पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन [3 Effective Patanjali Medicine For Piles in Hindi]

बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) : पाइल्स को बवासीर भी कहा जाता है। पाइल्स एक ऐसी बीमारी है जो बेहद दर्दनाक होती है। गुदा और मलाशय के निचले हिस्से में सूजन होती है। इसके कारण, छोटे या बड़े मस्से गुदा के अंदर या बाहर या किसी एक स्थान पर बन जाते है।

लगभग 60 प्रतिशत लोगों को उनकी उम्र के कुछ चरणों में बवासीर होता है। पाइल्स ट्रीटमेंट के साथ मरीज का सही समय पर इलाज करवाना बहुत जरूरी है। यदि बवासीर का समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो समस्या काफी बढ़ जाती है।

पाइल्स की समस्या को आप अपने जीवनशैली में कुछ बदलाव करके कर सकते है, बवासीर की बीमारी के दौरान जीवनशैली में आपको नियमित रूप से व्यायाम एवं प्राणायाम करना चाहिए। और अधिक देर तक एक ही जगह पर न बैठे। (यह भी पढ़े – बवासीर के लिए योग)

खान-पान में बदलाव, समय समय पर पानी पीते रहना, और कुछ आयुर्वेदिक दवाईयों के साथ आप अपनी पाइल्स की समस्या को रोक सकते है। यहाँ इस लेख में हमने आयुर्वेदिक पतंजली दवाईयों के बारे में बताया है, जिसे आप अपनी पाइल्स की समस्या को दूर कर सकते है। (यह भी पढ़े – Bawasir Me Kya Khana Chahiye Aur Kya Nahi)

तो आइये जानते है पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) कौन-कौन सी होती है?

पाइल्स के लिए आयुर्वेदिक पतंजलि मेडिसिन के नाम (Names Of Patanjali Medicine For Piles in Hindi):

  1. पाइल्स के लिए पतंजलि दिव्य अर्श कल्प वटी दवा (Divya Arshkalp Vati Patanjali Medicine For Piles in Hindi)
  2. पाइल्स के लिए पतंजलि दिव्य अभ्यारिष्ट दवा (Divya Abhyaristh Patanjali Medicine For Piles in Hindi)
  3. पाइल्स के लिए ईसबगोल की भूसी दवा (Isabgol Husk Patanjali Medicine for Piles in Hindi)

(यह भी पढ़े – जानिए 10 दिन में फेस पर ग्लो कैसे लाये? (Face Par Glow Kaise Laye))

1. पतंजलि दिव्य अर्श कल्प वटी (Divya Arshkalp Vati Patanjali Medicine For Piles in Hindi):

पतंजलि दिव्य अर्श कल्प वटी (Divya Arshkalp Vati Patanjali Medicine) पाइल्स, बवासीर और फिस्टुला की समय पर रोकथाम की जाने वाली दवा है। यह हर्बल अर्क के संयोजन से बनाया गया है जो सूजन को ठीक करने और दर्द और परेशानी को शांत करने की क्षमता रखता है। पतंजलि दिव्य अर्श कल्प वटी में रेचक गुण भी होते हैं जो क्रमाकुंचन की गतिविधियों को प्रेरित करते हैं और इस प्रकार आंत्र को दर्द मुक्त बनाते हैं।

यह पाचन में सुधार करता है, गैस गठन और असुविधा को कम करता है। जीवन का आनंद लेने से आपको कब्ज और बवासीर नहीं होने देता। आयुर्वेदिक चिकित्सा के साथ सुखदायक और स्थायी वसूली के लिए पतंजलि दिव्य अर्श कल्प वटी लें। परन्तु चिकित्सक की देख रेख के बाद उनकी सलाह के अनुसार इसकी खुराक ले।

(यह भी पढ़े – Thuja Homeopathic Medicine Uses & Side Effects in Hindi [Full Guide])

2. पतंजलि दिव्य अभ्यारिष्ट (Divya Abhyaristh Patanjali Medicine For Piles in Hindi):

पतंजलि दिव्य अभ्यारिष्ट (Divya Abhyaristh Patanjali Medicine) एक चिकित्सकीय रूप से सिद्ध आयुर्वेदिक सूत्रीकरण है जो आपके पाचन तंत्र को बढ़ाता है और आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को समाप्त करता है। यह प्राकृतिक अर्क से तैयार किया जाता है जिसमें रेचक गुण होते हैं, जिससे आंत्र दर्द से मुक्त होता है।

यह पाचन में सुधार करता है, भूख बढ़ाता है, गैस गठन को कम करता है और बवासीर में सूजन को कम को करने में मदद करता है। अपने पेट पर आयुर्वेदिक इलाज के सुखदायक स्पर्श का अनुभव करने के लिए पतंजलि दिव्य अभ्यारिष्ट को लें। परन्तु चिकित्सक की देख रेख के बाद उनकी सलाह के अनुसार इसकी खुराक ले।

(यह भी पढ़े – Mota Hone Ke Liye Syrup [Best 12 Amazing Ayurvedic Tonics in Hindi])

3. पाइल्स के लिए ईसबगोल की भूसी (Isabgol Husk Patanjali Medicine for Piles in Hindi):

