अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान (21 Amazing Benefits of Ashwagandha in Hindi)

Show Some Love By Sharing!

अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Uses, Side Effects and Benefits of Ashwagandha in Hindi): आयुर्वेद में अश्वगंधा को सर्वश्रेष्ठ औषधियों में से एक माना जाता है। आयुर्वेद में इसका विशेष स्थान है। यह सिर्फ एक पौधा ही नहीं है बल्कि कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने की एक बेहतरीन औषधि भी है।

यही वजह है कि इनकी जड़ और पत्तियों से कई तरह की दवाएं बनाई जाती हैं। अश्वगंधा का उपयोग दवा, पाउडर और कैप्सूल के रूप में भी किया जाता है। अश्वगंधा का वैज्ञानिक नाम विथानिया सोम्निफेरा है। आम बोलचाल में इसके पौधे की लंबाई लगभग 35-75 सेमी होती है।

खास बात यह है कि इसकी जड़ और पत्तियों की सुगंध घोड़े के मूत्र के समान होती है। यही कारण है कि इसे अश्वगंधा कहते हैं। इसे मुख्य रूप से सुखाने के बाद जड़ी बूटी के रूप में प्रयोग किया जाता है।

यह केवल पाउडर और कैप्सूल के रूप में सबसे लोकप्रिय है। अश्वगंधा को छह हजार साल से भी ज्यादा पुरानी औषधि माना गया है। आयुर्वेद में इसे विशेष स्थान दिया गया है। वेद भी इसके पुण्य तथ्यों का वर्णन करते हैं।

यहाँ इस लेख में हमने अश्वगंधा के फायदे (Ashwagandha Benefits in Hindi) के साथ-साथ अश्वगंधा के नुकसान (Ashwagandha Side Effects in Hindi) के बारे में भी बताया है, जिसे आपको जानना चाहिए-

विषय सूची:

अश्वगंधा क्या है? (What is Ashwagandha in Hindi):

यदि आप आयुर्वेदिक दवाएं लेते हैं या वैकल्पिक दवाओं में विश्वास करते हैं, तो संभावना है, आपने अश्वगंधा के बारे में कई बार सुना होगा। और क्यों नहीं? अश्वगंधा सबसे महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में से एक है। अश्वगंधा की उपस्थिति और उपयोग अथर्ववेद के अनुसार हजारों साल पहले से है।

चिकित्सा की भारतीय पारंपरिक प्रणाली अक्सर इसे “जादुई जड़ी बूटी” के रूप में संदर्भित करती है क्योंकि यह तनाव से संबंधित लक्षणों और चिंता विकारों को दूर करने के लिए सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली जड़ी-बूटियों में से एक है।

अश्वगंधा शब्द का अर्थ है- अश्व अर्थ घोड़े और गंधा अर्थ गंध। इसके अतिरिक्त अनुवाद का शाब्दिक अर्थ अश्वगंधा की जड़ों से आता है, जिसमें घोड़े के मूत्र या पसीने की विशिष्ट गंध होती है। और आयुर्वेदिक शोधकर्ताओं का भी मानना ​​है कि अश्वगंधा का सेवन करने पर घोड़े की तरह शक्ति और यौन शक्ति मिलती है।

(यह भी पढ़े – Chyawanprash Khane Ke Fayde [15 Amazing Benefits in Hindi])

अश्वगंधा पर आधारित कुछ बुनियादी तथ्य (Some Basic Facts Based on Ashwagandha in Hindi):

वानस्पतिक नाम: विथानिया सोम्निफेरा

परिवार : सोलानेसी (नाइटशेड परिवार)

अश्वगंधा का दूसरा नाम क्या है?

  • संस्कृत के नाम : अश्वगंधा, वराहकर्णी (सुअर के कान के पत्ते), कमरुपीनी।
  • सामान्य नाम : शीतकालीन चेरी, भारतीय जिनसेंग, अस्गंद।
  • उपयोग किए जाने वाले भाग : अधिकतर जड़ें और पत्तियां लेकिन फूलों और बीजों का भी उपयोग किया जाता है
  • मूल क्षेत्र और भौगोलिक वितरण : अश्वगंधा भारत (मध्य प्रदेश और राजस्थान मुख्य रूप से), नेपाल, अफ्रीका और मध्य पूर्व के अधिकांश हिस्सों में पाई जाती है , लेकिन इसे संयुक्त राज्य अमेरिका में भी पेश किया गया है।

