हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम [10 Effective Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi]

Show Some Love By Sharing!

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) : हर कोई एक स्वस्थ जीवन शैली जीना चाहता है लेकिन वर्तमान समय में हर कोई काम में इतना व्यस्त है कि उनके लिये खुद के लिए भी समय निकालना मुश्किल हो गया है, जिसके कारण शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की परेशानी बढ़ने लगती है।

इसीलिए देश से विदेश तक आज हर कोई स्वास्थ्य और सेहत के लिए योगासन के लाभों को देखकर, योग को सक्रिय रूप से अपनी दिनचर्या में शामिल कर रहे हैं। यह तथ्य अब किसी से छिपा नहीं है, की योग कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं से राहत दिला सकता है। विज्ञान भी अब इसकी पुष्टि करता है की योग के जरिए शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहा जा सकता है।

योग में ऐसे कई आसन हैं, जिनके कई फायदे हैं, योग की मदद से आप जीवन भर युवा और स्वस्थ रह सकते हैं। योग आपको कई तरह से स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है। इसीलिए आज हम आपके लिये प्राणायाम एंड योगा फॉर गुड हेल्थ [Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi] यह लेख लाए है, यहां आपको स्वस्थ जीवन शैली के लिए योगासन (Yoga For Healthy Lifestyle in hindi) से संबंधित सभी जानकारी मिलेगी। इस लेख में आप जानेंगे कि वो कौन-कौनसे हेल्दी लाइफ के लिए योग है औरस्वस्थ जीवन शैली के लिए योगासन कैसे मददगार हो सकता है।

हेल्दी लाइफ के लिए योग के नाम [Names Of Yoga for Good Health in Hindi]:

1. वज्रासन योग [(Thunderbolt Pose) Vajrasana Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में वज्रासन योग कैसे लाभदायक है (How Vajrasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

वज्रासन योग हमारे मन को शांत और स्थिर रखने में मदद करता है, पाचन अम्लता और गैस के गठन को ठीक करता है, घुटने के दर्द को दूर करने में मदद करता है,जांघ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, पीठ दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है, यौन अंगों को मजबूत बनाता है, मूत्र समस्याओं के उपचार में मदद करता है, मोटापा कम करने में मदद करता है और मासिक धर्म की ऐंठन को कम करने में भी मदद करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में वज्रासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Vajrasana (Thunderbolt Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. जमीन पर शरीर को सीधा करके घुटनों के बल बैठ जाएं।
  2. अपने पैरों के घुटनों को मोड़ें ओर निचले पैरों को पीछे की ओर खींचते हुए उन्हें एक साथ रखें।
  3. अब इस स्थति में आपके पैर की बड़ी उंगलियां ओर अंगूठे एक दूसरे से मिलने चाहिए और दोनों पैर की एड़ियां अलग-अलग होनी चाहिए ।
  4. अब घुटनों को मोड़कर इस तरह से बैठ जाए कि आपके नितंब (Hips) दोनों एड़ियों के बीच में आ जाएं, दोनों पैरों के अंगूठे आपस में मिले रहें और एड़ियों में अंतर भी बना रहे।
  5. अपने सिर और कमर को सीधा रखें।
  6. अब अपने दोनों हाथों को अपने घुटनों पर रखें और दृष्टि बिल्कुल सामने की ओर रखें।
  7. अपनी आंखें बंद कर लें और दिमाग को शांत रखें, और अपनी सांसों की गति पर ध्यान केंद्रित करे, इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप कैसे सांस ले रहे हो सांस आने और जाने पर बराबर ध्यान बनाए रखें।
  8. यदि आप योग करना शुरू कर रहे हैं, तो इसे शुरू में केवल 5–10 मिनट के लिए करें।
  9. इसके बाद इसमें अभ्यस्त हो जाने पर अपने समय को बढ़ाकर 20 से 30 मिनट तक कर सकते हैं।

