फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (16 Effective Home Remedies for Cracked Heels in Hindi)

फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) : अक्सर लोग चेहरे की खूबसूरती का ख्याल रखते हुए अपने पैरों को नज़रअंदाज कर देते हैं। चेहरे के साथ-साथ पैर भी शारीरिक आकर्षण बनाए रखने में भूमिका निभाते हैं। इसलिए पैरों से जुड़ी समस्याओं पर ध्यान देना जरूरी है।

वहीं दूसरी ओर सूखी और फटी एड़ियों से महिलाएं ज्यादा परेशान रहती हैं। अगर आप फटी एड़ियों या अन्य उपायों से थक चुके हैं, और अब आप सोच रहे हैं कि फटी एड़ियों को कैसे ठीक किया जाए, तो यह लेख विशेष रूप से आपके लिए है।

इस लेख में हम आपको फटी एड़ियों से छुटकारा पाने के उपाय बता रहे हैं। लेख में, आप फटी एड़ीयों के लिए घरेलू उपाय, इलाज और उपचार (Home Remedy For Cracked Heels) के साथ-साथ फटी एड़ी के कारणों और लक्षणों के बारे में जानेंगे।

विषय सूची:

सूखे और फटे पैरों के कारण (Causes of Dry And Cracked Feet in Hindi):

यदि आप किसी समस्या का कारण जानते हैं, तो उसे ठीक करना आसान हो जाता है। इसलिए फटी एड़ियों से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले इसका कारण जानना जरूरी है; तभी आप गर्मियों में फटी एड़ियों के इलाज के बारे में जान पाएंगे।

नीचे हम एड़ियों के फटने का कारण बताएंगे, और इनके बाद हम फटी एड़ियों के घरेलू उपचार भी बताएंगे।

  • मौसम: मौसम का रूखापन त्वचा को प्रभावित करता है।
  • मोटापा: मोटापा भी इसका एक कारण है। इससे पूरे शरीर का भार पैरों पर पड़ता है, जिससे टखने फट सकते हैं।
  • मधुमेह: मधुमेह के कारण भी टखने फट सकते हैं।
  • इसके साथ – साथ:
  • ज्यादा देर तक चलने या एक जगह पर ज्यादा देर खड़े रहने से भी एड़ियां फट सकती हैं।
  • बिना चप्पल के चलना, ज्यादातर सैंडल पहनना, एक ही तरह के जूते पहनना, बहुत अधिक सख्त चप्पल पहनना, या ऐसे जूते पहनना जो अच्छी तरह से फिट न हों।

सूखे और फटे पैरों के लक्षण (Symptoms of Dry And Cracked Feet in Hindi):

सूखे और फटे पैरों के कारणों को जानने के बाद, अब हम सूखी एड़ी के लक्षणों को जानते हैं, जिससे सूखी और फटी एड़ी का इलाज करना आसान हो जाता है। तो नीचे जानिए पैरों के सूखे और फटने के लक्षण-

  • टखनों की त्वचा रूखी हो जाती है और हल्की दरारें पड़ने लगती हैं।
  • सूखी और फटी एड़ियों की त्वचा थोड़ी पीली दिख सकती है।
  • त्वचा की ऊपरी परत का उत्सर्जन।
  • प्रभावित त्वचा का सख्त होना।
  • चलते समय खुजली या दर्द महसूस होना।
  • गंभीर स्थिति में दरारों से रक्तस्राव और दर्द।

(यह भी पढ़े – ड्राई स्किन के लिए फेस पैक (16 Best Homemade Face Packs For Dry Skin in Hindi))

फटी एड़ी और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Cracked Heels and Dry Feets in Hindi):

फटी एड़ियों के लिए घरेलू उपाय जो आप आसानी से घर पर बना सकते हैं। जिससे यह आपके सूखे पैरों को नमी प्रदान करेगा और एड़ियों के स्वास्थ्य और सुंदरता में मदद करेगा। इसके लिए आप नीचे बताए गए घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। आइए जानते हैं फटी एड़ियों के लिए प्राकृतिक घरेलू उपाय (Natural Home Remedy For Cracked Heels in Hindi)-

