सौंफ खाने के फायदे और नुकसान (20 Amazing Benefits of Fennel Seeds in Hindi)

Show Some Love By Sharing!

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi): सौंफ को हिंदी में सौंफ के नाम से जाना जाता है, यह फोनीकुलम वल्गारे परिवार से संबंधित एक फूल वाला पौधा है, जो गाजर, जीरा, डिल जीरा और अजमोद परिवार की एक ही प्रजाति है।

यह सुगंधित जड़ी बूटी सौंफ के पौधे के सूखे बीज हैं जो पीले फूलों वाले पंख वाले पत्तों के साथ सफेद और हरे रंग के होते हैं। यह भूमध्यसागरीय क्षेत्रों में एक स्वदेशी पौधा है और तटीय और नदी तट क्षेत्रों के पास दुनिया भर में व्यापक रूप से खेती की जाती है।

भारत को सौंफ का सबसे बड़ा निर्यातक कहा जाता है। सौंफ के पौधे में हल्का, नद्यपान जैसा स्वाद, मीठा और लकड़ी का स्वाद होता है, विशिष्ट स्वाद शक्तिशाली आवश्यक तेलों की अच्छाई के कारण होता है।

सौंफ में पोषक तत्वों और शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर गुण पाचन और श्वसन संबंधी बीमारियों के इलाज में मूल्यवान हैं, दृष्टि में सुधार करते हैं और मासिक धर्म की समस्याओं को भी ठीक करते हैं।

आज हम आपको सौंफ से जुड़ी ऐसी ही रोचक जानकारी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे मुझे यकीन है कि अब तक आप अनजान होंगे। तो आइए बिना देर किए सौंफ खाने के फायदे और इससे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में जानते हैं।

विषय सूची:

सौंफ क्या है? (What is Fennel Seeds in Hindi):

सौंफ एक मीठी-महक वाली देशी जड़ी बूटी है जिसमें हल्के या गहरे हरे रंग के सुगंधित बीज होते हैं जिनका उपयोग ज्यादातर अचार के मसाले के रूप में और भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। सौंफ का वानस्पतिक नाम फोनीकुलम वल्गारे है।

सौंफ सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है और आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। सौंफ में कई तरह के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो कई तरह के शारीरिक रोगों को दूर करने में फायदेमंद होते हैं। आइए अब जानते हैं फायदेमंद सौंफ के पौधे के बारे में विस्तार से।

(यह भी पढ़े – एलो वेरा जूस के फायदे और नुकसान (18 Amazing Aloe Vera Juice Benefits in Hindi))

सौंफ के प्रकार (Types of Fennel Seeds in Hindi):

सौंफ दो प्रकार की होती है, एक का उपयोग जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है- फोनीकुलन वल्गारे और दूसरी एक सूजी हुई बल्ब जैसी तना जिसे सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है- फ्लोरेंस सौंफ। जड़ी बूटी का प्रकार 3-5 फीट लंबा होता है जो ठीक बनावट वाले पत्ते के साथ डिल के समान दिखता है।

सौंफ खाने के फायदे (Fennel Seeds Benefits in Hindi) जानने से पहले चलिए यह जानते है की सौंफ में कौन-कौन से पोषक तत्व होते है? जो इसे हमारे शरीर के लिए फायदेमंद बनाते है-

सौंफ के पोषण तथ्य (Nutrition Facts of Fennel Seeds in Hindi):

सूखी सौंफ महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का भंडार है, कम कैलोरी और विटामिन C से भरपूर सौंफ प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती है, कोलेजन उत्पादन को उत्तेजित करती है और एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करती है जो मुक्त कणों को खत्म करती है।

मैंगनीज से भरपूर सौंफ एंजाइमों को सक्रिय करती है, मेटाबोलिज्म को गति प्रदान करती है, रक्त शर्करा को नियंत्रित करती है और हड्डियों को मजबूत करती है। इनके अलावा, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और सेलेनियम की उल्लेखनीय मात्रा त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है, रक्तचाप को नियंत्रित करती है और एनीमिया का इलाज करती है।

सौंफ के बीजों में 87 से अधिक वाष्पशील यौगिक होते हैं जिनमें पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट जैसे रोस्मरिनिक एसिड, क्लोरोजेनिक एसिड, क्वेरसेटिन और एपिजेनिन शामिल हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर आहार मधुमेह, हृदय, कैंसर और तंत्रिका संबंधी रोगों जैसी पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करता है।