(यह भी पढ़े – पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन [3 Effective Patanjali Medicine For Piles in Hindi])

2. वृक्षासन योग [(Tree Pose) Vrikshasana Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में वृक्षासन योग कैसे लाभदायक है (How Vrikshasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

वृक्षासन योग पैरों को मजबूत करता है, और कूल्हों को खोलता है, यह आपके न्यूरोमस्कुलर समन्वय में सुधार करता है, यह संतुलन और धीरज बनाये रखने में मदद करता है, इससे सतर्कता और एकाग्रता में सुधार होता है और यह उन लोगों की मदद कर सकता है जो कटिस्नायुशूल (पैर में तंत्रिका दर्द) से पीड़ित हैं। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में वृक्षासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Vrikshasana (Tree Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. सबसे पहले अपने दोनों हाथों को पीछे रखें और सीधे खड़े हो जाएं।
  2. उसके बाद, अपने दाहिने पैर को उठाएं और बाएं पैर के घुटने के ऊपर रखें।
  3. उसके बाद, सांस ले और साँस छोड़ते हुए अब प्रार्थना की मुद्रा में दोनों हाथों को ऊपर की ओर ले जाएं।
  4. सुनिश्चित करें कि आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी हो। साथ ही, आपके शरीर को तना हुआ होना चाहिए, और हर बार जब आप सांस छोड़ते हैं तब एक गहरी सांस लेनी चाहिए।
  5. इस मुद्रा में कम से कम 30 सेकंड से 1 मिनट तक बने रहने की कोशिश करे।
  6. अब इसी पूरी प्रक्रिया को अपने दूसरे पैर से दोहराए।

(यह भी पढ़े – एकाग्रता बढ़ाने के लिए योगा और प्राणायाम [10 Effective Pranayama And Yoga for Mind Concentration in Hindi])

3. गरुडासन योग [(Eagle Pose) Garudasana Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में गरुडासन योग कैसे लाभदायक है (How Garudasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

गरुडासन योग कूल्हों, जांघों, कंधों और पीठ के ऊपरी हिस्से में अच्छा स्ट्रेच प्रदान करता है। संतुलन में सुधार करता है, पिंडलियों को मजबूत करता है, कटिस्नायुशूल और गठिया को कम करने में मदद करता है और पैरों और कूल्हों को ढीला करता है, जिससे वे अधिक लचीले हो जाते हैं। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में गरुडासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Garudasana (Eagle Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. सबसे पहले, आपको ताड़ासन की तरह खड़ा होना है।
  2. फिर दाहिने घुटने को धीरे से मोड़ें और फिर बाएं पैर को इस तरह से दाहिने पैर के चारों ओर लपेटें कि घुटने वास्तव में एक-दूसरे के ऊपर टिके हों।
  3. अब यह देखे की बाएं पैर को दाहिने पैर के पिंडली को छू रहे हो।
  4. फिर दोनों हाथो को आगे की ओर उठाये।
  5. अब दाएं हाथ को बाईं हाथ की बाह पर लपेटें। सुनिश्चित करें कि कोहनी वास्तव में 90 डिग्री के कोण पर मुड़ी हुई हो।
  6. फिर दोनो हाथो की हथेलियों को आपस में जोड़े।
  7. इस विशेष मुद्रा में संतुलन बनाने की कोशिश करे।
  8. अब 40-60sec तक इस मुद्रा में बने रहे और धीरे-धीरे गहरी सांस लें। अपनी तीसरी आंख पर ध्यान केंद्रित करें और फिर अपनी सभी नकारात्मक भावनाओं को त्याग दें।
  9. अब इस मुद्रा शुरु से जारी करें और फिर इस मुद्रा को दोहराते हुए दूसरी ओर भी इसका अभ्यास करे।

(यह भी पढ़े – एकाग्रता बढ़ाने के लिए योगा और प्राणायाम [10 Effective Pranayama And Yoga for Mind Concentration in Hindi])