1. शहद है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Honey in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

शहद का इस्तेमाल लंबे समय से त्वचा के लिए किया जाता रहा है। शहद में एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

इतना ही नहीं, यह त्वचा को ठीक करने और त्वचा को मॉइस्चराइज करने में भी मदद करता है, जिसका फटी एड़ियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए यह शहद फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार के रूप में कारगर हो सकता है।

फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय, home remedy for cracked heels in Hindi, cracked heel treatment in Hindi, foot crack home remedies in Hindi, foot crack remedies in Hindi, feet cracks in Hindi, cracked heel heal in Hindi, best treatment for cracked heels in Hindi, cracked feet remedy in Hindi, home remedies for cracked feet in Hindi,
फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi)

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप 1 कप शहद और एक बाल्टी गुनगुना पानी लें और बाल्टी में एक कप शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब इस बाल्टी में अपने पैरों को 15-20 मिनट के लिए डुबोएं और एड़ियों को आराम से स्क्रब करें। साफ करने के बाद पैरों को गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को रोजाना तब तक दोहराएं जब तक एड़ियां नरम न हो जाएं।

2. वनस्पति तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Vegetable Oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ी के लिए वनस्पति तेल का उपयोग नुस्खे के रूप में किया जा सकता है। वनस्पति तेलों को कम करने से अक्सर त्वचा फटने से बच जाती है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा को बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। आप फटी एड़ियों का इलाज वनस्पति तेल से कर सकते हैं।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप दो चम्मच वनस्पति तेल लें और टखनों को धोकर साफ तौलिये से अच्छी तरह सुखा लें। अब इस तेल को अपनी फटी एड़ियों पर लगाएं। टखनों पर तेल लगाकर रात भर मोजे पहनकर सो जाएं और सुबह उठकर पैर धो लें। कुछ दिनों के लिए प्रतिदिन सोने से पहले इस प्रक्रिया को दोहराएं।

3. नारियल तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Coconut Oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल नुस्खा के तौर पर किया जा सकता है। नारियल का तेल त्वचा को हाइड्रेट करने का काम कर सकता है। यह त्वचा को पोषण और मुलायम बनाने के लिए एक प्रभावी मॉइस्चराइजर के रूप में भी काम करता है। इसके आधार पर फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए नारियल का तेल एक कारगर घरेलू उपाय हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

आप दो चम्मच नारियल का तेल लें और अपनी एड़ियों को धोकर अच्छी तरह से सुखा लें। अब अपनी एड़ियों पर नारियल का तेल लगाएं और कुछ देर तक हल्के हाथों से मसाज करें।

इसके बाद मोजे पहनकर रात भर एड़ी पर तेल लगा रहने दें, सुबह उठकर एड़ी को पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को हर रात सोने से पहले तब तक दोहराएं जब तक कि एड़ियां नरम न हो जाएं। यह उपाय फटी एड़ियों के लिए घरेलु इलाज (Home Remedies for Cracked Heels) में सबसे फायदेमंद है।

(यह भी पढ़े – 15 Best Face Glow Tips For Man in Hindi | जानिए पुरुषो के लिए फेस ग्लो टिप्स जो आपके चेहरे को देंगी नया निखार!)

4. एलोवेरा है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Aloe Vera in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों और सूखे पैरों के घरेलू उपचार में एलोवेरा भी शामिल है। एलोवेरा में हीलिंग और मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं। एलोवेरा के हीलिंग गुण फटी एड़ियों को ठीक करने में मदद करते हैं। वहीं, इसके मॉइस्चराइजिंग गुण प्रभावित त्वचा को मॉइस्चराइज़ करते हैं।

फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय, home remedy for cracked heels in Hindi, cracked heel treatment in Hindi, foot crack home remedies in Hindi, foot crack remedies in Hindi, feet cracks in Hindi, cracked heel heal in Hindi, best treatment for cracked heels in Hindi, cracked feet remedy in Hindi, home remedies for cracked feet in Hindi,
फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi)