पतंजलि ईसबगोल की भूसी (Isabgol Husk Patanjali Medicine) पाइल्स के लिए ईसबगोल की भूसी को पसीलियम (Psyllium) के रूप में भी जाना जाता है, बहुत से लोग इसकी उच्च फाइबर सामग्री के कारण एक रेचक के रूप में इसका सेवन करते हैं। दर्द और परेशानी से राहत पाने के लिए, बवासीर, पेट के कैंसर और गुदा विदर से पीड़ित लोग इस उत्पाद का सेवन कर सकते हैं।

यह मल त्याग को नियमित रखता है और पुरानी कब्ज से राहत दिलाने में भी मदद करता है। यह मॉल त्याग को सामान्य करता है और मल को नरम रखता है जिससे इसे पास करना आसान हो जाता है। परन्तु चिकित्सक की देख रेख के बाद उनकी सलाह के अनुसार इसकी खुराक ले।

(यह भी पढ़े – ताकत बढ़ाने के लिए सिरप और टॉनिक (5 Effective Takat Badhane Ke Liye Syrup Aur Tonics in Hindi))

पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन के फायदे (Benefits Of Patanjali Medicine For Piles in Hindi):

बवासीर/पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन - Bawasir Ke Liye Patanajli Medicine (Patanjali Medicine For Piles in Hindi)
बवासीर/पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन – Bawasir Ke Liye Patanajli Medicine (Patanjali Medicine For Piles in Hindi)

पतंजलि पाइल्स की दवा की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए फायदेमंद है।

दिव्य अर्शकल्प वटी एक प्राकृतिक इलाज है जो बवासीर के लक्षणों से राहत देने के साथ-साथ सर्जरी से गुजरने की संभावना को कम करता है। बवासीर को ठीक करने के लिए सर्जिकल प्रक्रियाओं की तुलना में पतंजलि मेडिसिन का उपयोग अधिक प्रभावी है।

पाइल्स के अलावा, पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन नालव्रण और विदर जैसे एनोरेक्टल स्थितियों के प्रबंधन में कमी करती है। सभी स्थितियों के बीच समानता यह है कि यह अत्यधिक असुविधा का कारण बनता है, जिन्हें आप इस से दूर कर सकते है। यहां उन बीमारियों और स्थितियों की सूची दी गई है जिनसे आप पतंजलि उत्पादों का उपयोग कर सकते हैं।

  • खट्टी डकार: जब आप पेट में बेचैनी महसूस करते हैं, तो कब्ज के साथ कभी-कभी पेट फूलने की समस्या होती है, तो आप इनका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • विषहरण: पाचन तंत्र में विषाक्तता बढ़ने से भी बवासीर का विकास हो सकता है।
  • आंत के कीड़े: प्राकृतिक जड़ी-बूटियां जैसे नीम पाचन तंत्र से आंतों के कीड़े को हटाने में मदद करने के लिए महत्वपूर्ण तत्व के रूप में कार्य करता है।
  • सूजनरोधी: काकामाची एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है, जो पतंजलि मेडिसिन में पाई जाती है। जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दर्द और सूजन से राहत पाने में मदद करते हैं।

(यह भी पढ़े – जानिए सेराजेम थेरेपी क्या है और इसके फायदे क्या होते है (Ceragem Therapy Benefits in Hindi))

पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन के साइड इफेक्ट्स (Side Effects Of Patanjali Medicine For Piles in Hindi):

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि पतंजलि बवासीर दवा पर कई रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि यह बवासीर के लक्षणों से राहत पाने के लिए उपयोगी हो सकता है लेकिन ये स्थायी रूप से बवासीर को ठीक करने में बहुत सफल नहीं हैं।

कुछ स्रोतों के अनुसार, कुछ साल पहले पतंजलि उत्पादों में मिलावट की सूचना मिली थी, जिसके दुष्प्रभाव हुए।

शोध अध्ययन से पता चलता है कि हालाँकि पाइल्स की दवा के कई सकारात्मक परिणाम हैं, फिर भी कुछ लोग हैं जो विशिष्ट जड़ी-बूटियों के प्रति असहिष्णु हैं जो इसके सेवन के बाद प्रतिकूल प्रभाव पैदा कर सकते हैं। प्रभाव एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होते हैं लेकिन सबसे प्रमुख हैं-

  • उल्टी
  • दस्त
  • पेट दर्द

इसके अलावा, ये दवाएं बच्चों के लिए नहीं हैं। इसलिए उन्हें बच्चों की पहुँच से दूर रखना नितांत आवश्यक है। उच्च खुराक का सेवन भी गंभीर दर्द का कारण बन सकता है और पेट को भी परेशान कर सकता है जिसे तत्काल चिकित्सा पर्यवेक्षण की आवश्यकता होती है। इसलिए बिना किसी साइड इफेक्ट्स के, कभी भी मेडिसिन लेने से पूर्व आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह अनुसार ही खुराक लें।

आशा है इन सभी चीजो को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) कौन-कौन सी होती है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी बवासीर / पाइल्स के लिए पतंजलि मेडिसिन (Patanjali Medicine For Piles in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!