4. धनुरासन योग [(Bow Pose) Dhanurasana Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में धनुरासन योग कैसे लाभदायक है (How Dhanurasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

धनुरासन योग पेट की चर्बी तेजी से कम करने में मदद करता है। यह टखनों, जांघों, कमर, छाती और पेट के अंगों और रीढ़ की हड्डी को मजबूत करता है। धनुष मुद्रा रीढ़, एब्डोमिनल, हिप फ्लेक्सर्स, बाइसेप्स और पेक्स के लिए एक शानदार खिंचाव है। यह ऑल-अराउंड, शानदार टोटल बॉडी-ओपनिंग बैकबेंड है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में धनुरासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Dhanurasana (Bow Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. धनुरासन करने के लिए, सबसे पहले, एक साफ हवादार जगह चुनें।
  2. उसके बाद अपनी योग चटाई बिछाकर पेट के बल लेट जाएं। अपने नितंबों के बीच गैप रखें और दोनों हाथों को सीधा रखें।
  3. अपने घुटनों को मोड़ते हुए सांस छोड़ें, अपनी एड़ी को अपने नितंबों के जितना करीब लाएं। और धनुषाकार होते हुए, अपनी एड़ियों को अपने हाथों से पकड़ें।
  4. अब अपनी छाती को सांस लेते हुए जमीन से ऊपर ले जाएं।
  5. अब पैरों को थोड़ा और ऊपर उठाएं और सांस लेते हुए अपनी एड़ियों को हाथ से खींचने की कोशिश करें।
  6. इस दौरान, आपके घुटने आपके कूल्हों की चौड़ाई से अधिक चौड़े नहीं होते हैं।
  7. एड़ियों को खींचते समय पेट के वजन का संतुलन बनाए रखें और सिर को बिल्कुल सीधा रखें।
  8. आपके शरीर के लचीलेपन के आधार पर, आप अपने शरीर को आगे बढ़ा सकते हैं।
  9. इस धनुषाकार मुद्रा का प्रदर्शन करते हुए सांस लेने और छोड़ने पर ध्यान दें।
  10. जब तक संभव हो इस स्थिति में रहें।
  11. प्रारंभिक अवस्था में वापस आने के लिए, धीरे-धीरे शरीर की मांसपेशियों को ढीला छोड़े और अपनी नितंबों और जांघों को जमीन की ओर लाएं।
  12. अब शरीर के सामने के हिस्से को जमीन पर लाएं।
  13. इसके बाद, दोनों हाथों से एड़ी को छोड़ दें और अपनी प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं।

(यह भी पढ़े – डिप्रेशन के लिए योग और प्राणायाम [8 Effective Pranayama or Yoga for Depression in Hindi])

5. अधोमुखश्वानासन योग [(Downward-Facing Dog Pose) Adho Mukha Svanasana Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में अधोमुखश्वानासन योग कैसे लाभदायक है (How Adho Mukha Svanasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