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको आवश्यकतानुसार एलोवेरा जेल और एक बाल्टी गुनगुना पानी लेना चाहिए। अब एक बाल्टी गुनगुने पानी में टखनों को कुछ मिनट के लिए डुबोएं और फिर उन्हें साफ करके सुखा लें।

इसके बाद फटी एड़ियों पर एलोवेरा जेल लगाएं और मोजे पहन लें और एलोवेरा जेल को टखनों पर रात भर लगा रहने दें और सुबह उठने के बाद एड़ी को साफ पानी से धो लें। सोने से पहले इस प्रक्रिया को रोजाना चार से पांच दिन तक दोहराएं।

5. चावल का आटा है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Rice flour in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों और सूखे पैरों के घरेलू उपचार में चावल का आटा भी शामिल है। गर्मियों में फटी एड़ियों के इलाज के लिए आप चावल के आटे का इस्तेमाल कर सकते हैं। चावल का आटा क्षतिग्रस्त त्वचा पर उपचार प्रभाव दिखा सकता है। वहीं, नींबू का इस्तेमाल त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करता है।

साथ ही शहद त्वचा में नमी बनाए रखने में भी फायदेमंद होता है। इसलिए फटी एड़ियों के लिए घरेलु उपाय (Home Remedies for Cracked Heels) में इस समस्या के लिए यह उपाय अपनाया जा सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच चावल का आटा, दो चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस लें और चावल के आटे में शहद और नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें। मिश्रण तैयार करने के बाद अपने पैरों को 10 मिनट के लिए गुनगुने पानी में भिगो दें। फिर तैयार पेस्ट से अपनी एड़ियों को स्क्रब करें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार तब तक करें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

नोट: अगर एड़ियां बहुत रूखी और फटी हुई हैं तो आप इस मिश्रण में जैतून या बादाम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. सोडियम और वैसलीन है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Sodium and Vaseline in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों के इलाज के लिए सोडियम और वैसलीन भी बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। सोडियम त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाता है और त्वचा की प्राकृतिक परत की रक्षा करने में भी मदद करता है।

इसके अलावा, वैसलीन एक प्रभावी मॉइस्चराइजर है। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि सोडियम और वैसलीन का मिश्रण फटी एड़ी की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच वैसलीन, 1/2 कप गुनगुना पानी और एक चम्मच सोडियम लें और गर्म पानी में सोडियम और वैसलीन मिलाएं। इस तैयार मिश्रण में एड़ियों को एक घंटे के लिए डुबोकर रखें। फिर एड़ियों को पानी से अच्छी तरह साफ कर लें। अंत में सोने से पहले टखनों पर मॉइस्चराइजर लगाकर सोएं। इस प्रक्रिया को रोजाना तब तक दोहराएं जब तक एड़ियां नरम न हो जाएं।

(यह भी पढ़े – चेहरे की स्किन टाइट करने के घरेलू उपाय, नुस्खे और उपचार (10 Best Face Skin Tightening Home Remedies in Hindi))

7. सेंध नमक है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Epsom salt in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार के रूप में सेंध नमक (एप्सम सॉल्ट) फायदेमंद है। इस अनोखे नमक का इस्तेमाल आप त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने और त्वचा को मुलायम बनाने के लिए कर सकते हैं। इसी के आधार पर फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए एप्सम सॉल्ट एक कारगर घरेलू उपाय हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसे इस्तेमाल करने के लिए 1/2 कप एप्सम साल्ट और एक बाल्टी गुनगुना पानी लें और बाल्टी में एप्सम साल्ट डालें और अपनी फटी एड़ियों को 15 मिनट के लिए बाल्टी में डुबोकर धीरे से स्क्रब करें। फिर टखनों को बाल्टी से निकालकर साफ पानी से अच्छी तरह साफ कर लें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो से तीन बार तब तक करें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

8. तिल का तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Sesame Oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

तिल का तेल कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है और इसमें घाव भरने के गुण भी होते हैं। कभी-कभी फटी एड़ियों में संक्रमण की समस्या हो जाती है, ऐसे में तिल का तेल फायदेमंद हो सकता है।