पोषण मूल्य प्रति 100 ग्राम

  • ऊर्जा: 345 किलो कैलोरी
  • कार्बोहाइड्रेट: 52.29 ग्राम
  • प्रोटीन: 15.80 ग्राम
  • कुल वसा: 14.87 ग्राम
  • आहार फाइबर: 39.8 ग्राम

विटामिन

  • नियासिन: 6.050 मिलीग्राम
  • पाइरिडोक्सिन: 0.470 मिलीग्राम
  • राइबोफ्लेविन: 0.353 मिलीग्राम
  • थायमिन: 0.408 मिलीग्राम
  • विटामिन A: 135 आईयू
  • विटामिन C: 21 मिलीग्राम
  • सोडियम: 88 मिलीग्राम
  • पोटेशियम: 1694 मिलीग्राम

खनिज पदार्थ

  • कैल्शियम: 1196 मिलीग्राम
  • कॉपर: 1.067 मिलीग्राम
  • आयरन: 18.54 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम: 385 मिलीग्राम
  • मैंगनीज: 6.533 मिलीग्राम
  • फास्फोरस: 487 मिलीग्राम
  • जिंक: 3.70 मिलीग्राम

*स्रोत: यूएसडीए राष्ट्रीय पोषक तत्व डाटा बेस

(यह भी पढ़े – ओरेगेनो तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान (16 Amazing Benefits Of Oregano Oil in Hindi))

यहाँ निचे हमने सौंफ खाने के फायदे (Fennel Seeds Benefits in Hindi) के बारे में विस्तार से बताया है, जिन्हें आप नही जानते होंगे-

सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds in Hindi):

सौंफ सिर्फ स्वादिष्ट और मीठी महक के लिए ही नहीं, इसमें कई स्वास्थ्यवर्धक तत्व होते हैं जो शरीर को फिट और सेहतमंद बनाते हैं। तो आइए विस्तार में जानते हैं सौंफ के जबरदस्त फायदों के बारे में-

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits of Fennel Seeds in Hindi)
सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits of Fennel Seeds in Hindi)

1. मुंह के छालों को ठीक करने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Cure Mouth Ulcers in Hindi):

मुंह के छाले बच्चों से लेकर बड़ों तक में देखी जाने वाली एक आम समस्या है। मुंह में छाले होने के कई कारण होते हैं, लेकिन छाले मुख्य रूप से पेट खराब होने और बुखार के कारण होते हैं।

बुखार के कारण होने वाले मुंह के छालों को फीवर ब्लिस्टर कहा जाता है जबकि सामान्य अल्सर को एफ्थस अल्सर के रूप में जाना जाता है।

मुंह में छोटे-छोटे छाले बेहद दर्दनाक होते हैं जिससे खाने-पीने में काफी दिक्कत होती है और साथ ही अगर मुंह में बार-बार छाले पड़ जाएं तो ये छोटे-छोटे छाले भी कैंसर का रूप ले लेते हैं। इसलिए जरूरी है कि इनका सही समय पर इलाज किया जाए।

मुंह के छालों को ठीक करने में सौंफ बहुत कारगर है। दरअसल, सौंफ में विटामिन C और विटामिन B6 तत्व होते हैं जो अल्सर के इलाज में मदद करते हैं। पानी में एक चम्मच सौंफ, एक चुटकी हल्दी, एक तेज पत्ता और एक चुटकी फिटकरी मिलाकर पानी को उबालने से गरारा करने वाले छाले जड़ से दूर हो जाते हैं।

2. मोटापे में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds in Obesity in Hindi):

मोटापा एक ऐसी समस्या है जिसे बढ़ने में ज्यादा समय नहीं लगता लेकिन कम करना बहुत मुश्किल होता है। अगर आप भी अपने बढ़े हुए वजन से परेशान हैं तो सौंफ आपके वजन को कम करने के लिए फायदेमंद औषधि है।

सौंफ में मैग्नीशियम, पोटेशियम और डाइटरी फाइबर होता है जो वजन कम करने में मदद करता है। इस उपाय को करने के लिए रोज सुबह एक गिलास पानी में 1 चम्मच सौंफ उबालकर उस पानी को पेट पर पीने से न सिर्फ वजन कम होगा बल्कि यह अतिरिक्त चर्बी को भी कम करने का काम करता है।

(यह भी पढ़े – गाजर का जूस पिने के फायदे और नुकसान (15 Amazing Benefits of Carrot Juice in Hindi))

3. स्तन के दूध के उत्पादन को बढ़ाने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Increase Breast Milk Production in Hindi):