अधोमुखश्वानासन योग पूरे शरीर को मजबूत करने में फायदेमंद है विशेष रूप से हाथ, पैर और कंधे, इसका नियमित अभ्यास मन को शांत करता है और सिरदर्द, अनिद्रा और थकान से राहत देता है, शरीर की मांसपेशियों को टोन करता है और वजन घटाने में मदद करता है और मासिक धर्म के लक्षणों जैसे कि मासिक धर्म के दर्द और परेशानी का इलाज करने में भी मदद करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में अधोमुखश्वानासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Adho Mukha Svanasana (Downward-Facing Dog Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. सबसे एक योग मैट लेकर उस पर खड़े हो जाएँ।
  2. अब अपने पेरों को सीधा रखते हुए दोनों हाथों को आगे करते हुए नीचे जमीन की ओर झुक जाएँ।
  3. इस स्थति में आपका शरीर एक मेज की आकृति के समान दिखाई देगा।
  4. अब धीरे- धीरे आपनी साँस को बाहर निकालते हुए कूल्हों या नितम्बो (हिप्स) को ऊपर छत की ओर उठाना है।
  5. आपको जितना हो सके उतना अपने हाथों और पारो को सीधा रखना है और अपने सिर को सीधे नीचे की और रखना है।
  6. यह आसान करते हुए आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि शरीर उल्टे “V” आकृति के समान बनता हो।
  7. अब आपको अपनी हथेलियों को जमीन पर सीधा रखते हुए और कंधों से दूर रखते हुए, अपने पैरों को हथेलियों के समानांतर रखना है।
  8. इसके बाद, आप अपने दोनों हाथों को एक साथ जमीन में दबाते हुए गर्दन को लंबा खींचने की कोशिश करें।
  9. ध्यान रखे की आपके कान आपकी बाहों के अंदरुनी हिस्से को स्पर्स करते हों।
  10. कूल्हों को जितना संभव हो ऊपर की ओर उठाएं।
  11. अपनी आंखों को नाभि पर केंद्रित करने का प्रयास करें।
  12. अब धीरे- धीरे गहरी सांस लेते हुए कुछ सेकंड तक इस स्थिति में रहें और फिर अपने घुटनों को मोड़कर वापस मेज की स्थिति में लौटें। आपको इस क्रिया को 1 मिनट तक दोहराना है।

6. विपरीत करनी योग [(Viparita Karani (Legs Up The Wall Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में विपरीत करनी योग कैसे लाभदायक है (How Viparita Karani Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

विपरीत करनी योग एक गहरी आराम मुद्रा है जो तंत्रिका तंत्र को शांत करती है, जो बदले में, कम तनाव और चिंता में मदद करती है, यह हैमस्ट्रिंग और पीठ के निचले हिस्से को फैलाता है, पीठ में तनाव से राहत देता है और यह पाचन और नींद को बेहतर बनाने में भी मदद करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में विपरीत करनी योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Viparita Karani (Legs Up The Wall Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. अपनी योग चटाई बिछा कर उस पर लेट जाये। अगर आप सहज महसूस न करे तो आप अपनी कमर पर कम्बल या तकिया लगा सकते है और अब सामान्य रूप से सांस लें।
  2. अब धीरे धीरे अपनी टांगो को ऊपर की ओर उठाये और जब टांगो से 45° कोण बन जाये तब अपनी कमर को हाथो से सहारा देते हुए अपने हिप्स को ऊपर उठाए जब तक वह एकदम सीधी ऊपर नही हो जाती।
  3. यह सुनिश्चित करे की आपकी कोहनियाँ जमीन पर हो और आपकी कमर को अच्छे से सहारा दे रहे हो।
  4. अपने पैरों को अपेक्षाकृत मजबूत रखें, बस उन्हें जगह में लंबवत रखने की कोशिश करे।
  5. गहरी सांस लेते रहें और अपनी सहूलियत के अनुसार इस स्थिति में रहें। शुरुआत में 30 – 60 सेकंड तक करें। स्वास्थ्य लाभ के लिए इस योग आसन का अभ्यास हर दिन 3 से 5 मिनट पर्याप्त है। हालांकि आध्यात्मिक लाभ के लिए योगी 15 मिनट तक कर सकते हैं।

(यह भी पढ़े – नॉर्मल डिलीवरी के लिए योग – Normal Delivery Ke Liye Yoga (10 Effective Yoga for Normal Delivery in Hindi))

7. उष्ट्रासन योग [Ustrasana (Camel Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में उष्ट्रासन योग कैसे लाभदायक है (How Ustrasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

