धनिया के फायदे और नुकसान (18 Amazing Benefits Of Coriander in Hindi)

0

धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi): धनिया के पत्ते आपके भोजन में स्वाद और सुगंध जोड़ने के अलावा और भी बहुत कुछ कर सकते हैं। उनके कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं।

आम तौर पर धनिया कहा जाता है, धनिया फास्फोरस, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम सोडियम, विटामिन A, B, C, और के जैसे पोषक तत्वों के एक बंडल के साथ पैक किया जाता है। पौधे परिवार अपियासी के एक सदस्य, धनिया के कई उपयोग हैं क्योंकि यह दोनों पत्ते हैं और बीजों का उपयोग खाना पकाने में किया जाता है।

सूप हो, दाल हो या करी, भारतीय व्यंजन धनिया पत्ती के बिना लगभग अधूरे हैं। वास्तव में, क्या धनिया की चटनी हमारा हमेशा के लिए पसंदीदा भोजन और नाश्ते की संगत नहीं है?

ये हरे और सुगंधित पत्ते न केवल पकवान को अधिक आकर्षक और मजेदार बनाते हैं बल्कि इसे स्वस्थ भी बनाते हैं। तो बिना देर किए हम आप सभी को बता दें कि यह जड़ी बूटी आपके शरीर के लिए कितनी फायदेमंद हो सकती है। तो आइये जानते है धनिया के फायदे और नुकसान (Coriander Benefits And Side Effects in Hindi) के बारे में-

विषय सूची:

धनिया अपने स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है। यूएसडीए के अनुसार, 100 ग्राम सर्विंग के लिए धनिया के पोषण मूल्य इस तालिका में हैं। तो आइये जानते है धनिया में क्या पाया जाता है?

पोषक तत्व मूल्य (प्रति 100 ग्राम)

  • कार्बोहाइड्रेट: 3.67 ग्राम
  • आहार फाइबर: 2.80 ग्राम
  • कोलेस्ट्रॉल: 0 ग्राम
  • वसा: 0.52 ग्राम
  • प्रोटीन: 2.13 ग्राम

विटामिन

  • विटामिन A: 67.48 मिलीग्राम
  • विटामिन C: 27 मिलीग्राम
  • विटामिन E: 2.50 मिलीग्राम
  • विटामिन K: 310 एमसीजी
  • थियामिन: 0.067 मिलीग्राम
  • नियासिन: 1.114 मिलीग्राम
  • राइबोफ्लेविन: 0.162 मिलीग्राम
  • पाइरिडोक्सिन: 0.149 मिलीग्राम
  • पैंटोथेनिक एसिड: 0.570 मिलीग्राम

खनिज पदार्थ

  • कैल्शियम: 67 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम: 26 मिलीग्राम
  • आयरन: 1.77 मिलीग्राम
  • मैंगनीज: 0.426 मिलीग्राम
  • सेलेनियम: 0.9 मिलीग्राम
  • फास्फोरस: 48 मिलीग्राम
  • जिंक: 0.50 मिलीग्राम

इलेक्ट्रोलाइट्स

  • पोटेशियम: 521 मिलीग्राम
  • सोडियम: 46 मिलीग्राम

(यह भी पढ़े – सौंफ खाने के फायदे और नुकसान (20 Amazing Benefits of Fennel Seeds in Hindi))

यहाँ निचे हमने धनिया खाने के फायदे (Coriander Benefits in Hindi) के बारे में विस्तार से बताया है, जिन्हें आपको जानना चाहिए-

धनिया के फायदे (Benefits Of Coriander in Hindi):

धनिया लंबे समय से खाद्य पदार्थों में मसाले (स्वाद बढ़ाने वाले) के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। धनिया को अपने नियमित आहार में शामिल करने से आपकी सेहत को कई तरह से फायदा हो सकता है।

भले ही धनिया के पूरे पौधे के शरीर के कई उपयोग और लाभ हैं, लेकिन पौधे का जो हिस्सा सबसे ज्यादा काम आता है वह है धनिया पत्ती। आइए जानते हैं धनिया पत्ती के फायदे और उपयोग के बारे में-

