त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (10 Effective Benefits Of Tratak Meditation in Hindi)

त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और इसके फायदे (Tratak Meditation in Hindi): हमारे जीवन के चार आयाम हैं- कर्म, क्रिया, भक्ति और ज्ञान। आपके द्वारा किया गया कोई भी योग इन चार आयामों के अंतर्गत आता है।

किसी की भावनाओं से जुड़ा भक्ति-योग है, बुद्धि के साथ ज्ञान योग, शरीर से जुड़ा कर्म योग, और योग क्रिया एक प्राचीन ध्यान तकनीक है जो जीवन ऊर्जा से जुड़ी हुई होती है।

योगिक क्रिया क्या हैं (What is Yogic Meditation in Hindi):

‘क्रिया’ शब्द का अर्थ है – गतिशीलता।

अगर हम क्रिया योग की बात करें तो इसे प्राचीन योग पद्धति के रूप में जाना जाता है। 1861 के आसपास, महावीर बाबाजी के शिष्य लाहिड़ी महाशय ने इसे फिर से शुरू किया। क्रिया योग एक प्राचीन ध्यान तकनीक है जो आपकी आध्यात्मिक विकास प्रक्रिया को गति देती है। इसमें जीवन जीने के साथ-साथ अतिरिक्त ध्यान अभ्यास भी शामिल हैं।

सभी योग तकनीक क्रिया योग के साथ काम करती हैं। क्रिया योग आसन प्राणायाम , मुद्रा, बंध चक्र, प्राण, मंत्र, जप आदि का एक मिश्रित अभ्यास है।

योग क्रियाओं को शुद्धी-क्रिया, सौच, सौका, शुद्धि-करण, शत-क्रिया, शत-कर्म के नाम से भी जाना जाता है।

दूसरे शब्दों में, हम कह सकते हैं कि जिस तरह शरीर के बाहरी अंगों की सफाई की जाती है, उसी तरह उनके आंतरिक अंगों की सफाई भी बहुत जरूरी है। प्राचीन योगियों ने पाया कि क्रिया योग एक ऐसा साधन है जिसके माध्यम से शरीर के आंतरिक अंगों में जमा अवांछित पदार्थों को साफ करने और निकालने में मदद मिलती है।

कई योग क्रियाएं निर्धारित की गई हैं, जिनके माध्यम से मानव विकास को गति दी जा सकती है। योगासन और प्राणायाम के बाद व्यक्ति को ध्यान क्रिया भी करनी चाहिए। यद्यपि ध्यान क्रिया करना बहुत कठिन माना जाता है, परन्तु ध्यान क्रियाओं का तत्काल लाभ मिलता है।

योग क्रिया के छह प्रकार हैं जो शरीर को आंतरिक रूप से तैयार करके समझ सकते हैं।

(यह भी पढ़े – विपश्यना मैडिटेशन कैसे करे और फायदे (What is Vipassana Meditation in Hindi))

त्राटक मेडिटेशन क्या है (What is Tratak Meditation in Hindi):

“एक वस्तु या बिंदु पर लगातार ध्यान देने की क्रिया को त्राटक ध्यान किर्या कहा जाता है।” त्राटक मेडिटेशन योगिक ध्यान का एक प्राचीन रूप है। यह दिव्य छिपे हुए शक्तियों को प्राप्त करने के लिए ध्यान की एक बहुत सरल और बहुत ही शक्तिशाली तकनीक है। त्राटक एक ध्यान किर्या है, जहाँ व्यक्ति बैठकर एक ही बिंदु पर लगातार घूरने और ध्यान केंद्रित कर सकता है।

त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे – Tratak Meditation in Hindi - Benefits Of Tratak Meditation in Hindi
त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे – Tratak Meditation in Hindi – Benefits Of Tratak Meditation in Hindi

त्राटक मेडिटेशन के प्रकार (Types Of Tratak Meditation In Hindi):

त्राटक ध्यान के लिए उपयोग की जाने वाली वस्तु के आधार पर कई अलग-अलग प्रकार के त्राटक होते हैं। यहाँ कुछ त्राटक का विवरण दिया गया है-