उष्ट्रासन योग जांघों पर वसा कम करता है, कंधों और पीठ को अच्छा स्ट्रेच देकर मजबूत करता है, पेट क्षेत्र का विस्तार करता है, पाचन और उन्मूलन में सुधार करता है, मुद्रा में सुधार करता है, छाती को खोलता है, श्वसन में सुधार करता है, कशेरुक को ढीला करता है, पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत दिलाता है, जांघों और भुजाओं को मजबूत बनाता है, लचीलेपन में सुधार करता है, खासकर रीढ़ में और अंडाशय में तनाव को दूर करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में उष्ट्रासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Ustrasana (Camel Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. उष्ट्रासन योग शुरू करने के लिए, पहले वज्रासन स्थिति में एक योग चटाई पर बैठें।
  2. अब घुटने मोड़कर खड़े हो जाएं, अपने हाथों को कूल्हों पर रखें, और एक गहरी साँस ले।
  3. यह सुनिश्चित करे की आपके घुटने सीधे होने चाहिए, पैरों के तलवों को फर्श से दबाएं और पैरों की एडिया ऊपर की ओर होनी चाहिए।
  4. साँस छोड़ते हुए, अपने कंधे को पीछे की ओर झुकाते हुए आगे की ओर छाती को उठाएं।
  5. मुद्रा की पूरी विविधता में पहुंचने के लिए, अपनी पीठ को ध्यान से बेंड करें और अपनी एड़ी को छूने की कोशिश करें।
  6. यदि आप इस मुद्रा में अच्छा महसूस करते हैं, तब ही इस मुद्रा में 2 साँसों की गिनती तक बने रहे, एवम अपनी गर्दन को तनाव या फ्लेक्स न करें और न ही गले को कसें।
  7. 30 सेकंड से 1 मिनट तक इस मुद्रा को करें।
  8. सांस छोड़ें और धीरे-धीरे अपनी प्रारंभिक स्थिति / मुद्रा में वापस आएं। अपने हाथों को कूल्हों पर रखें और धीरे-धीरे घुटने मोड़कर खड़े होने की स्थिति में आएं।

(यह भी पढ़े – बालों के लिए योगा – Balo Ke Liye Yoga [9 Effective Yoga For Hair Fall in Hindi])

8. भुजंगासन योग [Bhujangasana (Cobra Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में भुजंगासन योग कैसे लाभदायक है (How Bhujangasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

भुजंगासन योग रीढ़ को मजबूत बनाता है, छाती, फेफड़े, कंधे और पेट में खिंचाव देता है, नितंबों को टोन करने में मदद करता है, पेट के अंगों को उत्तेजित करता है, तनाव और थकान दूर करने में मदद करता है, दिल और फेफड़ों को खोलता है. कटिस्नायुशूल को दूर करने में मदद करता है, अस्थमा के लिए अच्छा चिकित्सीय घरेलू उपाय है, पुरुष और महिला प्रजनन प्रणाली में सुधार होता है, इससे अनियमित मासिक चक्र की समस्या भी ठीक हो जाती है, और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने से आपके चेहरे को एक रौनक मिलती है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में भुजंगासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Bhujangasana (Cobra Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. सबसे पहले योग मेट बिछा कर उस पर पेट के बल लेट जाएं।
  2. अपने पैरों को उंगलियों के बल टिका लें या पैर के तलवो को उपर छत की ओर करके रखें।
  3. अपने पैरों को एकसाथ सीधा और खुला रखें।
  4. हाथों की हथेलियों को छाती के पास कंधों या सिर के दोनों तरफ रखें।
  5. अपने मस्तक या माथे को जमीन पर सीधा रखें।
  6. अब आपको एक गहरी सांस लेते हुए, अपने ऊपरी शरीर को ऊपर की ओर उठाना है।
  7. आपको पहले सिर, फिर छाती और अंत में नाभि तक के क्षेत्र को ऊपर उठाना होगा।
  8. इसके लिए अपनी हाथों की हथेलियों को अपने कंधों के बराबर रखते हुए, हाथों से जमीन की ओर दबाव डाल कर नाभि तक के शरीर को ऊपर उठाने का प्रयास करें।
  9. अब दोनों हाथों को सीधा करें और गर्दन उठाते हुए आकाश की ओर देखने का प्रयास करें और 15-30 सेकेंड के लिए इसी स्थिति में रहें।
  10. अपने शरीर का भार दोनों हाथों पर बराबर बना कर रखें और सामान्य रूप से सांस लेते रहें।
  11. ध्यान रहे की आपके पेट या नाभि से नीचे शरीर का सारा हिस्सा जमीन से नहीं उठना चाहिए।
  12. आराम से पीठ को जितनी मोड़ सकें उतनी ही मोड़ें, जबरदस्ती या क्षमता से ज़्यादा जोर ना लगाए।
  13. अब धीरे-धीरे अपनी सांस छोड़ें और अपनी प्रारंभिक अवस्था में लौट आएं।

