बच्चों के लिए काजू के फायदे (7 Effective Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi)

0

बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi): आजकल के बच्चे बाहर का खाना पसंद करते हैं। खासतौर पर ऑयली स्नैक्स और फास्ट फूड।लेकिन ये चीजें बच्चों की सेहत के लिए खराब होती हैं। वे बच्चों में बचपन के मोटापे और मधुमेह के खतरे को बढ़ाते हैं। जैसे-जैसे वे बड़े होते जाते हैं, उनमें कई जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

इसलिए अपने बच्चों को बचपन से ही स्वस्थ रखने के लिए आपको उनकी डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव करने की जरूरत है। इस बारे में तुम दो चीजें कर सकते हो। सबसे पहले अपने आहार में प्राकृतिक खाद्य पदार्थ जैसे फल, सब्जियां और नट्स शामिल करें।

दूसरा, उन्हें व्यायाम करने और योग करने के लिए प्रोत्साहित करें। भोजन के समय आप नाश्ते में काजू, बादाम और पिस्ता जैसे मेवे खा सकते हैं। लेकिन आज हम आपको छोटे बच्चों के लिए काजू खाने के फायदे (Benefits of cashew for Kids in Hindi) के साथ-साथ यह भी बताएंगे कि आप इसे अपने बच्चों को कैसे खिला सकते हैं।

बच्चों के लिए काजू के फायदे (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi):

बच्चों के लिए काजू के फायदे (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi):

यहाँ निचे हमने बच्चों के लिए काजू के लाभ – Baccho Ke Liye Kaju Ke Fayde (Benefits of cashew for babies in Hindi) के बारे में विस्तार से बताया है, जिन्हें आप नही जानते होंगे, तो आइये शुरू करते है-

बच्चों के लिए काजू के फायदे, Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh, Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi, बच्चों के लिए काजू के लाभ, Cashew Benefits for Toddlers in Hindi, Baccho Ke Liye Kaju Ke Fayde, Benefits of cashew for babies in Hindi,
बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi)

1. एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण प्रदान करता है (Provides Anti-Inflammatory Properties):

काजू में मौजूद फैट एसिड शरीर के लिए एंटी-इंफ्लेमेटरी में मदद करता है। यह सुनिश्चित करता है कि आपके बच्चों के वयस्क होने तक उनका स्वास्थ्य अच्छा रहे।

Also Read:-

2. हड्डियों और दांतों को मजबूत करता है (Strengthens Bones And Teeth):

काजू हड्डियों और दांतों दोनों के लिए अच्छा होता है। काजू में मौजूद फॉस्फोरस बच्चे के विकास के दौरान हड्डियों और दांतों की कार्यक्षमता में सुधार करने में मदद करता है। काजू में कॉपर, मैंगनीज, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक और सेलेनियम होता है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

छह महीने की उम्र में शिशुओं के दांत निकलने लगते हैं, इसलिए उन्हें कैल्शियम की जरूरत होती है जो काजू उन्हें दे सकता है। साथ ही ये पोषक तत्व बच्चों के विकास के लिए जरूरी होते हैं और काजू इन सब में मददगार होते हैं। इसके लिए आप बच्चों को काजू का दूध दे सकते हैं।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है (Boosts Immunity):

काजू एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है जो इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है। दरअसल काजू में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और जिंक अच्छी मात्रा में होता है, जो शरीर को संक्रामक रोगों से लड़ने की ताकत देता है। इसके अलावा, ये तत्व शरीर को इन बीमारियों से बचाने में भी मदद करते हैं और इस प्रकार ये शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

4. दिमाग को तेज करता है (Sharpens The Mind):

काजू में उच्च मात्रा में फाइबर मेटाबोलिज्म को तेज करके और पाचन में सुधार करके कब्ज को रोकने में मदद करता है। लेकिन बच्चों को काजू ज्यादा मात्रा में नहीं खिलाना चाहिए, नहीं तो उनका पेट खराब हो सकता है। उन्हें 5 से 6 काजू ही दें। यह भी ध्यान रखें कि बच्चों को काजू से एलर्जी न हो।

Also Read:-

5. रक्त में कोलेस्ट्रॉल और ग्लूकोज को नियंत्रित करता है (Regulates Cholesterol And Glucose In The Blood):

हालांकि शिशुओं के रक्त में कोलेस्ट्रॉल और ग्लूकोज की मात्रा की देखभाल करने की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन काजू का सेवन वयस्क होने पर उनके लिए फायदेमंद होगा। कम विटामिन E सामग्री और निम्न रक्त शर्करा सूचकांक के कारण काजू कोलेस्ट्रॉल और ग्लूकोज को कम करने के लिए उपयोगी है, लेकिन हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि भुने हुए मेवे बहुत नमकीन या बहुत मीठे न हों। आम तौर पर भुने हुए काजू किसी और के द्वारा बनाए जाते है।