यह फटी एड़ियों के दर्द को भी कम करता है और फटी एड़ी और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Cracked Heels) के रूप में प्रभावी हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप तिल के तेल की चार से पांच बूंद लेकर सूखी और फटी एड़ियों पर तिल का तेल लगाकर कुछ देर हल्के हाथों से मसाज करें। इसके बाद टखनों पर तेल लगाकर रात भर मोजे पहनकर सोएं और सुबह उठकर पैर धो लें। इस प्रक्रिया को रोजाना सोने से पहले तब तक दोहराएं जब तक कि एड़ियां नरम न हो जाएं।

9. केला-एवोकैडो फुट मास्क है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Banana-Avocado Foot Mask in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

केले का इस्तेमाल त्वचा की सेहत के लिए किया जाता रहा है। केला त्वचा के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह काम कर सकता है; यह उपचार की तरह भी काम करता है। वहीं, एवोकाडो में मौजूद हीलिंग गुण फटी एड़ियों को ठीक करने का काम करते हैं।

इसलिए फटी एड़ियों और सूखे पैरों के घरेलू उपचार (Home Remedies for Cracked Heels) के लिए यह फुट मास्क कारगर हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक पका हुआ केला और आधा एवोकैडो लें और केले और एवोकाडो को पीसकर अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को अपनी फटी एड़ियों पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद एड़ियों को गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को रोजाना तब तक दोहराएं जब तक एड़ियां नरम न हो जाएं।

(यह भी पढ़े – चेहरे और त्वचा की चमक बढ़ाने के लिए 7 बेस्ट घरेलू उपाय (Home Remedies For Fair Skin and Glowing Skin in Hindi))

10. पैराफिन मोम है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Paraffin wax in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

आप फटी एड़ी और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार के रूप में पैराफिन वैक्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एक कम करने वाला की तरह काम करके त्वचा को कोमल बनाने में मदद करता है।

इसके साथ ही यह फटी एड़ी की सख्त त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करता है। यह फटी एड़ी और सूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार के रूप में प्रभावी साबित हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप पैराफिन वैक्स 1 टीस्पून और 2 से 3 बूंद नारियल या सरसों के तेल की लें और इसे अच्छे से मिलाकर एक अच्छा मिश्रण बना लें। इस मिश्रण को तब तक डालें जब तक कि वैक्स अच्छे से मिक्स न हो जाए।

इसके बाद मिश्रण को हल्का गर्म करें और फिर इसे अपनी एड़ियों पर लगाएं। थोड़ी देर बाद मोजे पहन लें और मिश्रण को एड़ी पर रात भर के लिए छोड़ दें। इसे हफ्ते में एक या दो बार रात को सोने से पहले तब तक इस्तेमाल करें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

11. नींबू, नमक, ग्लिसरीन और गुलाब जल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Lemon, salt, glycerin, and rose water in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

ग्लिसरीन एक हुमेक्टैंट के रूप में कार्य करता है, जिससे त्वचा में नमी बरकरार रहती है। वहीं दूसरी ओर गुलाब में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की सूजन को दूर करने में मदद करते हैं। इस प्रकार, नींबू त्वचा के रंग में सुधार करने में मदद करता है।

इसके अलावा नमक में एनाल्जेसिक गुण यानी एनाल्जेसिक गुण होते हैं, जो फटी एड़ियों के दर्द को कम करते हैं। इसलिए यह मिश्रण फटी एड़ी को दवा के रूप में प्रभावित करने में मदद कर सकता है। इसी के आधार पर फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए नींबू, नमक, ग्लिसरीन और गुलाब जल एक कारगर घरेलू उपाय हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक बाल्टी में एक चम्मच नमक, आधा कप नींबू का रस, दो चम्मच ग्लिसरीन, दो चम्मच गुलाब जल, फुट स्क्रबर और हल्का गर्म पानी लें और बाल्टी में सारी सामग्री मिलाएं और मिला लें। इस बाल्टी में दोनों पैरों को 15-20 मिनट तक डुबोकर रखें। अब एड़ियों को फुट स्क्रबर से स्क्रब करें।