(यह भी पढ़े – पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम PCOS के लिए योगा (10 Effective Yoga For PCOS in Hindi))

9. कपालभाति प्राणायाम [Kapalabhati Pranayama (The Breath of Fire) Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में कपालभाति प्राणायाम कैसे लाभदायक है (How Kapalabhati Pranayama is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

कपालभाति प्राणायाम पाचन और एसिडिटी और गैस संबंधी समस्याओं को दूर करता है, पेट की चर्बी कम करने भी फायदेमंद होता है, यह प्राणायाम फेफड़ों को भी मजबूत करता है और इनकी क्षमता को बढ़ाता है। इसका अभ्यास करने से दिल और फेफड़ों में रुकावटों को दूर करने में मदद मिलती है, इससे शरीर के विभिन्न हिस्सों में रक्त की आपूर्ति भी बढ़ती है, यह शरीर को सक्रिय करता है और सुस्ती को दूर करता है और यह मस्तिष्क की कोशिकाओं को सक्रिय करता है और याददाश्त और एकाग्रता शक्ति में सुधार करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में कपालभाति प्राणायाम कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Kapalabhati Pranayama (The Breath of Fire) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. सर्वप्रथम योग चटाई पर आराम से बैठ जाये।
  2. अब हाथों को घुटनों पर ज्ञान मुद्रा में रखें और सिर एवम रीड की हड्डी को सीधा रखे।
  3. अब अपनी आँखों को बंद कर लें और सम्पूर्ण शरीर को ढीला छोड़ दें।
  4. अब दोनों नाक के गुहाओं से गहरी सांस लें और पेट की मांसपेशियों को सिकोड़ते हुए सांस छोड़ें। लेकिन सांस छोड़ते समय बहुत ज्यादा जोर न लगा दें, सावधान रहें।
  5. अब जब आप फिर से सांस ले, तो पेट की मांसपेशियों पर बिना किसी प्रयास के सांस लेवे। एवं आराम से सांस लें, इसमें कोई जोर न करें।
  6. शुरू में कम से कम दस बार सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया करें।
  7. इस किर्या को 4 से 5 बार दोहराएं।

(यह भी पढ़े – गैस के लिए योगा [Gas ke Liye Yoga (12 Effective Yoga For Gas Problem in Hindi])

10. बालासन योग [Balasana (Child Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

हेल्दी लाइफ के लिए योग में बालासन योग कैसे लाभदायक है (How Balasana Yoga is beneficial in Yoga For Good Health in Hindi):

बालासन योग थकान दूर करने में मदद करता है, यह चिंता और तनाव को भी कम करने के लिए एक महान मुद्रा है, यह मुद्रा रीढ़ को लंबा करने में मदद करती है, यह धीरे से टखनों, कूल्हों और कंधों को भी फैलाता है, पाचन और उन्मूलन को उत्तेजित करता है और रीढ़ को खींचकर, यह गर्दन और पीठ के दर्द को कम करने में भी मदद करता है। तो आइये जानते है की हेल्दी लाइफ के लिए योग में बालासन योग कैसे किया जाता है?:

हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)
हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi)