धनिया के फायदे, धनिया के नुकसान, धनिया के उपयोग, Dhaniya Ke Fayde, Dhaniya Ke Nuksan, Dhaniya Ke Upyog, Side Effects Of Coriander in Hindi, Benefits Of Coriander in Hindi, Uses Of Coriander in Hindi, Coriander in Hindi, Coriander Benefits in Hindi, Coriander Side Effects in Hindi, Coriander Uses in Hindi,
धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi)

1. रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander to control blood sugar level in hindi):

अगर आपको मधुमेह होने का खतरा है, तो धनिया को अपने आहार में शामिल करके आप अपने शर्करा के स्तर को नियंत्रित रख सकते हैं। विभिन्न अध्ययनों ने पुष्टि की है कि धनिया के पत्ते सक्रिय एंजाइमों से भरे होते हैं जो रक्त से शर्करा को हटाकर रक्त में ग्लूकोज के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करते हैं। इस प्रकार आप मधुमेह को नियंत्रित करने में सक्षम होंगे।

2. मूत्र मार्ग में संक्रमण के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for urinary tract infection in hindi):

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) मुख्य रूप से जननांग क्षेत्रों में रोगजनकों द्वारा संक्रमण के कारण होता है। वे पेशाब के दौरान जलन, पेशाब में दुर्गंध और बार-बार पेशाब करने की इच्छा जैसे लक्षण पैदा करते हैं।

लोक चिकित्सा में, धनिया का उपयोग मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज के लिए किया गया है। यह लाभ धनिया के रोगाणुरोधी और मूत्रवर्धक गुणों और कई यूटीआई पैदा करने वाले रोगजनकों के खिलाफ इस जड़ी बूटी की प्रभावशीलता के लिए जिम्मेदार है जो अन्यथा दवाओं के लिए प्रतिरोधी हैं।

(यह भी पढ़े – यूरीन इंफेक्शन के घरेलु उपाय, नुस्खे और उपचार (12 Effective Home Remedies For Urine Infection in Hindi))

3. आसान पाचन प्रक्रिया के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for easy digestion process in hindi):

धनिया के पत्ते फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। यह पाचन को बढ़ाता है, मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है, और आपको सूजन और कब्ज को प्रबंधित करने में मदद करता है। यह आपको भरा हुआ महसूस कराता है और अधिक खाने से रोकता है, और आपके पेट को भी स्वस्थ रखता है।

4. त्वचा की सूजन को कम के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander to reduce skin inflammation in hindi):

सिनेओल- आवश्यक तेलों के 11 घटकों में से एक-साथ ही लिनोलिक एसिड, दोनों धनिया में मौजूद होते हैं। उनके पास एंटीह्यूमेटिक और एंटीआर्थराइटिक गुण होते हैं जो इन दो स्थितियों के कारण होने वाली सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। जर्नल ऑफ द जर्मन सोसाइटी ऑफ डर्मेटोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने धनिया के तेल के एंटी इन्फ्लामेंट्री गुणों को भी नोट किया है।

5. डिप्रेशन और तनाव को प्रबंधित के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for managing depression and stress in hindi):

ये जादुई पत्ते आपके तनाव के स्तर को भी कम कर सकते हैं। धनिया के पत्ते पाचन को आसान करते हैं और शरीर में शारीरिक तनाव कम करते हैं। ये पत्ते पाचन तंत्र को साफ, स्वस्थ और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करके मूड को बढ़ाते हैं।

(यह भी पढ़े – दही खाने के फायदे और नुकसान (14 Best Benefits of Curd in Hindi))

6. ओरल हाइजीन के लिए धनिया के फायदे (Benefits of Coriander for Oral Hygiene in hindi):