अश्वगंधा खाने से क्या फायदा होता है? (What are The Benefits of Ashwagandha in Hindi):

अश्वगंधा में कई क्रियाएं होती हैं। जड़ी-बूटी एक शब्द है जिसका उपयोग जड़ी-बूटी में किया जाता है ताकि यह समझा जा सके कि जड़ी बूटी या पौधा शरीर पर किस प्रकार कार्य कर सकता है।

एक जड़ी बूटी के विशिष्ट कार्यों को परिभाषित करने के लिए विभिन्न शर्तें हैं और एक जड़ी बूटी एक शरीर के समग्र कल्याण के लिए कार्य कर सकती है। यहां एक जड़ी बूटी के रूप में अश्वगंधा के सबसे अधिक मांग वाले उपयोगों और अश्वगंधा खाने के फायदे की सूची निचे दी गई है:-

  1. यह तनाव और चिंता को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह एक ज्ञात एडेपोजेन है।
  2. यह शरीर को फिर से जीवंत करने में मदद करता है और शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करता है।
  3. हाल के कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार, अश्वगंधा में कुछ एंटीकैंसर गुण पाए गए हैं। कैंसर के उपचार में इस जड़ी बूटी के संभावित उपयोग को निर्धारित करने के लिए अभी भी काम चल रहा है ।
  4. भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक शोध का दावा है कि अश्वगंधा जोड़ों के दर्द को कम करने में प्रभावी है, विशेष रूप से गठिया रोग से ग्रस्त लोगों में।
  5. अध्ययन बताते हैं कि अश्वगंधा का सेवन कामेच्छा और यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।
  6. मूत्रवर्धक के रूप में, यह शरीर से अतिरिक्त तरल पदार्थ और लवण से छुटकारा पाने में मदद करता है।
  7. यह त्वचा को साफ करने और उम्र बढ़ने के शुरुआती संकेतों से बचने के लिए एक अच्छा विकल्प है।
  8. एक अध्ययन में, यह पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए पाया गया है।
  9. ऊर्जावान रूप से, अश्वगंधा शरीर पर एक गर्म प्रभाव डालता है। आयुर्वेद में, यह पित्त बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

(यह भी पढ़े – Pista Khane Ke Fayde Aur Nuksan [13 Amazing Benefits in Hindi])

स्वास्थ्य के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha in Hindi):

स्ट्रेस बस्टर के रूप में प्रसिद्ध होने के बावजूद, अश्वगंधा के व्यापक उपयोग हैं। आइए इस लेख के माध्यम से हम कुछ तरीकों का पता लगाते हैं जो इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल आमतौर पर अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है। तो चलिए विस्तार में जानते है अश्वगंधा के फायदे (Ashwagandha Benefits in Hindi) के बारे में-

Ashwagandha Khane Se Kya Hota Hai, अश्वगंधा खाने से क्या होता है, Ashwagandha Khane Se Kya Labh Hota Hai, अश्वगंधा खाने से क्या होता है, अश्वगंधा के फायदे क्या क्या है, Ashwagandha Ke fayde kya kya hai,  Ashwagandha khane ke fayde,
अश्वगंधा के फायदे – Ashwagandha Ke Fayde (Benefits of Ashwagandha in Hindi)

1. आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to increase eyesight in Hindi):

आंखों की बीमारियां आजकल आम हो गई हैं। यहां तक ​​कि युवा भी आंखों की बीमारी से जूझ रहे हैं। शोध में यह भी पाया गया है कि अश्वगंधा मोतियाबिंद के लिए रामबाण औषधि की तरह है और इसका सेवन प्रभावी ढंग से काम करता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी यह एक बेहतरीन विकल्प है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण आंखों से जुड़ी बीमारियों से लड़ने में मददगार होते हैं।

2. यौन स्वास्थ्य में सुधार के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for improving sexual health in Hindi):

अश्वगंधा पुरुषों और महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए जाना जाता है। अध्ययन बताते हैं कि यह पुरुषों में साइकोजेनिक इरेक्टाइल डिसफंक्शन और वीर्य की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है।

(यह भी पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, उपयोग और नुकसान (22 Amazing Benefits of Apple Cider Vinegar in Hindi))