कैसे करें [Steps To Do Balasana (Child Pose) Yoga For Good Health in Hindi]:

  1. बालासन/बच्चे की मुद्रा करने के लिए अपनी योग चटाई पर बैठें।
  2. वज्रासन में अपने घुटनों के बल बैठ जाएं। इस मुद्रा में, अपने हाथो को जांघों पर रखे।
  3. अपने पैरों के दोनों घुटनों को एक दूसरे से या थोड़ी दूरी पर एक-दूसरे से चिपका कर रखें और कमर को बिल्कुल सीधा रखें।
  4. अब सांस लें, दोनों हाथों को सीधे सिर से ऊपर उठाएं। हथेलियों को न जोड़ें।
  5. अब सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें। ध्यान रखें कि कूल्हे के जोड़ों को झुकाना है, कमर के जोड़ों को नहीं।
  6. जब तक आपकी हथेलियां जमीन को न छुएं तब तक आगे झुकते रहें।
  7. अब सिर को जमीन पर ले जाएं।
  8. अब आप जिस मुद्रा में है वह बालासन/बच्चे की मुद्रा हैं, अब पूरे शरीर को रिलैक्स करने दे और फिर एक गहरी सांस लें और उसे छोड़े।
  9. दोनों हाथों की उंगलियां कसकर जोड़ ले। आपको उनके बीच में अपना सिर रखकर उनका सहारा देना होगा।
  10. अब सिर को धीरे-धीरे दोनों हथेलियों के बीच में रखें एवम अपनी सांस को सामान्य रखें।
  11. अब आप 1 से 5 मिनट तक बच्चे की मुद्रा में रह सकते है।
  12. इस आसान से बाहर निकलने के लिए, सबसे पहले, अपनी हथेलियों को कंधे के नीचे लाएं और धीरे-धीरे अपने ऊपरी शरीर को उठाएं और पिछली स्थिति में वापस आ जाएं और आराम से सांस लें। इन सभी क्रियाओं को आराम से करें।

हेल्दी लाइफ के लिए योग करते समय क्या सावधानियां बरतनी चाहिए (What Precautions Should Be Taken While Doing Yoga For Good Health in Hindi):

योग हेल्थ बनाने के लिए अत्यधिक लाभ प्रदान करता है। लेकिन विभिन्न योग आसनों को करते समय सावधानी बरतना भी उतना ही आवश्यक है। यहां कुछ बिंदु दिए गए हैं, जिन्हें आपको हेल्दी लाइफ के लिए योग करते समय याद रखना चाहिए:

  • इन अभ्यासों को अकेले करने की कोशिश न करें क्योंकि एक पेशेवर की देखरेख में उन्हें प्रदर्शन करना किसी भी प्रकार की ऐंठन या चोट से बचने में मदद कर सकता है।
  • हमेशा वार्म अप के साथ योग का अभ्यास शुरू करें, योग से पहले अपने शरीर को थोड़ा सा खुलने दें।
  • अपने चिकित्सक से परामर्श करें यदि आप किसी भी प्रकार की असुविधा का अनुभव करते हैं जो व्यायाम के किसी भी रूप में या उसके बाद आपको प्रभावित करता है।
  • सही तरीके से योग आसन और विभिन्न श्वास तकनीकों का अभ्यास करना बहुत महत्वपूर्ण है।
  • आपको अधिक समय तक सांस लेने से बचना चाहिए।
  • योग आसनों को संतुलित करते हुए आपको सावधानी बरतनी चाहिए।
  • योग के सत्र से पहले और बाद में आपके शरीर के पोषण और जलयोजन की जरूरतों पर ध्यान देने की सिफारिश की जाती है।
  • आपको योग के लिए आरामदायक कपड़े पहनने चाहिए।
  • आपको ओवर-स्ट्रेचिंग से बचना चाहिए।
  • आपको योग के सत्र के बाद आराम करना चाहिए।

आशा है इन सभी योगासनों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम (Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!
×