Coronil medicine: Patanjali corona medicine(कोरोनिल दवा)

Spread the love
करोनिल आयुर्वेदिक दवा (coronil medicine)
पतंजलि द्वारा निर्मित कोरोना की दवा करोनिल (Coronil Medicine)

कोरोनिल आयुर्वेदिक दवा (Patanjali corona medicine) :

Coronil medicine (कोरोनिल दवा) : पतंजलि योग पीठ हरिद्वार एवं बाबा रामदेव ने कोरोना की आयुर्वेदिक दवा (Ayurvedic Medicine) ‘Coronil medicine‘ को लांच किया तथा इससे 100 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक होने का दावा किया।

तो चलिए पढ़ते है इस लेख को-

भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बन चुके कोरोना से अब तक लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका जैसी महाशक्तियां भी कोरोनावायरस के सामने टिक नहीं पाई।

सारी दुनिया जिस कोरोना वायरस की दवा तलाश कर रही है, उस कोरोना की पहली दवा कोरोनिल ‘Coronil’ को तैयार करने का दावा योग गुरु बाबा रामदेव ने किया है।

बाबा रामदेव ने कहा श्वासारि और कोरोनिल दवाCoronil medicine‘ की दवा खाने से रोगी की 3 दिन में 69 प्रतिशत रिकवरी तथा 7 दिन में 100 प्रतिशत रिकवरी हो जाएगी तथा मृत्यु दर 0 प्रतिशत होगी।

यह भी पढ़े :-

कोरोना वायरस और स्वास्थ्य चुनौतियां (COVID-19)


योग गुरु बाबा रामदेव के मुताबिक कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ क्लिनिकल ट्रायल में सफल रही।कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ की इस दवा को पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस जयपुर ने मिलकर बनाई है।

योग गुरु रामदेव का दावा है कि कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना की पहली आयुर्वेदिक दवा है। इसके ट्रायल के दौरान 69% मरीज 3 दिन में ठीक हो गए, इसके अलावा ट्रायल के दौरान 7 दिन में 100% कोराना मरीज नेगेटिव पाए गए।बाबा रामदेव ने कहा यह कार्य बहुत चुनौतीपूर्ण तथा इसमें बहुत तरह की बाधाएं आई। बाबा रामदेव के मुताबिक कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ के साथ 2 और दवाओं का सेवन करना चाहिए, जिनमें श्वासारि वटी तथा अणु तेल भी शामिल है। इन तीनों को मिलाकर कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ किट बनाई गई है,जिसके इस्तेमाल से कोरना मरीज के ठीक होने का दावा किया गया है।

बाबा रामदेव ने कहा केमिकल कंट्रोल ट्रायल के लिए सीटीआईआर का अप्रूवल लिया गया है। यह दवा अगले 7 दिन में पतंजलि के स्टोर में मिलनी शुरुआत हो जाएगी। इसके अलावा ऐप के जरिए भी इस दवा को लोगों तक पहुंचाने की तैयारी है।

कोरोनिल दवा के बारे में आयुष मंत्रालय ने कहाँ:-


इस दवा के बारे में आयुष मंत्रालय ने कहा जब तक दवा की टेस्टिंग नहीं हो जाती तब तक इस दवा को न तो बाजार में उतारा जाएगा और न ही इसके विज्ञापन को जारी किया जाएगा। आयुष मंत्रालय ने यह भी कहा की अभी हमें दवा के बारे में कोई पता नहीं है।

इस पर बाबा रामदेव ने कहा, हमारी आयुष मंत्रालय से बात हो गई है और यह विवाद भी खत्म हो जाएगा। दवा की जानकारी देते हुए बाबा रामदेव ने कहा यह दवा गिलोय, अश्वगंधा, और तुलसी के एक्सट्रैक्ट से बनी हुई है।

किट में शामिल श्वासारि हमारे श्वसन तंत्र पर काम करती है, कोरोनिल दवा ‘Coronil medicine‘ श्वसन तंत्र के साथ-साथ सर्दी, जुखाम, बुखार और पूरी इम्यूनिटी के ऊपर काम करता है, और ये अणु तेल जो है वह हमारे रेस्पिरेट्री ट्रैक को क्लीन करने का काम करता है।

बाबा रामदेव के अनुसार 100 पेशेंट पर इस दवा कीट का प्रयोग किया गया था। उनके अनुसार दवा कोरोना होने से पहले भी खा सकते हैं और कोरोना होने के बाद में भी खाई जा सकती है।बाबा रामदेव के अनुसार इस दवा को 1 सप्ताह में सब जगह उपलब्ध कराने का संकल्प लिया है।

  • कोरोनिल दवा किट का मूल्य ₹535 निर्धारित किया गया है।

Leave a Comment