3. रजोनिवृत्ति के लक्षणों में कमी के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Reduction of Menopause Symptoms in Hindi):

अश्वगंधा के टॉनिक और विरोधी तनाव गुण इसे रजोनिवृत्ति महिलाओं के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बनाते हैं। यह तनाव, चिंता को कम करता है और हार्मोन को संतुलित करता है, रजोनिवृत्ति के लक्षणों से राहत प्रदान करता है। 

4. पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to increase fertility in men in Hindi):

अश्वगंधा के फायदे, 
अश्वगंधा के उपयोग, 
अश्वगंधा के नुकसान, 
Ashwagandha Ke Fayde, 
Ashwagandha Ke Upyog, 
Ashwagandha Ke Nuksan, 
Uses of Ashwagandha in Hindi, 
Side Effects of Ashwagandha in Hindi,
Benefits of Ashwagandha in Hindi,
Ashwagandha Benefits in Hindi,
Ashwagandha Side Effects in Hindi,
Ashwagandha Uses in Hindi,
पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to increase fertility in men in Hindi)

अनुसंधान के कई अध्ययनों से यह पता चला है की अश्वगंधा प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है। यह न केवल शुक्राणुओं की संख्या और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाता है बल्कि यह यौन शक्ति और प्रदर्शन में भी सुधार करता है। इस लिए अगर आप वैवाहिक जीवन में नया सुख लाना चाहते है, तो आप इसका सेवन कर सकते है।

(यह भी पढ़े – तुलसी के बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान (19 Effective Benefits of Basil Seeds in Hindi))

5. कैंसर के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Cancer in Hindi):

अश्वगंधा का इस्तेमाल न सिर्फ कैंसर जैसी बीमारियों में राहत के लिए बल्कि इससे निजात पाने के लिए भी किया जा रहा है। शोध में पाया गया है कि अश्वगंधा में एंटी-ट्यूमर गुण होते हैं, जो कैंसर को खत्म करने में काफी मददगार होते हैं, इसलिए कई बार अश्वगंधा का इस्तेमाल कैंसर के वैकल्पिक इलाज के तौर पर भी किया जाता है।

6. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to increase immunity in hindi):

अश्वगंधा की एक विशेषता यह भी है कि यह उत्कृष्ट रोग प्रतिरोधक क्षमता वाला पौधा है, जो कई रोगों से लड़ने की ताकत रखता है। आयुर्वेद कहता है कि एनर्जी कैप्सूल लेने की जगह अश्वगंधा का सेवन करने से शरीर में जमा टॉक्सिन्स और बैक्टीरिया बाहर निकल जाते हैं और बीमारियों से लड़ने की ताकत भी आ जाती है।

7. मानसिक तनाव से राहत के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for relieving mental stress in hindi):

वर्तमान समय में लोग लगातार तनाव का शिकार हो रहे हैं। उन्हें हर तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अश्वगंधा का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इस दवा को एंटीस्ट्रेस माना जाता है। हालांकि यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि इसे एंटीस्ट्रेस क्यों माना जाता है, लेकिन यह साबित हो गया है कि इसके इस्तेमाल से तनाव में राहत जरूर मिलती है।

(यह भी पढ़े – केसर के फायदे, उपयोग और नुकसान (18 Effective Benefits of Saffron in Hindi))

8. महिलाओं के लिए अश्वगंधा के फायदे (benefits of ashwagandha for women in hindi):

अश्वगंधा के फायदे, 
अश्वगंधा के उपयोग, 
अश्वगंधा के नुकसान, 
Ashwagandha Ke Fayde, 
Ashwagandha Ke Upyog, 
Ashwagandha Ke Nuksan, 
Uses of Ashwagandha in Hindi, 
Side Effects of Ashwagandha in Hindi,
Benefits of Ashwagandha in Hindi,
Ashwagandha Benefits in Hindi,
Ashwagandha Side Effects in Hindi,
Ashwagandha Uses in Hindi,
महिलाओं के लिए अश्वगंधा के फायदे (benefits of ashwagandha for women in hindi)

अश्वगंधा एक ऐसी औषधि है जिसका उपयोग महिलाओं से संबंधित कई रोगों से छुटकारा पाने के लिए किया जा सकता है, जैसे कि यह डिंब की गुणवत्ता में सुधार करने में सहायक होता है। गर्भाशय और अंडाशय को मजबूत करने में मदद करता है, जिससे महिलाएं गर्भावस्था की तैयारी कर सकती हैं। इतना ही नहीं यह महिलाओं में मेनोपॉज के दौरान भी मददगार होता है।