सौंफ के बीजों में मौजूद एनेथोल का सार गैलेक्टोजेनिक गुणों को प्रदर्शित करता है जो एस्ट्रोजन हार्मोन के कार्य की नकल करते हैं और स्तनपान कराने वाली माताओं में स्तन के दूध के उत्पादन को बढ़ाते हैं। इसलिए स्तनपान कराने वाली आहार योजना में सौंफ एक अच्छा अतिरिक्त है जो नवजात शिशु के लिए स्तन के दूध के निरंतर प्रवाह का आश्वासन देता है।

4. खून साफ ​​करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits Of Fennel Seeds To Clean The Blood in Hindi):

रक्त शुद्धि का अर्थ है शरीर की रक्त शुद्धि। जब मानव शरीर के रक्त में विषाक्त पदार्थ मिल जाते हैं, तो वह क्रिया अशुद्ध रक्त कहलाती है। शरीर का अशुद्ध रक्त कई रोगों का कारण माना जाता है।

सौंफ में विटामिन C, एंटी माइक्रोबियल, एंटी बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो ब्लीडिंग को साफ करने में मददगार होते हैं। सौंफ का रोजाना सेवन करने से पेशाब के रास्ते विषैले कण बाहर निकल जाते हैं, जिससे शरीर का खून साफ ​​होता है।

5. भूख की कमी दूर करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Overcome Lack of Appetite in Hindi):

भूख न लगना या भूख न लगना दोनों ही अवस्थाएँ स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए समस्याएँ पैदा करती हैं। भूख न लगना या सही अनुपात में भूख न लगने की समस्या बड़ों के साथ-साथ बच्चों में भी देखने को मिलती है।

जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा नहीं मिलती है, तो शरीर कमजोर हो जाता है और कई बीमारियों से ग्रस्त हो जाता है। सौंफ में विटामिन C, थायमिन, एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो भूख बढ़ाने में मदद करते हैं। भूख बढ़ाने के लिए सौंफ, अजवाइन, हींग, इलायची का चूर्ण बनाकर खाने से भूख की समस्या दूर होती है।

(यह भी पढ़े – लेमन ग्रास के फायदे, उपयोग और नुकसान (15 Amazing Benefits Of Lemon Grass in Hindi))

6. कब्ज में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds in Constipation in Hindi):

सौंफ पेट को साफ करने और कब्ज को जड़ से खत्म करने का अचूक उपाय है। कब्ज की समस्या दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है, इससे निजात पाने के लिए लोग कई उपाय करते हैं, लेकिन कब्ज दूर करने में उन्हें सफलता नहीं मिलती है।

सौंफ का इस्तेमाल सदियों से कब्ज दूर करने के लिए किया जाता रहा है। सौंफ में फाइबर, मैग्नीशियम, विटामिन C, विटामिन B12 होता है, जो कब्ज को जड़ से खत्म करने में उपयोगी होता है।

सौंफ की जड़, अजवाइन, जीरा और हींग के चूर्ण को उबाल लें या 1 गिलास पानी में 1 चम्मच सौंफ और 1 चम्मच अजवाइन को उबालकर काढ़ा बनाकर रोजाना सेवन करने से कब्ज में काफी लाभ मिलता है।

7. आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Increase Eyesight in Hindi):

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए नियमित रूप से कुछ सौंफ चबाएं। सौंफ के बीज विटामिन ए और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो आंखों के लिए चमत्कार कर सकते हैं और स्वस्थ दृष्टि को बढ़ावा देते हैं।

यह पानी और सूजन वाली आंखों के इलाज के लिए भी जाना जाता है और इसके बीजों के अर्क का उपयोग ग्लूकोमा के लक्षणों को कम करने के लिए किया जाता था। इसके अलावा, एनेथोल यौगिक की प्रचुरता लेंस प्रोटीन सामग्री को बढ़ाती है और मोतियाबिंद की प्रगति को धीमा कर देती है।

8. खांसी दूर करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Relieve Cough in Hindi):

बदलते मौसम या गलत खान-पान की वजह से खांसी की समस्या होती है। वैसे तो यह एक आम समस्या है लेकिन खांसी एक ऐसी बीमारी है जो पूरे शरीर को प्रभावित करती है।

यदि खांसी कई दिनों तक बनी रहती है, तो इससे पीड़ित लोगों को टीबी रोग का खतरा हो सकता है, इसलिए सामान्य बीमारियों को भी कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और उनका तुरंत इलाज किया जाना चाहिए। खांसी को ठीक करने के लिए सौंफ का सेवन फायदेमंद माना जाता है। इसलिए सौंफ के इस्तेमाल से आप खांसी से भी छुटकारा पा सकते हैं।

