प्रमाण बताते हैं कि विटामिन D सप्लीमेंट बच्चों और वयस्कों दोनों में दंत क्षय के खतरे को कम करता है। यह दांतों के पुनर्वितरण और दांतों की सड़न को रोकने में भी मदद करता है।
  • मांसपेशियों की ताकत में सुधार में विटामिन D के फायदे: शरीर में कैल्शियम के स्तर को विनियमित करके, मांसपेशियों की ताकत और उन्हें बेहतर बनाने में विटामिन D महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके कारण शरीर की शक्ति और बल पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  • विटामिन D के फायदे वजन कम करने में सहायक है: विटामिन D से भरपूर खाद्य पदार्थ, भूख पर अंकुश लगाकर वजन कम करने में मददगार साबित होते हैं। यह व्यायाम और शरीर के आकार को बेहतर बनाने एवं थकान को कम करता है, जिससे वजन घटाने को मदद मिलती हैं।

तो यहाँ आपने जाना Vitamin D Ke Fayde क्या होते है, चलिए अब जानते है विटामिन D के स्रोत कौन कौन से होते है-

यह भी पढ़े –

विटामिन D के स्रोत : Vitamin D Sources in Hindi

विटामिन D का सबसे प्राकृतिक स्रोत सूरज की रोशनी है, खासकर यूवी-बी किरणें। सूर्य की इन किरणों का त्वचा कोशिकाएं (एपिडर्मिस) के द्वारा प्रकाश संश्लेषण (फोटोलिसिस) की प्रक्रिया के माध्यम से  विटामिन D में परिवर्तित किया जाता हैं। इस प्रक्रिया में प्रो-विटामिन D3 से प्री-विटामिन D3 और बाद में  प्रेरित तापीय समावयवीकरण से विटामिन D3 का निर्माण होता है, जो भंडारण के लिए शरीर की कोशिकाओं और लीवर में पहुंचाया जाता है।

विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान - Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan, Vitamin D Benefits, Sources and Side Effects in Hindi
विटामिन D के स्रोत : Sources Of Vitamin D in Hindi

विटामिन D के अन्य स्रोत हैं:

  • पत्ता गोभी
  • निम्बू
  • मुली
  • माल्टा
  • मशरूम
  • शलजम
  • टमाटर
  • अंडे की जर्दी
  • ट्यूना, हेरिंग और सालमन जैसी मछलियां
  • पनीर
  • बीफ 
  • कॉड लिवर तेल
  • कस्तूरी
  • झींगा
  • दूध, सोया दूध और उनके उत्पाद।
  • अनाज और दलिया जैसे कुछ पैक खाद्य पदार्थ।
  • विटामिन D की खुराक और गोलियाँ।

यह भी जाने –

विटामिन D की खुराक और कमी : Vitamin D Dosage in Hindi

विटामिन D की खुराक आपके शरीर की जरूरतों और आवश्यकताओं पर निर्भर करती है, और लिंग, आयु, चिकित्सा स्थितियों और क्षेत्र/भौगोलिक स्थिति के अनुसार भिन्न होती है। हमारे देश में सूर्य के प्रकाश की अच्छी उपलब्धता के बावजूद, भारतीय अक्सर विटामिन D के निम्न स्तर से पीड़ित होते हैं क्योंकि त्वचा से खराब अवशोषण के कारण उच्च त्वचा रंजकता और सनस्क्रीन के सामयिक अनुप्रयोग सूर्य की क्षति को रोकते हैं।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार, 400 आईयू की सिफारिश की दैनिक सेवन भारतीयों को धूप से विटामिन D प्राप्त नहीं करने के लिए संकेत दिया जाता है। रक्त में विटामिन D के सामान्य स्तर स्वस्थ व्यक्तियों के लिए 20 नैनोग्राम / मिली लीटर से 50 एनजी / एमएल हैं। 12 एनजी / एमएल से कम मूल्य विटामिन D की कमी का संकेत है।

रक्त में विटामिन के सामान्य स्तर को बनाए रखने के लिए विटामिन D दैनिक, साप्ताहिक, मासिक या त्रैमासिक रूप से प्रशासित किया जा सकता है, जैसा कि 25-हाइड्रॉक्सी विटामिन D रक्त परीक्षण द्वारा परिलक्षित होता है।

 शिशुओ के लिएपुरुषो के लिएमहिलाओ के लिए
जन्म से 6 महीने तक400 IU  
1 से 13 साल600 IU  
14 से 18 साल 600 IU600 IU
19 से 50 साल 600 IU600 IU
  • गर्भवती महिला को 600 IU के करीब विटामिन D लेना चाहिए।
  • शिशु को स्तनपान कराने वाली महिलाओ को 600 IU के करीब विटामिन D लेना चाहिए।

विटामिन D के नुकसान और दुष्प्रभाव : Vitamin D Side Effects in Hindi

लंबे समय तक विटामिन D सप्लीमेंट के कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हैं:

  • थकान
  • सरदर्द
  • भूख में कमी
  • उल्टी
  • जी मिचलाना
  • शुष्क मुँह
  • स्वाद संवेदनाएँ बदलना

बहुत अधिक मात्रा में, विटामिन D हाइपरलकसीमिया (मांसपेशियों में दर्द, भटकाव और भ्रम, मांसपेशियों की कमजोरी और अत्यधिक थकावट और प्यास), गुर्दे की क्षति या गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है।

आशा है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की विटामिन D के फायदे, स्रोत, दैनिक खुराक और नुकसान क्या होते है (Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan in Hindi)।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान (Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान (Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान (Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी विटामिन D के फायदे, स्रोत और नुकसान (Vitamin D Ke Fayde, Srot Aur Nuksan) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a Comment