चूंकि महिलाओं को मेनोपॉज के दौरान तनाव और चिंता जैसी मानसिक परेशानी भी होती है, इसलिए अश्वगंधा का सेवन इनसे लड़ने में मदद करता है। शोध से यह भी पता चलता है कि जो महिलाएं सेक्स को लेकर निराश हो गई हैं, उनमें यह सेक्सुअली उत्तेजक हार्मोन को भी बढ़ाता है।

9. कोलेस्ट्रॉल के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Cholesterol in hindi):

कोलेस्ट्रॉल की बात करें तो हाल के दिनों में काफी लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं। वैसे तो इसे कम करने के लिए एलोपैथी की कई गोलियां भी दी जाती हैं, लेकिन आयुर्वेद में अश्वगंधा को सर्वोपरि माना गया है।

चूंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, इसलिए यह हृदय से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करने में मददगार है। इसके सेवन और खराब कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर से हृदय की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। साथ ही इसमें भरपूर मात्रा में हाइपोलिपिडेमिक भी पाया जाता है, जो रक्त में खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करता है।

10. अनिद्रा से दूर रखने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to keep away from insomnia in hindi):

अश्वगंधा अनिद्रा को दूर करने में भी माहिर है। अश्वगंधा के पत्तों में ट्राइमेथिलीन ग्लाइकॉल नामक यौगिक होता है , जो नींद को गहरा करने में मदद करता है, इसलिए अनिद्रा से पीड़ित व्यक्ति इसका सेवन कर सकते हैं।

(यह भी पढ़े – नीलगिरी तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान (Benefits, Uses And Side Effects of Eucalyptus Oil in Hindi))

11. मधुमेह को खत्म करने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to eliminate diabetes in hindi):

आयुर्वेद में मधुमेह के इलाज के लिए अश्वगंधा को एक बेहतरीन सहायक पौधा माना गया है। इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है। अश्वगंधा के पत्ते या इनका चूर्ण खाने से मधुमेह की समस्या से काफी हद तक छुटकारा मिलता है।

12. थायराइड के रोगियों के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Thyroid Patients in hindi):

अश्वगंधा थायराइड की समस्या से राहत दिलाने में भी मददगार है। हार्मोन असंतुलित होने पर शरीर का वजन तेजी से बढ़ता है। अन्य समस्याएं भी हैं। अश्वगंधा हार्मोन को नियंत्रित और सुव्यवस्थित करने में सहायक होता है, जिससे थायराइड की समस्या दूर हो सकती है।

13. गठिया के दर्द के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Arthritis Pain in hindi):

अश्वगंधा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ऐसे में अगर अश्वगंधा की जड़ के रस का इस्तेमाल किया जाए तो न सिर्फ गठिया से जुड़े लक्षण कम होते हैं बल्कि इसके दर्द से भी आराम मिलता है।

(यह भी पढ़े – दालचीनी के फायदे और नुकसान (15 Effective Benefits of Cinnamon in Hindi))

14. मेमोरी बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to increase memory in hindi):

यह भी साबित हो चुका है कि अश्वगंधा के सेवन से दिमाग की कार्यप्रणाली और याददाश्त पर अच्छा असर पड़ता है। अश्वगंधा के सेवन से अच्छी नींद आती है, जिससे दिमाग को आराम मिलता है, दिमाग शांत रहता है और इसका सीधा असर उसकी याददाश्त पर पड़ता है। याददाश्त बढ़ाने के तरीकों में से एक है अश्वगंधा का नियमित सेवन।

15. संक्रमण से बचाव के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to prevent infection in hindi):

अश्वगंधा में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुणों के कारण यह बीमारी फैलाने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में सक्षम है। अश्वगंधा की जड़ और पत्ती के रस ने साल्मोनेला संक्रमण को सफलतापूर्वक समाप्त कर दिया था, इसलिए अश्वगंधा को संक्रमण के खिलाफ लड़ाई के रूप में भी माना गया है।

16. हृदय रोगियों के लिए अश्वगंधा के फायदे (Ashwagandha benefits for heart patients in hindi):