(यह भी पढ़े – नारियल दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान (15 Amazing Benefits of Coconut Milk in Hindi))

9. ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Reduce the Risk of Osteoporosis in Hindi):

सौंफ अपने एस्ट्रोजन प्रकृति के कारण एक ऑस्टियोपोरोटिक विरोधी के रूप में काम करती है, हार्मोन हड्डियों के पुनर्जनन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एस्ट्रोजन का निम्न रक्त स्तर ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को बढ़ाता है, क्योंकि सौंफ एस्ट्रोजन की भूमिका की नकल करता है, यह हड्डियों को फ्रैक्चर से बचाता है और हड्डियों को मजबूत करता है।

आहार में सौंफ को नियमित रूप से शामिल करना या सौंफ की चाय लेना हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ाने और हड्डियों के ऊतकों के टूटने को कम करने का सबसे अच्छा तरीका है।

10. यूरिन इन्फेक्शन में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds in Urine Infection in Hindi):

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यूरिन इन्फेक्शन अधिक आम है। यूरिन इन्फेक्शन किसी भी मौसम में हो सकता है। ऐसा कई कारणों से हो सकता है, लेकिन यहां हम आपसे यूरिन इन्फेक्शन को ठीक करने के उपाय के बारे में बात कर रहे हैं।

अगर आपको किसी भी तरह का यूरिन इन्फेक्शन है तो आप सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं। सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो यूरिन इन्फेक्शन को कम करने और उसका इलाज करने में मदद करते हैं। सौंफ का काढ़ा रोजाना पीने से यूरिन इन्फेक्शन में आराम मिलता है।

(यह भी पढ़े – हेजलनट्स के फायदे, उपयोग और नुकसान (12 Amazing Benefits of Hazelnuts in Hindi))

11. पाचन तंत्र को मजबूत करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Strengthen the Digestive System in Hindi):

पाचन तंत्र का खराब होना शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है। सही पाचन तंत्र शरीर को फिट और स्वस्थ बनाता है। जैसे पाचन तंत्र भोजन को ऊर्जा में बदल देता है और शरीर को पोषण और शक्ति प्रदान करता है, जिससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।

पाचन तंत्र में गड़बड़ी या खराबी के कारण हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है जिससे शरीर कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त हो जाता है।

सौंफ पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद कर सकती है, सौंफ का सेवन न केवल पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है बल्कि खराब पाचन तंत्र को भी ठीक करने में मदद करता है। इसके लिए रोजाना खाना खाने के बाद सौंफ और मिश्री दोनों को एक साथ चबाना चाहिए।

12. स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Increase Breast Size in Hindi):

सौंफ के बीज एनेथोल, सक्रिय यौगिकों के साथ प्रबल होते हैं जो प्रकृति द्वारा फाइटोएस्ट्रोजन के रूप में कार्य करते हैं और एस्ट्रोजन हार्मोन की भूमिका की नकल करते हैं और स्तन विकास को बढ़ावा देते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार सौंफ के साथ 3 महीने की चिकित्सा स्तन के आकार को बढ़ाने के लिए जानी जाती है, हालांकि, बेहतर परिणामों के लिए, सौंफ के बीज के साथ समान अनुपात में अश्वगंधा और शतावरी पाउडर का संयोजन कम प्रतिगमन के साथ स्तन वृद्धि में सुधार करने के लिए जाना जाता है। हालांकि, ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए सौंफ खाने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

13. याददाश्त बढ़ाने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Increase Memory in Hindi):

याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम खाने की सलाह दी जाती है लेकिन दोस्तों बहुत से लोगों को बादाम पसंद नहीं होता है। ऐसे लोग सौंफ का सेवन कर सकते हैं। सौंफ में विटामिन B6, जिंक, मैग्नीशियम, फ्लेवोनोइड्स, प्रोटीन, विटामिन E और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो मुख्य स्मृति बढ़ाने वाले होते हैं।

इसलिए दिमागी विकास और याददाश्त बढ़ाने के लिए आप सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं। सौंफ की चाय पीने से याददाश्त बढ़ती है और मानसिक तनाव कम होता है।

(यह भी पढ़े – अखरोट खाने के फायदे और नुकसान (15 Amazing Benefits of Walnuts in Hindi))

