मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi)

मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) : मुगदर व्यायाम वह व्यायाम है जिससे आपका सम्पूर्ण शरीर स्वस्थ रहता है। इसलिए बेहतर स्वास्थ्य के लिए व्यायाम को बहुत उपयोगी माना जाता है। इसीलिए पुराने लोग यह कह कर गये है की तन स्वस्थ तो मन स्वस्थ। लेकिन, आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास इतना समय नहीं है कि वे जिम जाकर ट्रेनिंग कर सकें।

ऐसे में आपके लिए प्राचीन भारतीय मुदगर व्यायाम (Mugdar Exercise) काफी बेहतर साबित हो सकती है। इसका कारण यह है कि इसे घर पर बड़ी ही आसानी से किया जा सकता है।

आपने पहलवानी और कुश्ती से जुड़े लोगों को एक्सरसाइज करते जरुर देखा होगा, जिसमे वह एक भारी लकड़ी जैसा उठाते है, जी हाँ आज हम आपको वही व्यायाम के बारे में बताने जा रहे है। इसलिए आज हम आपको इस लेख में मुगदर एक्सरसाइज के फायदों (Mugdar Exercise Benefits) को बेहतर ढंग से समझने के लिए मुगदर एक्सरसाइज के फायदे (Benefits Of Mugdar Exercise) बताएंगे।

विषय सूची:

मुगदर व्यायाम क्या है? (What is Mugdar Exercise in Hindi):

यह एक लकड़ी के उपकरण मुगदर (लकड़ी की गदा) का उपयोग करके किया जाने वाला व्यायाम है। इसमें मुगदर को उठाकर सिर पर घुमाया जाता है।

मुगदर को घुमाने में, घड़ी की दिशा में (Clock Wise) एक घुमाव लिया जाता है; फिर एक दूसरा घुमाव उसके विपरीत दिशा मतलब वामावर्त (Anti-Clock Wise) की जाती है।

यह आपके अपर बैक को मजबूत बनाने में काफी मदद करता है। हालाँकि, मुगदर व्यायाम इससे कहीं अधिक लाभ देता है, तो इसके बारे में और अधिक जानने के लिए बने रहे हमारे इस लेख में।

(यह भी पढ़े – अस्थमा के लिए योग और प्राणायाम (9 Effective Pranayama And Yoga For Asthma in Hindi))

मुगदर व्यायाम के फायदे (Mugdar Exercise Benefits in Hindi):

यहां निचे हमने मुगदर एक्सरसाइज के फायदे के बारे में बताया हैं, जिसे आपको जानना चाहिए। ताकि आप भी जान सके की मुगदर एक्सरसाइज के क्या-क्या फायदे हैं, इसे आसानी से समझा जा सकता है। इनमें से कुछ फायदे इस प्रकार हैं:

मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi)
मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi)

1. मुगदर व्यायाम के फायदे कंधों को मजबूत करें (Mugdar Exercise Benefits for Strengthen the Shoulders in Hindi):

अगर बात करें मुगदर एक्सरसाइज से होने वाले फायदों की तो सबसे अहम फायदा यह होता है कि इसके व्यायाम से कंधे मजबूत और सुडौल बनते हैं। इसलिए कंधे को मजबूत करने वाली एक्सरसाइज में मुगदर एक्सरसाइज को शामिल किया जाता है।

जब मुगदर को सिर के चारों ओर घुमाया जाता है, तो उसका सबसे अधिक जोर कंधों पर पड़ता है। यह कंधे को सहारा देने में मदद करता है।

इसके अलावा विशेषज्ञों की मानें तो अधिक वजन के साथ व्यायाम करने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं, ऐसे व्यायाम जो सीधे कंधे के जोड़ को प्रभावित करते हैं, कंधों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं।

इस आधार पर मुगदर एक्सरसाइज के फायदे कंधों को मेंटेन करने में मददगार माने जा सकते हैं।

2. मुगदर व्यायाम के फायदे कोर स्ट्रेंथ के लिए (Mugdar Exercise Benefits for Core Strength in Hindi):

मजबूत कोर के लिए मुगदर एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद होती है। अगर आप मजबूत कोर के लिए एक्सरसाइज की तलाश में हैं तो मुगदर एक्सरसाइज आपके लिए सही एक्सरसाइज साबित हो सकती है।