6. बच्चों में कब्ज की समस्या को दूर करता है (Cures The Problem Of Constipation In Children):

काजू में उच्च मात्रा में फाइबर मेटाबोलिज्म को तेज करके और पाचन में सुधार करके कब्ज को रोकने में मदद करता है। लेकिन बच्चों को काजू ज्यादा मात्रा में नहीं खिलाना चाहिए, नहीं तो उनका पेट खराब हो सकता है। उन्हें 5 से 6 काजू ही दें। यह भी ध्यान रखें कि बच्चों को काजू से एलर्जी न हो।

7. वजन घटाने और मधुमेह नियंत्रण में मदद करता है (Helpful In Weight Loss And Diabetes Control):

काजू वजन घटाने में मदद करता है। काजू कम कैलोरी वाला भोजन है। यह फाइबर और प्रोटीन से भी भरपूर होता है जो भूख कम करने और पेट भरने में मदद करता है। इस तरह यह बच्चों के वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह मधुमेह को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

इसके अलावा, काजू फाइबर का एक अच्छा स्रोत हैं और पोषक तत्वों से भरे हुए हैं जो उच्च रक्त शर्करा को रोकने और मधुमेह को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा, यह प्री-डायबिटिक बच्चों में मधुमेह के विकास को रोकते हुए, इंसुलिन उत्पादन को सही करता है।

Also Read:-

बच्चों को काजू कब देना चाहिए? (When Should Cashew Nuts Be Given To Children?):

यहां निचे हमने विस्तार में बताया है, कि आप अपने बच्चे के आहार में काजू को कैसे शामिल करना शुरू कर सकते हैं।

6 से 12 महीने के बच्चों के लिए (For Babies 6 To 12 Months):

  • इस उम्र में आपका बच्चा शायद तरल खाद्य पदार्थ जैसे अनाज, दही और मैश किए हुए फल खा रहा है। आप काजू को फ़ूड प्रोसेसर में बारीक पीसकर छिड़क सकते हैं। आप इन्हें पिसने के लिए मूसल और मोर्टार का भी उपयोग कर सकते है।
  • माताएं काजू के पाउडर को मां के दूध में भी मिलाकर पिला सकती हैं।
  • इस उम्र के बच्चे मलाई खा सकते हैं। तो काजू क्रीम शामिल करना भी काफी अच्छी बात हो सकती है। काजू को कुछ घंटों के लिए भिगो दें जब तक कि वे नम और नरम न हो जाएं। इन्हें फ़ूड प्रोसेसर में थोड़ी मात्रा में पानी के साथ तब तक ब्लेंड करें जब तक ये स्मूद न हो जाएं।
  • इस उम्र के बच्चे अपने आप चम्मच पकड़ना सीख रहे होते हैं, इसमें आप एक चम्मच पर स्वाद वाले काजू का पतला मिश्रण डालें और उन्हें अपने मुंह में डालने के लिए मार्गदर्शन कर सकें।

12 से 24 महीने के बच्चों के लिए (For Babies 12 To 24 Months):

  • इस उम्र में आपके बच्चे के दांत कुछ कुछ आ गये होंगे। आप अनाज में काजू या दूध में काजू पाउडर मिला सकते हैं या उनमे ऊपर से काजू छिड़क सकते हैं।
  • अपने बच्चों को स्प्रेड और ब्रेड से परिचित कराने का यह एक अच्छा समय है। उन्हें प्रोसेस्ड शुगर स्प्रेड देने के बजाय, उन्हें किसी भी जैम के साथ काजू बटर दें, जो उन्हें पसंद हो। काजू को कुछ घंटों के लिए भिगो दें; चिकनी होने तक उन्हें संसाधित करें। नारियल तेल जैसे स्वाद के लिए प्राकृतिक तेल डालें।
  • अगर आप अपने बच्चों को काजू खिलाने के बारे में सोच रहें है, तो अपने चिकित्सक या डॉक्टर से परामर्श कर के ही अपने बच्चों को काजू की डाइट दें। वह आपको बेहतर ढंग से समझा पाएंगे की आपको अपने बच्चें को काजू कब और किस प्रकार देना है।

आशा है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi) क्या होते है।

Also Read:-

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Fayde (Cashew Benefits for Toddlers in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Fayde (Benefits of Cashew for Babies in Hindi) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी बच्चों के लिए काजू के फायदे – Baccho Ke Liye Kaju Ke Labh (Benefits of Cashew for Toddlers in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here