आयुर्वेद का मानना ​​है कि अगर आप दिल के मरीज हैं तो अश्वगंधा के नियमित सेवन से कार्डियो एपोप्टोसिस का असर कम हो सकता है, जिससे जरूरी कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं। दिल के साथ-साथ मजबूत और स्वस्थ ऊतक मायोकार्डियम का भी कायाकल्प करने के लिए उपयोग किया जा सकता है।

17. एंटी एजिंग गुण प्राप्त करने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to get anti-aging properties in hindi):

चूंकि अश्वगंधा में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, इसलिए यह शरीर में बनने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ सकता है। ये फ्री रेडिकल्स सूरज की यूवी किरणों के कारण हमारे शरीर में भी बन सकते हैं और एंटी-एजिंग का कारण बन सकते हैं।

इसलिए इससे बने फेस पैक न केवल एंटी-एजिंग से बचाते हैं बल्कि समय से पहले झुर्रियों से भी राहत दिलाते हैं। इतना ही नहीं यह स्किन कैंसर से भी बचाता है। अश्वगंधा पाउडर को गुलाब जल में मिलाकर फेस पैक बनाया जा सकता है।

(यह भी पढ़े – त्रिफला गुग्गुल के फायदे, उपयोग और नुकसान (10 Effective Triphala Guggul Benefits in Hindi))

18. घाव भरने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Wound Healing in hindi):

अश्वगंधा पाउडर का उपयोग चोट या घाव के लिए भी किया जाता है। चूंकि यह इंफेक्शन से भी बचाता है, इसलिए इसे घाव पर लगाने से घाव जल्दी ठीक हो जाता है। इसके एंटी-बैक्टीरियल गुण इस मामले में काफी मदद करते हैं।

19. स्किन टोनिंग के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha for Skin Toning in hindi):

अश्वगंधा के इस गुण को जानकर आप हैरान रह जाएंगे, लेकिन यह सच है कि यह एक बेहतरीन स्किन टोनर भी है। दरअसल, स्किन टोन रोमछिद्रों को साफ करके सिकुड़ जाता है, जिससे उनमें दोबारा गंदगी जमा नहीं होती।

ऐसे में अश्वगंधा स्किन टोनर के तौर पर मददगार होता है। अश्वगंधा की जड़ के चूर्ण को पानी में नींबू के छिलके के साथ उबाल लें, फिर इसे ठंडा करके किसी बोतल में भरकर चेहरे पर टोनर की तरह इस्तेमाल करें।

20. त्वचा की सूजन से राहत पाने के लिए अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha to get relief from skin inflammation in hindi):

कई बार किसी कारण से त्वचा में सूजन आ जाती है। ऐसे में अश्वगंधा का प्रयोग करना चाहिए। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसमें विथेनोलाइड्स नामक एक यौगिक भी होता है, जो एक एंटी-बैक्टीरियल के रूप में कार्य करता है और सूजन वाली जगह पर लगाने से लाभ होता है।

21. बालों के लिए अश्वगंधा के फायदे (benefits of ashwagandha for hair in hindi):

अश्वगंधा का इस्तेमाल बालों को खूबसूरत और चमकदार बनाने के लिए भी किया जाता है। आयुर्वेद का मानना ​​है कि अगर आप स्वस्थ मूर्तिकला चाहते हैं तो अश्वगंधा का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। यह बालों के रोम को पर्याप्त पोषण भी प्रदान करता है, जिससे बाल जड़ों से अधिक मजबूत और घने बनते हैं।

बालों का झड़ना भी बंद हो जाता है। इतना ही नहीं यह बालों में एक्जिमा से भी राहत दिलाता है। यह स्कैल्प सिरोसिस जैसी समस्याओं को कम करने और डैंड्रफ को कम करने में भी मददगार है। अश्वगंधा का सेवन खासतौर पर इसके तेल का सेवन भी बालों में सफेदी आने से रोकता है। यह बालों में मेलेनिन के उत्पादन को बढ़ाता है।

अश्वगंधा की खुराक (Ashwagandha Ki Khurak in Hindi):

अश्वगंधा का सेवन करने का तरीका जानने के बाद यह भी समझना जरूरी है कि अश्वगंधा का सेवन किस अनुपात में करना चाहिए। अश्वगंधा की सूखी जड़ का 3 से छह ग्राम अक्सर सेवन किया जाता है। वैसे, अश्वगंधा की खुराक प्रत्येक व्यक्ति की उम्र, स्वास्थ्य, समस्या और अन्य कारणों पर भी निर्भर करती है।