फिर मिश्रण तैयार करें, एक चम्मच ग्लिसरीन, एक चम्मच गुलाब जल और एक चम्मच नींबू का रस अलग-अलग मिलाकर फटी एड़ियों पर लगाएं। थोड़ी देर बाद मोजे पहन लें और मिश्रण को एड़ी पर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह उठकर एड़ी को गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को हर रात सोने से पहले तब तक दोहराएं जब तक कि एड़ियां नरम न हो जाएं।

नोट: नींबू के इस्तेमाल से त्वचा में जलन या रूखापन हो सकता है। इसलिए एलर्जी की जांच के लिए पैच टेस्ट जरूर कर लें।

12. जैतून का तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Olive Oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

गर्मियों में आप फटी एड़ियों के इलाज के लिए जैतून के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। टी ट्री ऑयल की तरह इसमें हीलिंग और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

इसके अलावा, यह त्वचीय पुनर्निर्माण, यानी त्वचा के पुनर्निर्माण को बढ़ावा देने में मदद करता है। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि जैतून का तेल फटी एड़ी के घरेलू उपचार में मदद करता है।

फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय, home remedy for cracked heels in Hindi, cracked heel treatment in Hindi, foot crack home remedies in Hindi, foot crack remedies in Hindi, feet cracks in Hindi, cracked heel heal in Hindi, best treatment for cracked heels in Hindi, cracked feet remedy in Hindi, home remedies for cracked feet in Hindi,
फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi)

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच जैतून का तेल लें और इसे अपनी फटी एड़ियों पर लगाएं। फिर आधे घंटे के लिए पैरों को ऐसे ही छोड़ दें। इस प्रक्रिया को रोज रात को सोने से पहले तब तक करें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

13. विटामिन E है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Vitamin E in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन ई को एक खास पोषक तत्व माना जाता है। यह त्वचा को कई तरह से लाभ पहुंचाता है, जैसे कि इसमें हीलिंग गुण (घावों को ठीक करने) होते हैं, यानी यह त्वचा के किसी भी हल्के घाव को ठीक करने में मदद कर सकता है।

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं जो त्वचा की सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इसमें हाइड्रेटिंग गुण भी होते हैं, जो रूखी त्वचा को मॉइस्चराइज करने में मदद करते हैं। इसके सभी गुण फटी एड़ियों की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

इसके आधार पर फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए विटामिन ई एक कारगर घरेलू उपाय हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप तीन से चार विटामिन-ई कैप्सूल लें, कैप्सूल को काटें, तेल निकालें, इस तेल को फटी एड़ियों पर लगाएं और कुछ देर मसाज करें। आप दिन में दो से तीन बार विटामिन ई ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

14. चाय के पेड़ का तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Tea tree oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों के घरेलू उपचार में टी ट्री ऑयल भी शामिल है। इसमें उपचार गुणों के साथ-साथ विरोधी भड़काऊ प्रभाव होता है। इसके अलावा यह त्वचा को बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन से बचाने में भी मदद करता है।

ये सभी गुण फटी एड़ियों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकते हैं। इसलिए यह टी ट्री ऑयल फटी एड़ियों और सूखे पैरों के घरेलू उपचार के रूप में कारगर हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप 4 से 5 बूंद टी ट्री ऑयल, 1 टीस्पून नारियल तेल और 1 टीस्पून ऑलिव ऑयल लें और सभी तेल को अच्छी तरह मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें। अब इस तैयार मिश्रण को ऑडियो पर लगाएं और एक से दो मिनट तक मसाज करें। इसके बाद, बिस्तर पर जाने से पहले अपने पैरों में मोज़े पहनें। इस प्रक्रिया को रोज रात को सोने से पहले तब तक करें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

15. ओट्स और जोजोबा तेल है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Oats and jojoba oil in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

ओट्स और जोजोबा ऑयल त्वचा के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। ओट्स का प्रयोग रूखी त्वचा और त्वचा के खुरदरेपन को दूर करने में मदद करता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी (एंटी-इंफ्लेमेटरी) गुण भी होते हैं।