धनिया को व्यक्तिगत रूप से या अन्य सफाई एजेंटों (जैसे लौंग) के साथ मौखिक स्वच्छता बनाए रखने के लिए उपयोग किया जा सकता है। धनिया में मौजूद एसेंशियल ऑयल, सिट्रोनेलॉल, कार्य में एंटीसेप्टिक होता है। यह गुण मुंह के छालों को ठीक करने और सांसों की दुर्गंध को कम करने में मदद करता है। अध्ययनों का दावा है कि धनिया का पेस्ट लगाने से मुंह के छालों में काफी कमी आती है।

7. बालों के झड़ने के लिए के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for hair loss in hindi):

धनिया पत्ती का रस या पेस्ट बालों के झड़ने को रोकने में मदद कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि धनिया विटामिन A, विटामिन B और विटामिन K से भरपूर होता है। विटामिन K केराटिन के निर्माण के लिए आवश्यक है। केराटिन बालों के रोम को मजबूत करने और बालों को टूटने से रोकने के लिए आवश्यक प्रोटीन है।

धनिया पत्ती के रस का सेवन इस प्रकार केराटिन प्रोटीन के निर्माण और संचय में मदद करता है, जिसके परिणामस्वरूप बालों के विकास में वृद्धि होती है। यह बालों को अधिक मात्रा और चमक भी प्रदान करता है।

8. धनिया के फायदे हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाएं (Benefits of Coriander Increase Heart Health in hindi):

धनिया भी है दिल के अनुकूल! क्युकी इसे मूत्रवर्धक माना जाता है, और रक्तचाप को कम करके सिस्टम से अतिरिक्त सोडियम को बाहर निकालता है। इसके अलावा, यह एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर में भी समृद्ध है इसलिए यह हृदय रोग के जोखिम को कम करता है और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखता है।

(यह भी पढ़े – कुटजघन वटी के फायदे, उपयोग, खुराक और साइड इफेक्ट्स (12 Amazing Benefits of Kutajghan Vati in Hindi))

9. त्वचा विकारों को दूर करने में मदद करने के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander to help relieve skin disorders in hindi):

धनिया के कीटाणुनाशक, डिटॉक्सिफाइंग, एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुण एक्जिमा, सूखापन और फंगल संक्रमण जैसे त्वचा विकारों को दूर करने के लिए आदर्श साबित हो सकते हैं। जर्मनी के फ्रीबर्ग में यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर के एक चिकित्सक द्वारा धनिया के तेल को इसके एंटी इन्फ्लामेंट्री और एंटी-माइक्रोबियल गुणों के लिए पेटेंट कराया गया है।

10. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander to strengthen the immune system in hindi):

धनिया में टेरपीनिन, क्वेरसेटिन और टोकोफेरोल जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो सेलुलर क्षति से लड़ते हैं और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करते हैं। शोध के अनुसार, ये एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम करते हैं और कैंसर विरोधी और न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रभाव डालते हैं।

11. वजन घटाने के लिए के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for weight loss in hindi):

प्रभावी वजन घटाने के लिए विशेषज्ञों ने बार-बार धनिया के पत्तों के रस की सिफारिश की है। धनिया के पत्तों में आवश्यक तेल किसी भी अवांछित सूक्ष्मजीवों को खत्म करके और सूजन पैदा करने वाले विषाक्त पदार्थों को हटाकर आंत को साफ करने में मदद करते हैं। यह, बदले में, वजन घटाने में सहायता करता है।

इसके अतिरिक्त, धनिया के पत्तों में पॉलीफेनोल्स शरीर में वसा के जमाव को रोकने में मदद करते हैं। किसी आहार विशेषज्ञ से यह जानने के लिए कहें कि धनिये के पत्तों के रस के इस गुण का सर्वोत्तम उपयोग कैसे करें।

(यह भी पढ़े – एलो वेरा जूस के फायदे और नुकसान (18 Amazing Aloe Vera Juice Benefits in Hindi))

12. आंखों के लिए धनिया के फायदे (benefits of coriander for eyes in hindi):

