आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के रामबाण उपाय

Spread the love
आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के रामबाण उपाय, Ayurveda se Immunity Power Ko kaise badhaye
Aayurved se Immunity Power Ko kaise badhaye

आयुर्वेद से इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाये के निम्न लिखित बिंदु है:-

1.आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर कैसे बढ़ाये
2.आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर के लिए जानकारी
3.आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के उपाय एवं आहार

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाये बहुत ही आसान तरीके से, जो हमे अपने जीवन में लागू करने चाहिए–

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाये :हेलो दोस्तों आज मैं बहोत ही अच्छी जानकारी लेके आया हूँ जिससे पढ़ने के बाद आप बहुत आसानी से अपनी इम्युनिटी पावर(रोग प्रतिरोधक छमता) को बहुत ही आसान तरिके से बढ़ा सकते है।

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाये इसके बारे में आप ज़रूर सोचते होंगे।आपने यूट्यूब में बहुत सारे वीडियोस देखे होंगे की Ayurveda Se Immunity Power को कैसे बढ़ाये पर आज में जो आपको बताने वाला हु वह शायद ही आपको वो बाते पता होंगी और उससे पढ़ने के बाद आप बहुत ही आसानी से आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाये इस सवाल का जवाब आपको मिल जायेगा।

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर के लिए जानकारी:-

मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी ने आयुष मंत्रालय की एक एडवाइजरी के पालन की सिफारिश की, जिसमें COVID-19 के लिए कई ‘ घरेलू उपचार ‘ का सुझाव दिया गया है।

यह भी पढ़े :-  योगा से इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाये

COVID-19 के प्रकोप के मद्देनजर, दुनिया भर में पूरी मानव जाति पीड़ित है, शरीर की प्राकृतिक रक्षा प्रणाली (प्रतिरक्षा) को सक्रिय करना इष्टतम स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका  निभाता है।हम सभी जानते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है। हालांकि अभी तक COVID-19 के लिए कोई दवा नहीं है, लेकिन निवारक उपाय करना अच्छा होगा जो इन समय में हमारी प्रतिरक्षा को बढ़ाते हैं।

यह भी पढ़े :-  Immunity Power Ko kaise badhaye

आयुर्वेद, जीवन का विज्ञान होने के नाते, स्वस्थ और खुश रहने के लिए प्रकृति के उपहारों का प्रचार करता है। 

निवारक देखभाल पर आयुर्वेद का व्यापक ज्ञान आधार,”दिनचार्य” की अवधारणाओं से निकला है – दैनिक जीवन और स्वस्थ जीवन को बनाए रखने के लिए “ऋतुच्यारा” – मौसमी शासन। यह एक पौधे पर आधारित विज्ञान है।

 स्वयं के बारे में जागरूकता की सादगी और प्रत्येक व्यक्ति सद्भाव को प्राप्त कर सकते हैं और अपनी प्रतिरक्षा को  बनाए रख सकते हैं और आयुर्वेद पर जोर दिया जाता है शास्त्रीय शास्त्र, आयुष मंत्रालय निवारक स्वास्थ्य उपायों के लिए निम्नलिखित स्व-देखभाल दिशानिर्देशों की

 सिफारिश करता है और श्वसन स्वास्थ्य के लिए विशेष संदर्भ के साथ प्रतिरक्षा को बढ़ाता है, ये आयुर्वेदिक साहित्य और वैज्ञानिक प्रकाशनों द्वारा समर्थित हैं।

यह भी पढ़े :-  योगा से इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाये

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के उपाय एवं आहार:-

आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर, Ayurveda se Immunity Power Ko kaise badhaye

1. अनुशंसित उपाय:-

  1. पूरे दिन गर्म पानी पिएं।
  2. आयुष मंत्रालय (#YOGAatHome #StayHome #StaySafe) की सलाह के अनुसार कम से कम 30 मिनट के लिए योगासन, प्राणायाम और ध्यान का दैनिक अभ्यास करे
  3. खाना पकाने में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का उपयोग करे

2. आयुर्वेदिक प्रतिरक्षा उपायों को बढ़ावा देना:-

  1. सुबह च्यवनप्राश 10 ग्राम (1tsf) लें। मधुमेह रोगियों को शुगर फ्री च्यवनप्राश लेना चाहिए।
  2. तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, शुंठी (सूखी अदरक) और मुनक्का (किशमिश) से बनी हर्बल चाय / काढ़ा दिन में एक या दो बार पिएं।यदि आवश्यक हो तो गुड़ (प्राकृतिक चीनी) और / या ताजा नींबू का रस अपने स्वाद में जोड़ें।
  3. गोल्डन मिल्क- 150 मिली गर्म दूध में आधा टी स्पून हल्दी पाउडर मिलाकर दिन में दो बार।

यह भी पढ़े :-  Immunity Power Ko kaise badhaye

3. सरल आयुर्वेदिक प्रक्रियाएं:-

  1. 1. नाक का अनुप्रयोग – तिल का तेल / नारियल का तेल या घी दोनों नथुने (प्रतिमा नस्य) में सुबह और शाम लगायें।
  2. ऑयल पुलिंग थेरेपी- 1 टेबल स्पून तिल या नारियल का तेल मुंह में लें। पीना नही है, 2 से 3 मिनट के लिए मुंह में घुमाएं और इसे थूक दें, इसके बाद गर्म पानी से कुल्ला करें। 
  3. यह दिन में एक या दो बार किया जा सकता है।
आयुर्वेद से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के रामबाण उपाय, Ayurveda se Immunity Power Ko kaise badhaye

4. सूखी खांसी / गले में खराश के दौरान:-

  1. ताजा पुदीना  पत्तियों या अजवाइन (कैरवे बीज) के साथ भाप साँस लेना दिन में एक बार अभ्यास किया जा सकता है।
  2. नैचुरल शुगर /शहद के साथ मिला हुआ लौंग पाउडर खांसी या गले में जलन के मामले में दिन में 2-3 बार लिया जा सकता है।
  3. ये उपाय आम तौर पर सामान्य सूखी खांसी और गले में खराश का इलाज करते हैं। हालांकि, यदि ये लक्षण बने रहते हैं तो डॉक्टरों से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

1. उपरोक्त उपायों का पालन किसी व्यक्ति की सुविधा के अनुसार संभव हो सकता है।

2. इन उपायों की सिफारिश देश भर के प्रख्यात वैद्यों द्वारा की जाती है 

क्योंकि वे संभवतः संक्रमण के खिलाफ किसी व्यक्ति की प्रतिरक्षा को बढ़ा सकते हैं।

यह भी पढ़े :-  Immunity Power Ko kaise badhaye

यह भी पढ़े :-  योगा से इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाये

Leave a Comment