दूसरी ओर, जोजोबा तेल एक कम करनेवाला (त्वचा सॉफ़्नर) और मॉइस्चराइजर के रूप में कार्य करता है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि ओट्स और जोजोबा तेल का मिश्रण फटी एड़ियों की समस्या में फायदेमंद हो सकता है। इसी के आधार पर फटी एड़ियों और सूखे पैरों के लिए ओट्स और जोजोबा ऑयल एक कारगर घरेलू उपाय हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच ओट्स मील पाउडर और एक चम्मच जोजोबा ऑयल लें और ओट्स मील पाउडर में जोजोबा ऑयल मिलाएं और गाढ़ा मिश्रण तैयार करें। तैयार मिश्रण को फटी एड़ियों पर उदारता से लगाएं। थोड़ी देर बाद एड़ी को धो लें। फिर रात को सोने से पहले टखनों पर फुट क्रीम लगाएं और अगले दिन मोजे पहन लें। इस प्रक्रिया को तब तक करते रहें जब तक एड़ियां नर्म न हो जाएं।

16. प्युमिस पथ्थर है फटी एड़ियों का घरेलु इलाज (Use Pumice Stone in Home Remedies for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ी के लिए घरेलू उपचार में प्युमिस पथ्थर भी शामिल है। फटी एड़ियों के इलाज के लिए आप प्युमिस पथ्थर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। प्युमिस पथ्थर की खुरदरी सतह मृत त्वचा को हटाने में मदद कर सकती है। वहीं, इसका इस्तेमाल करते समय इस बात का ध्यान रखें कि झांवा आरामदायक हो। नहीं तो त्वचा छिल सकती है और खून भी निकल सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

इसके इस्तेमाल के लिए आप टब में गुनगुना पानी डालें ताकि एड़ी डूब जाए। अब एड़ियों को प्यूमिक स्टोन से कुछ देर तक स्क्रब करें। अब एड़ियों को साफ पानी से धोकर सुखा लें और मॉइस्चराइजर लगाएं। आप इसे हर दूसरे दिन इस्तेमाल कर सकते हैं।

फटी एड़ी के लिए रोकथाम युक्तियाँ (Prevention Tips for Cracked Heels in Hindi):

फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय, home remedy for cracked heels in Hindi, cracked heel treatment in Hindi, foot crack home remedies in Hindi, foot crack remedies in Hindi, feet cracks in Hindi, cracked heel heal in Hindi, best treatment for cracked heels in Hindi, cracked feet remedy in Hindi, home remedies for cracked feet in Hindi,

इलाज से बेहतर समस्या निवारण। इसलिए फटी एड़ियों से बचने के लिए आप नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो करके अपनी एड़ियों को फटने से बचा सकती हैं।

  • मॉइस्चराइज़ करें: अपनी एड़ी को मॉइस्चराइज़ करें, खासकर सुबह कहीं बाहर जाने से पहले और रात को सोने से पहले; पैरों पर क्रीम या लोशन लगाएं।
  • फुटवियर: आरामदायक फुटवियर चुनें, फुटवियर की बाहरी खूबसूरती पर न जाएं और आराम का ख्याल रखें।
  • अपने पैरों को सुरक्षित रखें: अपने पैरों को प्रदूषण और धूल से बचाएं, और बाहर जाने से पहले मोजे पहनें।
  • मालिश: पैरों को आराम देने के लिए जैतून या नारियल के तेल से मालिश करें।
  • पानी पिएं: अपनी त्वचा को हाइड्रेट और कोमल बनाए रखने के लिए खूब पानी पिएं।
  • अपनी एड़ियों को रगड़ें: कभी-कभी अपनी एड़ी को प्यूमिक स्टोन से रगड़ें।
  • सब्जियां और फल: खाने में हरी सब्जियां और फल शामिल करें.
  • पैर धोएं: बाहर से आने के बाद पैरों को अच्छी तरह धो लें।

उम्मीद है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, उपचार और उपाय (Home Remedies for Cracked Heels in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!