धनिया विटामिन A का एक समृद्ध स्रोत है, जो आंखों में छड़ और शंकु कोशिकाओं के विकास के लिए आवश्यक है जो दृष्टि में सहायता करते हैं। धनिया में मौजूद विटामिन A की उच्च मात्रा आंखों की रक्षा करने में मदद करती है।

यह रतौंधी को रोकने में भी मदद करता है। धनिया में मौजूद विटामिन A बीटा-कैरोटीन (जिससे विटामिन ए का उत्पादन होता है) के रूप में कैरोटीनॉयड से आता है और इस प्रकार, बहुत अधिक मात्रा में भी विषाक्तता का कारण नहीं बनता है।

13. कैंसर के लिए धनिया के फायदे (benefits of coriander for cancer in hindi):

धनिया कैंसर के खिलाफ काम करने का दावा किया जाता है। एक अध्ययन में, धनिया के रस में एंटी-म्यूटाजेनिक (म्यूटेशन को कम करने वाले जो कैंसर जैसी स्थितियों को जन्म देते हैं) गुण पाए गए हैं।

अध्ययन ने संकेत दिया कि धनिया डीएनए में उत्परिवर्तन को कम कर सकता है, विशेष रूप से ऐसे उत्पादों में जो कार्सिनोजेनिक (कैंसर का कारण बनते हैं) हैं। हालांकि, धनिया की एंटी-कार्सिनोजेनिक के रूप में कार्य करने की क्षमता का विवो में परीक्षण किया जाना बाकी है।

14. पेट की समस्या का इलाज करें धनिया के फायदे (Benefits of coriander to treat stomach problem in hindi):

धनिया के पत्तों में मौजूद एंथोसायनिन सूजन-रोधी गुणों को सक्षम करते हैं, जो पेट के अल्सर और अपच को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, धनिया के पत्ते खाने से गैस्ट्रिक म्यूकोसल स्राव का स्तर भी बढ़ता है, जो पेट की दीवारों को मजबूत एसिड से बचाता है, जिससे आंत के स्वास्थ्य में सुधार होता है।

(यह भी पढ़े – ओरेगेनो तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान (16 Amazing Benefits Of Oregano Oil in Hindi))

15. रैशेज और एलर्जी के लिए धनिया के फायदे (Benefits of Coriander for Rashes and Allergies in hindi):

धनिया अपने एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए प्रसिद्ध है। आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा एलर्जी, सूजन, त्वचा पर चकत्ते और कीड़े के काटने के कारण होने वाली खुजली के उपचार के लिए धनिया के रस की सिफारिश की जाती है। धनिया का रस जलन, हे फीवर (एलर्जिक राइनाइटिस) के इलाज में भी कारगर साबित हो सकता है।

16. लीवर की खराबी का इलाज करने में मदद करें धनिया के फायदे (Benefits of coriander help to treat liver failure in hindi):

धनिये के पत्तों में प्रचुर मात्रा में एल्कलॉइड और फ्लेवोनोइड्स लीवर की बीमारियों जैसे पीलिया और पित्त विकारों को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, वे उपयोगी हेपेटोप्रोटेक्टिव लक्षण भी प्रदान करते हैं, यकृत के कार्य को बढ़ाते हैं और गुर्दे के माध्यम से शरीर से विषाक्त पदार्थों का उचित उन्मूलन सुनिश्चित करते हैं।

17. हड्डियों के घनत्व को मजबूत करने के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander to strengthen bone density in hindi):

धनिया के पत्तों में संयोजी ऊतक समृद्ध खनिजों, जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम, और फास्फोरस की उदार मात्रा होती है। इन पत्तों को दाल और सलाद में खाने से हड्डियों का घनत्व बहुत बढ़ जाता है और गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस में जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

(यह भी पढ़े – लेमन ग्रास के फायदे, उपयोग और नुकसान (15 Amazing Benefits Of Lemon Grass in Hindi))

18. भोजन की विषाक्तता के लिए धनिया के फायदे (Benefits of coriander for food poisoning in hindi):