इस कारण से बिना डॉक्टर की सलाह के अश्वगंधा का सेवन न करें। इसके अलावा बाजार में मिलने वाले अश्वगंधा सप्लीमेंट का एक पैकेट भी अश्वगंधा खाने का तरीका बताता है। उस लिखित निर्देश का पालन भी किया जा सकता है।

(यह भी पढ़े – सूरजमुखी के बीज के फायदे और नुकसान (13 Effective Benefits of Sunflower Seeds in Hindi))

यहाँ निचे हमने अश्वगंधा का इस्तेमाल कैसे करें? (Ashwagandha Uses in Hindi) के बारे में विस्तार से बताया है, जिसे आपको जानना चाहिए-

अश्वगंधा का उपयोग कैसे करें? (Uses of Ashwagandha in Hindi):

अश्वगंधा के सही फायदे पाने के लिए यह जानना जरूरी है कि अश्वगंधा का सेवन कैसे किया जाता है। अश्वगंधा के सही फायदे पाने और नुकसान से बचने के लिए डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इसका सेवन करना चाहिए-

  • जड़ का पाउडर – 2-4 ग्राम
  • काढ़ा – 10-30 मिलीग्राम

अश्वगंधा का सेवन कैसे करें? (How to consume Ashwagandha in Hindi):

अश्वगंधा की जड़ बाजार में पाउडर के रूप में, सूखे रूप में या ताजी जड़ के रूप में उपलब्ध है, जिसका आप सेवन कर सकते है।

  1. अश्वगंधा पाउडर को पानी में 10 मिनट तक उबाल कर आप अश्वगंधा की चाय बना सकते हैं। एक कप पानी में एक चम्मच से अधिक पाउडर का प्रयोग न करें।
  2. आप सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध के साथ अश्वगंधा की जड़ का चूर्ण भी ले सकते हैं।

अब जब आप अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha in Hindi) के बारे में जान ही चुके है, तो आइये अब अश्वगंधा के दुष्प्रभाव (Harms of Ashwagandha in Hindi) के बारे में भी थोडा जान लेते है-

अश्वगंधा के नुकसान (Side Effects of Ashwagandha in Hindi):

अश्वगंधा पाउडर के फायदे के अलावा इसके कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। अश्वगंधा की वजह से शरीर को होने वाला नुकसान इसके ओवरडोज से ही पहुंचता है। इसलिए मध्यम मात्रा में ही सेवन करना चाहिए। आइए अब जानते हैं अश्वगंधा के क्या नुकसान हैं

  1. अश्वगंधा की उच्च खुराक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल असुविधा, दस्त और उल्टी का कारण बन सकती है।
  2. गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन करने से नुकसान हो सकता है। इसके ओवरडोज को गर्भपात का कारण माना जाता है।
  3. केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में अवसाद हो सकता है। इसलिए अश्वगंधा का सेवन करते समय शराब और अन्य नशीले पदार्थों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।
  4. अगर आप पहले से ही किसी प्रकार की दवा लें रहे है, तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसका प्रयोग करें क्युकी यह आपकी दवा के साथ हस्तछेप कर सकती है।

उम्मीद है इन सभी गुणों को जान ने के बाद आपको कभी यह नहीं बोलना पड़ेगा की अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Ashwagandha Benefits, Uses And Side Effects in Hindi) क्या होते है।

तो जाइये और आज ही अश्वगंधा को बाजार से लाकर अपने डॉ की सलाह अनुसार अश्वगंधा खाइये क्युकी अश्वगंधा का चिकित्सक की देख रेख में सेवन करना अनिवार्य है।

यह भी पढ़े –

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Uses, Side Effects and Benefits of Ashwagandha in Hindi) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Uses, Side Effects and Benefits of Ashwagandha in Hindi) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Uses, Side Effects and Benefits of Ashwagandha in Hindi) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ashwagandha Ke Fayde, Upyog Aur Nuksan (Uses, Side Effects and Benefits of Ashwagandha in Hindi) के बारे में पता चलेगा।

हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे। अगर आप हमसे पहले से ही जुड़े हुए है तो आपको यह बार बार करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Leave a comment

error: Content is protected !!
×