14. पेट के विकारों को दूर करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Cure Stomach Disorders in Hindi):

पेट के विकार न केवल शारीरिक समस्याओं का कारण होते हैं, बल्कि मानसिक परेशानी का कारण भी बनते हैं। पेट में सूजन, गैस, एसिडिटी, पेट दर्द आदि की समस्या हो जाती है जो पूरे शरीर को प्रभावित करती है। अगर आप प्राकृतिक तरीके से पेट की बीमारियों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो सौंफ आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

सौंफ में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन C, विटामिन B12, कार्बोहाइड्रेट और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो पेट के विकारों से राहत दिलाने में फायदेमंद होते हैं। सौंफ का चूर्ण बनाकर गर्म पानी के साथ खाने से पेट के विकार दूर होते हैं।

15. प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Boost Fertility in Hindi):

सौंफ प्राकृतिक रूप से फाइटोएस्ट्रोजन से भरपूर होने के कारण महिला प्रजनन चक्र को उत्तेजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और प्रजनन क्षमता को सुविधाजनक बना सकती है। सौंफ की चाय का उपयोग प्राचीन काल से मासिक धर्म चक्र को नियमित करने, प्रवाह को सामान्य करने और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए किया जाता था।

16. मासिक धर्म को नियमित करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Regulate Menstruation in Hindi):

मासिक धर्म की अनियमितता को ओलिगोमेनोरिया कहा जाता है। लगभग 50% महिलाओं को इस समस्या का सामना करना पड़ता है। किशोरावस्था में शुरुआती दौर में अनियमित मासिक धर्म होता है।

लेकिन हर बार अगर मासिक धर्म अनियमित हो जाए तो यह कई बीमारियों का कारण बनता है, इसलिए अगर महिलाएं इस समस्या से पीड़ित हैं, तो सबसे पहले उन्हें डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

इसके बाद आप सौंफ का इस्तेमाल घरेलू और प्राकृतिक उपचार में कर सकते हैं। सौंफ के पाउडर या काढ़े का सेवन करके आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

(यह भी पढ़े – मूंगफली के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान (14 Amazing Benefits of Peanut Oil in Hindi))

17. मुंह की दुर्गंध को दूर करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Get Rid of Bad Breath in Hindi):

मुंह से दुर्गंध आने के कई कारण होते हैं, यह व्यक्ति की मानसिक और शारीरिक समस्याओं को प्रभावित करने के अलावा व्यक्ति के आत्मसम्मान को भी प्रभावित करता है।

कई बार मुंह से आने वाली गंध भी कैंसर का कारण बन सकती है, इसलिए दुर्गंध का कारण जानकर इसका जल्द से जल्द इलाज करना बहुत जरूरी है।

सौंफ को बहुत अच्छा माउथ फ्रेशनर कहा जाता है। सौंफ में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो मुंह की दुर्गंध को आसानी से कम करने में मदद करते हैं।

18. त्वचा विकारों को दूर करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Remove Skin Disorders in Hindi):

खुजली, दाद, रैशेज, खाज, झाइयां, झुर्रियां, फुंसी से पीड़ित लोगों के लिए सौंफ बहुत कारगर औषधि है। जो लोग एक्ने, खुजली, दाद, रैशेज, रैशेज, झाईयां या झुर्रियां से पीड़ित हैं, वे सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सौंफ में ऐसे कई गुण होते हैं जो त्वचा संबंधी विकारों जैसे विटामिन C, विटामिन E, विटामिन K, विटामिन B6, प्रोटीन, फास्फोरस, एंटीऑक्सीडेंट आदि को दूर करते हैं। ये तत्व त्वचा के सभी विकारों से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं।

19. रक्त में शर्करा के स्तर को नियमित करने में सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds in Regulating the Level of Sugar in the Blood in Hindi):

ब्लड शुगर लेवल हाई या लो दोनों ही किसी भी व्यक्ति के लिए हानिकारक होता है, सौंफ शुगर लेवल को कंट्रोल में रख सकती है. सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मददगार होते हैं। इसलिए मधुमेह के रोगियों के लिए रोज सुबह सौंफ का पानी या काढ़ा पीना फायदेमंद होता है।

20. पॉलीडिप्सिया को कम करने के लिए सौंफ खाने के फायदे (Benefits of Fennel Seeds to Reduce Polydipsia in Hindi):

अत्यधिक प्यास को कम करने के लिए सौंफ के बीज अत्यधिक मूल्यवान होते हैं जो आयुर्वेद में एक प्राकृतिक उपचार के रूप में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। सौंफ के पाउडर को ब्राउन शुगर या मिश्री के साथ समान मात्रा में मिलाकर पानी के साथ सेवन करने से अत्यधिक प्यास कम हो जाती है।

सौंफ खाने से क्या फायदा होता है?