यह व्यायाम मूल रूप से मजबूत कोर की मांसपेशियों पर काम करता है और अच्छी मुद्रा बनाए रखने में भी मदद करता है।

(यह भी पढ़े – 7 Effective Yoga For Increasing Immunity in Hindi | अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग अपनाये)

3. मुगदर व्यायाम के फायदे ऊपरी शरीर का विकास करें (Benefits of Mugdar Exercise Develop Upper Body in Hindi):

मुगदर व्यायाम अक्सर ऊपरी शरीर को मजबूत करने के लिए किया जाता है। अखाड़ा पहलवानों द्वारा अपनाई गई गतिविधियों पर विशेषज्ञों का कहना है कि यह व्यायाम ऊपरी शरीर की मांसपेशियों को बेहतर बनाने का काम करता है।

साथ ही, यह मुख्य रूप से पसलियों को सहारा देता है और छाती की मांसपेशियों को ताकत प्रदान करता है। इसके अलावा यह व्यायाम फेफड़ों की कार्यक्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।

इस आधार पर यह माना जा सकता है कि मुदगर व्यायाम के लाभ ऊपरी शरीर को अंदर और बाहर से मजबूत करके इसके विकास में मदद करते हैं।

4. मुगदर व्यायाम के फायदे संतुलन में सुधार करें (Mugdar Exercise Benefits For Improve Balance In Hindi):

मुगदर व्यायाम शरीर के संतुलन को बनाए रखने के लिए कई तरह से फायदेमंद साबित हो सकता है। यह आपकी मांसपेशियों को लचीला बनाता है जिससे आप कोई भी काम अच्छे से कर सकते हैं।

यह व्यायाम समन्वय पर अधिक ध्यान देता है और शरीर के सभी भागों में संतुलन बनाए रखता है। मुगदर व्यायाम प्रशिक्षण अभ्यास परोक्ष रूप से छोटी मांसपेशियों को उत्तेजित करते हैं जो आपको सीधा रखने और रोजमर्रा के कार्यों का ध्यान रखने में मदद करती हैं।

(यह भी पढ़े – 8 Best साइनस के लिए योग और प्राणायाम (Sinus Treatment in yoga in Hindi))

5. मुगदर व्यायाम के फायदे दिल की सेहत बनाए रखें (Mugdar Exercise Benefits For Maintain heart health in Hindi):

मुगदर एक्सरसाइज के फायदे भी दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि वजन बढ़ाने वाला व्यायाम हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

यह धमनियों से संबंधित हृदय संबंधी जोखिमों को कम करने में भी मददगार साबित होता है। वहीं मुगधर एक्सरसाइज भी एक तरह की वेटलिफ्टिंग एक्सरसाइज है। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि मुगधर का व्यायाम हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक सिद्ध हो सकता है।

6. मुगदर व्यायाम के फायदे सम्पूर्ण बॉडी के वर्कआउट के लिए लाभदायक (Mugdar Exercise Benefits For Full Body Workout in Hindi):

मुगदर व्यायाम आपके शरीर में मौजूद लगभग सभी मांसपेशियों को काम में लगाकर, आपको फिट रखने का कार्य करता है।

मुगदर व्यायाम के फायदे आपको एक ही समय में आपके बाहों, कंधों, रीढ़ और पेट पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता हैं। यह आपके शरीर की मांसपेशियों को एक साथ उत्तेजित करने का काम कर, उन्हें मजबूत करने में मदद करता है।

7. मुगदर व्यायाम के फायदे हाथों की ताकत बढ़ाएं (Mugdar Exercise Benefits To Increase The Strength of The Hands in Hindi):

मुगदर एक्सरसाइज के फायदों में हाथों को मजबूत बनाना भी शामिल है। मुगदर को नीचे से उठाने, बगल से उठाने और सिर के चारों ओर घुमाने के लिए अपने हाथों से काम करना पड़ता है।

उदाहरण के लिए, अक्सर यह माना जाता है कि जो खिलाड़ी क्रिकेट खेलते हैं उनमें किसी भी चीज़ से अधिक धारण करने की शक्ति होती है। कारण यह है कि इस खेल में खिलाड़ी गेंद को हिट करने के लिए बल्ले का इस्तेमाल करते हैं और इसके लिए वे बार-बार अपने शरीर के बल से बल्ले को धक्का देते हैं।

