बालायाम करने का तरीका और फायदे [Balayam (Wind-Relieving Pose) Steps And Benefits in Hindi]

बालायाम करने का तरीका, फायदे और सावधानियां – Balayam Yoga Steps, Benefits And Precautions in Hindi : हमारी बदलती जीवन शैली के लिए योग आवश्यक है। बढ़ते तनाव और चिंता के कारण गंजेपन की समस्याएं उत्पन होने लगी हैं, जो बालो को स्वस्थ रखने में बाधा डालती हैं। ऐसी स्थिति में कुछ समय के लिये योग और प्राणायाम का अभ्यास आपकी गंजेपन की समस्या को दूर कर सकती है।

ऐसे कई योगासन है, जो हमारे बालो को मजबूत, मुलायम और सुंदर बनाते है। योग कई शारीरिक और मानसिक समस्याएं, जेसे की तनाव, टेंशन, स्ट्रेस, डिप्रेशन एवं अनिद्रा को कम करता और अच्छे स्वास्थ्य रखने में मदद करता है।

वैसे तो योग कई प्रकार के होते हैं लेकिन आज हम आपके लिए यह लेख लाये है, इस लेख में आप जानेगें की बालायाम क्या है, बालायाम कैसे करते है और बालायाम के लाभ एवं बालायाम के फायदे क्या होते है और बालायाम करने का सही तरीका क्या होता है, तो चलिए शुरू करते है।

क्या है बालायाम योग? [What is Balayam Yoga in Hindi]:

बालायाम योग एक तरह की नाखून रगड़ने की प्रक्रिया है। प्राचीन भारतीयों द्वारा योग और आयुर्वेद की पुस्तकों में वर्णित बालों की झड़ने की रोकथाम के लिए एक सरल और प्राकृतिक योग तकनीक है। बालायाम का एक्यूप्रेशर चिकित्सा में भी बहुत महत्व है और यह योग और एक्यूप्रेशर का मिश्रित रूप है। यह बालों की रिग्रोथ और अन्य बालों की समस्याओं के लिए सबसे प्रभावी उपाय और आम उपचार है।

बालायाम योग हमारे बालों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है क्योंकि यह बालों से जुड़ी हर समस्याओ से निपटने में एक कारगर उपचार है, जैसे सफेद बाल, बालों का पतला होना और गंजा होना आदि।

इस प्रकिर्या में व्यक्ति रक्त प्रवाह और ऑक्सीजन को प्रोत्साहित करने के लिए सिर गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए अपने दोनों हाथों के नाखूनों को एक दूसरे के खिलाफ रगड़ता है। यह उत्तेजना अगर सही ढंग से, बार-बार और लंबे समय तक की जाती है, तो MPB (मेल पैटर्न बल्डनेस or एंड्रोजेनिक अलोपेसा) को ठीक करने के मदद करती है। इस विधि में MPB (मेल पैटर्न बल्डनेस or एंड्रोजेनिक अलोपेसा) जैसे पुरुषों और महिलाओं के गंजेपन का इलाज किया जाता है। इसे प्रसन्ना मुद्रा के नाम से भी जाना जाता है।

(यह भी पढ़े – जानिए 10 दिन में फेस पर ग्लो कैसे लाये? (Face Par Glow Kaise Laye))

बालायाम योग करने का सही तरीका [Right Technique To Do Balayam Yoga in Hindi]:

  1. बालायाम योग का सही तरीके से अभ्यास करने के लिए, बस अपने हाथों को छाती के पास लाएं, ओर उंगली को अंदर की ओर करें और नाखूनों को एक दूसरे पर रगड़ें। जब तक संभव हो ऐसा करें।
  2. सर्वोत्तम परिणामों के लिए, थंबनेल (अंगूठे) को रगड़ें नहीं।
  3. जल्दी परिणाम प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन 5 से 10 मिनट तक इस योग का अभ्यास करें।

(यह भी पढ़े – पेट कम करने के योगासन [Pet Kam Karne Ke Yogasan (13 Effective Yoga For Reduce Belly Fat in Hindi)])

बालायाम योग के फायदे और लाभ [Benfits Of Balayam Yoga in Hindi]:

हर कोई स्वस्थ बालों की इच्छा रखता है। इस संबंध में, वे रैगुलर व्यायाम का उपयोग करते हैं, जिससे तनाव काफी हद तक दूर हो सकता है और साथ ही गुस्से को खत्म करने से मन शांत और प्रसन्न रहता है। कई ऐसे उत्पाद है, जो बालों के लिए हानिकारक होते हैं। अगर आप स्वस्थ बालों की इच्छा रखते हैं तो बालायाम योग का अभ्यास करें।

  1. बालायाम योग हमारे बालों को बहुत फायदा पहुंचाता है। बालायाम हमारे बालों को वापस उगाने में पूरी तरह सक्षम है।
  2. यह हमारे बालों से जुड़ी हर समस्या से निपटने में एक कारगर घरेलू उपचार है, जैसे कि सफेद बाल, पतले बाल, बाल गिरना और गंजे सिर आदि।
  3. इस आसन का अभ्यास करने से चर्म रोग ठीक हो जाते हैं।
  4. नियमित व्यायाम से तनाव को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। और साथ ही गुस्से को खत्म करने से मन शांत और खुश रहता है।
  5. बालायाम योग के अभ्यास से पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर हो जाता है जो चेहरे पर चमक लाता है, और कमजोरी को दूर करता है।

बाबा रामदेव द्वारा बताया गया बालायाम योग करने का सही तरीका [Right Technique To Do Balayam Yoga in Hindi]:

बालायाम करते है इन चीजें का ध्यान रखें [Important Things To Do Balayam Yoga in Hindi]:

  • इस प्रक्रिया में अधिक समय लगता है और परिणाम धीरे-धीरे सामने आते हैं, इसलिए आपको थोड़ा धैर्य रखना होगा।
  • यदि आप एक हाथ के नाखूनों को स्थिर रखते हैं और दूसरे हाथ के नाखूनों को रगड़ते हैं, तो कान के पास के बाल तेजी से बढ़ सकते हैं।
  • दोनों हाथों के नाखूनों को रगड़ने से मूंछ और दाढ़ी के बाल बढ़ जाएंगे। इसलिए, इसका अभ्यास करते समय, महिलाओं को अंगूठे का उपयोग न करने का ध्यान रखना चाहिए। नहीं तो आप मुछो वाली औरत बन सकती है।

बालायाम करते समय क्या सावधानी और एहतियात बरते [What Precautions Should Be Taken While Doing Balayam Yoga in Hindi]:

  • हाई ब्लड प्रेशर वालों के लिए बालायाम योग हानिकारक हो सकता है।
  • इसके अलावा, गर्भवती महिलाओं को भी इस योग से बचना चाहिए क्योंकि इससे गर्भाशय में संकुचन या उच्च रक्तचाप हो सकता है।

आशा है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की बालायाम करने का तरीका और फायदे (Balayam Yoga Steps And Benefits in Hindi) क्या होते है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख बालायाम योग करने का तरीका और फायदे (Balayam Yoga Steps And Benefits in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी बालायाम योगासन करने का तरीका और फायदे (Balayam Yoga Steps And Benefits in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई बालायाम आसन करने का तरीका और फायदे (Balayam Yoga Steps And Benefits in Hindi) के बारे में जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी बालायाम करने का तरीका और फायदे (Balayam Yoga Steps And Benefits in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे, अगर आपने हमे पहले से ही सब्सक्राइब कर रखा है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!