धनिया का सेवन आंत की सफाई और माइक्रोबियल संक्रमण को रोकने में मदद कर सकता है। अवांछित बैक्टीरिया और कवक जैसे रोगजनक दूषित भोजन और पानी के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। धनिया के रोगाणुरोधी गुण खाद्य जनित रोगजनकों से उत्पन्न होने वाले किसी भी प्रकार के खाद्य विषाक्तता को रोकने में भी उपयोगी होते हैं।

अब जब आप धनिया खाने के फायदे (Coriander Benefits in Hindi) के बारे में जान ही चुके है, तो आइये अब धनिया का इस्तेमाल कैसे करें? (Coriander Uses in Hindi) के बारे में भी थोडा जान लिया जाएँ-

धनिया का उपयोग कैसे करें? (Uses Of Coriander in Hindi):

आपको अपने दैनिक आहार में धनिया पत्ती को शामिल करना चाहिए। आप अपने सूप, सब्जी, दाल, सलाद, या सालसा को धनिया से सजाकर सजा सकते हैं।

साथ ही, जैसा कि विशेषज्ञ सुझाव देते हैं, आप धनिया चावल भी बना सकते हैं, इसे मैरीनेटिंग, अचार, करी, पैनकेक, चटनी और सॉस में इस्तेमाल कर सकते हैं। यहां एक और सुझाव दिया गया है – इसके कई लाभों को प्राप्त करने के लिए धनिये का पानी या जूस पीने की कोशिश करें।

यहाँ निचे हमने धनिया खाने के दुष्प्रभाव (Coriander Side Effects in Hindi) के बारे में बताया है, जिन्हें आप नही जानते होंगे-

धनिया के नुकसान (Side Effects Of Coriander in Hindi):

धनिया, सामान्य रूप से, नियमित मात्रा में सेवन करने पर सुरक्षित होता है और यहां तक ​​कि निर्धारित औषधीय मात्रा में भी लिया जाता है। हालाँकि, यह कुछ लोगों में कुछ दुष्प्रभाव दिखा सकता है। इसमे शामिल है:

  1. कुछ लोगों में धनिये के कारण पेट दर्द और दस्त होने की सूचना मिली है। यदि स्थिति बनी रहती है, तो यह महत्वपूर्ण है कि कोई चिकित्सक से परामर्श करे।
  2. धनिया मानव प्रजनन ग्रंथियों की गतिविधियों को नुकसान पहुंचा सकता है और गर्भवती महिलाओं में भ्रूण के विकास में बाधा उत्पन्न कर सकता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को धनिये का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए।
  3. धनिया के अधिक सेवन से कुछ लोगों में एलर्जी हो सकती है। यदि किसी प्रकार की एलर्जी विकसित होती है, तो तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करें और उचित परामर्श तक आगे का उपयोग बंद कर दें।
  4. धनिया के अत्यधिक सेवन से कुछ लोगों में रक्तचाप बहुत कम हो सकता है। इससे प्रकाशस्तंभ या बेहोशी की अवधि हो सकती है।
  5. धनिया में मौजूद अम्लीय तत्व कुछ लोगों में सूर्य के प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता पैदा कर सकते हैं।
  6. सांस संबंधी विकार वाले लोगों को धनिया का सेवन करने से पहले चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए क्योंकि ऐसी स्थिति वाले कुछ लोगों में सांस की तकलीफ और श्वसन संबंधी विकारों की खबरें आई हैं।
  7. धनिया के सेवन से कुछ लोगों को सीने में दर्द की शिकायत हुई है। इसलिए, यह अत्यधिक आवश्यक है कि औषधीय प्रयोजनों के लिए धनिया का सेवन करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श किया जाए।

आशा है की आपको इस लेख द्वारा धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi) के बारे में जानकारी मिल गयी होगी।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi) पसंद आया होगा, अगर आपको भी धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी धनिया के फायदे और नुकसान – Dhaniya Ke Fayde Aur Nuksan (Side Effects and Benefits Of Coriander in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here