इससे खिलाड़ियों के हाथ मजबूत और मजबूत बनते हैं। उसी तरह मुगदर को बार-बार उठाने और सिर के चारों ओर घुमाकर मुदगर व्यायाम करने से भी हाथों को मजबूत बनाने में मदद मिलती है।

(यह भी पढ़े – हेल्दी लाइफ के लिए योग और प्राणायाम [10 Effective Pranayama And Yoga for Good Health in Hindi])

मुगदर व्यायाम कैसे करें (Step By Step Instructions To Do Mugdar Exercise in Hindi):

यहां निचे हम मुगदर एक्सरसाइज करने का आसान तरीका बताने जा रहे हैं, जिसे आपको जानना चाहिए:

  1. सबसे पहले सामान्य वजन के दो मुगदर चुनें, उन्हें अपने हाथों में पकड़ें और सीधे खड़े हो जाएं।
  2. फिर अपने दाहिने हाथ के मुगदर को उठाते हुए सिर के ऊपर ले जाएं और सिर के ऊपर से घुमाते हुए नीचे लाएं।
  3. इसी विधि को अपने बाएं हाथ के मुगदर से भी दोहराएं।
  4. इस प्रकार मुगदर व्यायाम के अभ्यास का एक चरण पूरा होता है।
  5. शुरुआती अभ्यास में इस प्रक्रिया को करीब 10-15 बार ही दोहराएं।
  6. इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि शुरुआती अभ्यास के लिए चुने गए मुगदर अधिक वजन वाले नहीं हो अन्यथा इससे आपके हाथो में दर्द और कमर में मोच भी आ सकती है।
  7. धीरे-धीरे अभ्यास से मुगदरों का वजन बढ़ाया जा सकता है।

मुगदर एक्सरसाइज स्टेप बाय स्टेप दिशा निर्देश वीडियो द्वारा (How To Do Mugdar Exercise in Hindi):

(How To Do Mugdar Exercise in Hindi)

मुगदर व्यायाम करते समय क्या सावधानियां बरते (Precautions To Do Mugdar Exercise in Hindi):

मुदगर व्यायाम करते समय कुछ महत्वपूर्ण सावधानियों का ध्यान रखना अति-आवश्यक है। इनमें से कुछ सावधानियां इस प्रकार हैं:

  • मुदगर व्यायाम की शुरूआती ट्रेनिंग आपको किसी प्रोफेशनल ट्रेनर की मौजूदगी में ही करनी चाहिए।
  • मुगदर व्यायाम करते समय अगर आपके पेट में दर्द महसूस हो तो उसे न करें।
  • मुगदर एक्सरसाइज शुरू करते समय आपको हमेशा लो वेट वाले हलके-फुलके मुगदरों का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

मुगदर व्यायाम के साइड इफेक्टस (Side Effects Of Mugdar Exercise in Hindi):

अब जब आप मुगदर एक्सरसाइज के फायदे के बारे में जान ही चुके है, तो उनको जानने के बाद मुगदर एक्सरसाइज के नुकसान और उससे होने वाली सावधानियों के बारे में भी थोडा जान लेते है। मुगदर प्रशिक्षण के कुछ नुकसान इस प्रकार हैं:

  • बिना व्यायाम के भारी वजन उठाने से मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है। इस लिए उसके साथ साथ वेट लिफ्टिंग करना भी आवश्यक है।
  • हमेशा उतने ही वजन का मुगदर चुने जिसे आप उठाकर घुमा सकते है।
  • उत्साह में आकर मुगदर व्यायाम में शुरुआती लोग मुगदरों को गलत तरीके से घुमाकर सिर पर चोट भी खा सकते है।
  • गर्दन, कंधे, कलाई या पीठ में दर्द होने पर मुगदर व्यायाम से बचना चाहिए; नहीं तो आपके दर्द की समस्या और भी अधिक बढ़ सकती है।

आशा है की पहलवानों द्वारा की जाने वाली मुगदर एक्सरसाइज को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े:-

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी मुगदर व्यायाम के फायदे, करने का तरीका और सावधानियां (Mugdar Exercise Benefits, Steps And Precautions in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!