यहाँ नीचे हमने रोजाना सौंफ खाने के फायदे के बारे में बताया है, जिन्हें आप नही जानते होंगे:-

  1. सौंफ आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। सौंफ में विटामिन A, विटामिन E और प्रोटीन होता है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है।
  2. सौंफ में पाए जाने वाले फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में फायदेमंद होते हैं।
  3. सौंफ में विटामिन K होता है जो हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।
  4. सौंफ में विटामिन E, प्रोटीन और कैल्शियम होता है जो बालों को घना और मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।
  5. सौंफ में एक एंटीऑक्सीडेंट तत्व होता है जो मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है।
  6. सौंफ फ्लू की बीमारियों से बचाने में उपयोगी है। बता दें कि सौंफ में एंटीवायरल गुण होते हैं जो शरीर में संक्रमण को फैलने से रोकते हैं।
  7. सौंफ में कैंसर रोधी गुण होते हैं जो शरीर को कैंसर के लक्षणों से बचाने में मदद करते हैं।

यहाँ निचे हमने सौंफ का उपयोग कैसे करे? (Fennel Seeds Uses in Hindi) के बारे में बताया है, जिन्हें आपको जानना चाहिए-

सौंफ के उपयोग (Uses of Fennel Seeds in Hindi):

दोस्तों सौंफ खाने के फायदे जानने के बाद आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि सौंफ का इस्तेमाल कैसे किया जाता है। तो आइए अब जानते हैं कि सौंफ का इस्तेमाल कैसे करें?-

  1. सौंफ या सौंफ के पत्तों में अदरक का पाउडर मिलाकर चाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  2. कोल्ड शेक बनाने के लिए सौंफ, बादाम, काली मिर्च का इस्तेमाल किया जाता है।
  3. सौंफ का पानी बनाकर आप सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. सौंफ और चीनी का इस्तेमाल पाउडर बनाने में किया जाता है।
  5. इसका उपयोग सौंफ की चटनी बनाकर किया जा सकता है।
  6. अचार के मसाले का स्वाद बढ़ाने के लिए सौंफ का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  7. दाल, चकली में स्वाद बढ़ाने के लिए सौंफ का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  8. मिश्री और सौंफ का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है।
  9. सौंफ का इस्तेमाल सब्जियों और पराठों में किया जा सकता है।
  10. सौंफ के पत्तों के रस के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

सौंफ खाने के नुकसान (Side Effects of Fennel Seeds in Hindi):

मध्यम मात्रा में सेवन करने पर सौंफ सुरक्षित होती है। हालाँकि जितने सौंफ खाने के फायदे उतने नुकसान नही है, लेकिन कुछ हद तक यह आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। तो आइये जानते है सौंफ खाने के दुष्प्रभाव (Disadvantages of Fennel Seeds in Hindi) के बारे में-

  1. सौंफ की प्रकृति ठंडी होती है, इसलिए अगर सर्दी-जुकाम वाले लोगों को कब्ज की समस्या है तो सौंफ का सेवन बहुत कम मात्रा में करना चाहिए या नहीं करना चाहिए।
  2. प्राकृतिक एस्ट्रोजेनिक गुण वाले सौंफ गर्भवती महिलाओं द्वारा लेने के लिए सुरक्षित नहीं हैं क्योंकि यह सामान्य भ्रूण के विकास में बाधा उत्पन्न कर सकता है। सौंफ के बीजों में वाष्पशील तेलों की उच्च सांद्रता इसे गर्भवती महिलाओं के लिए असुरक्षित बनाती है, इसलिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही सौंफ का सेवन करना चाहिए।
  3. धूप के सीधे संपर्क में आने पर सौंफ के अधिक सेवन से दाने निकल सकते हैं।
  4. सौंफ का सेवन पूरक एस्ट्रोजन की गोलियों और कुछ कैंसर दवाओं के साथ भी हस्तक्षेप कर सकते हैं। सौंफ की खुराक लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है।

आशा है की आपको इस लेख द्वारा सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi) के बारे में जानकारी मिल गयी होगी।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi) पसंद आया होगा, अगर आपको भी सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Saunf Khane Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects And Benefits Of Fennel Seeds in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!
×