  • बिंदू त्राटक : सिंगल ब्लैक डॉट पर ध्यान केंद्रित करना।
  • मूर्ति त्राटक : एक मूर्ति पर ध्यान केंद्रित करना।
  • वर्तुल त्राटक : एक वृत्त पर ध्यान केंद्रित करना।
  • वैले त्राटक : एक सर्पिल वलय पर ध्यान केंद्रित करना।
  • ज्योति त्राटक : दिए की लो या कैंडल पर ध्यान केंद्रित करना।
  • सूर्य त्राटक : प्रारंभिक सूर्योदय या सूर्यास्त से ठीक पहले। यह केवल विशेषज्ञ मार्गदर्शन के साथ 5 मिनट से कम समय में किया जाता है।
  • त्रिनेत्र त्राटक : अपनी तीसरी आँख पर ध्यान केंद्रित करना।

(यह भी पढ़े – जानिए मैडिटेशन के फायदे हिंदी में (11 Amazing Benefits Of Meditation in Hindi))

त्राटक मेडिटेशन कैसे करे (Steps To Do Tratak Meditation in Hindi):

त्राटक ध्यान क्रिया एक नेत्र व्यायाम है जो नेत्र रोगों या दृष्टि में सुधार करता है। त्राटक ध्यान क्रिया कैसे करे, इसके लिए कुछ सरल उपाय नीचे बताये गए हैं, जिन्हें आपको जानना चाहिए।

  • चयनित वस्तु पर नजर केंद्रित करके त्राटक ध्यान किर्या का अभ्यास किया जाता है।
  • सबसे पहले, आपको एक आरामदायक स्थिति में बैठने की जरूरत है जैसे कि सुखासन में।
  • अब, कुछ सेकंड के लिए आँखें बंद कर लें।
  • अपनी आँखें खोलें और किसी विशेष वस्तु को लगातार टकटकी लगाए देखते रहे।
  • इसके लिए, आप एक मोमबत्ती को अपनी आंख के समानांतर ऊंचाई पर रख सकते है। और त्राटक क्रिया का अभ्यास लगातार दो से तीन फीट की दूरी पर बैठकर करना चाहिए। (आप अपने देवताओं की फोटो भी रख सकते हैं।)
  • यदि आप अपनी आँखों में जलन महसूस करते हैं या आपकी आँखों में आँसू आ जाते हैं, तो पलक झपकना और अभ्यास करना तुरंत बंद कर दे।
  • उसके बाद, हथेलियों को गर्म करने के लिए उन्हें आपस में अच्छी तरह से रगड़ना चाहिए। गर्म हथेलियों को बंद आँखों पर रखा जाता है।
  • त्राटक ध्यान क्रिया किसी भी समय की जा सकती है। हालांकि यह अनुशंसा की जाती है कि आप इसे सुबह या रात को, दैनिक 20 मिनट के लिए अवश्य करें।

स्वास्थ्य के लिए त्राटक मेडिटेशन के फायदे और लाभ (Benefits Of Tratak Meditation in Hindi):

त्राटक मेडिटेशन एक महत्वपूर्ण नेत्र व्यायाम है जो आंख की मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह दृष्टि, स्मृति और मन को एकाग्र करने में सुधार करता है। यहाँ निचे हमने त्राटक मेडिटेशन के फायदे विस्तार में बताये है, जिन्हें आप नही जानते होंगे-

  • मानसिक तनाव से छुटकारा दिलाता है।
  • सिरदर्द, माइग्रेन आदि से छुटकारा दिलाता है।
  • अनिद्रा या नींद की कठिनाइयों का अंत करता है।
  • नकारात्मक विचारों से मुक्ति दिलाता है।
  • इसे नियमित करने से एकाग्रता बढ़ती है।
  • गुस्से को कम करने में मदद करता है।
  • आंखों की रोशनी तेज करता है।
  • इसके अभ्यास से मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ती है।

(यह भी पढ़े – गोमूत्र के फायदे और नुकसान [10 Effective Benefits Of Cow Urine (Gomutra) in Hindi])

त्राटक मेडिटेशन करने का तरीका (Right Technique To Do Tratak Meditation in Hindi):

त्राटक मेडिटेशन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां (Precautions To Be Taken During Trataka Meditation in Hindi):

  • एक अंधेरे और शांत कमरे का चयन करें।
  • आंखों की समस्या होने पर इसे कभी न करें।
  • दीपक का प्रकाश निरंतर और आंखों के स्तर पर होना चाहिए।

आशा है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (Tratak Meditation in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (Tratak Meditation in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (Tratak Meditation in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (Tratak Meditation in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी त्राटक मेडिटेशन कैसे करे और फायदे (Tratak Meditation in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!