Adrak ke Fayde Aur Nuksan [Best 7 Amazing Way To Lose Weight]

Spread the love

अदरक के फायदे और नुकसान(Adrak ke Fayde Aur Nuksan): क्या आप जानते हैं कि अदरक वजन घटाने के लिए आपकी रसोई में सबसे अच्छी सामग्री में से एक है? महंगे और अकुशल प्रोडक्ट्स को भूल जाइये क्युकी अदरक वजन घटने के लिए घरेलु जड़ी-बूटी है! यह एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक दवा है जिसके कई अन्य स्वास्थ्य लाभ हैं। हमने यहाँ अदरक से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (इंट्रेस्टिंग फैक्ट्स) और अदरक के फायदे और नुकसान (Adrak ke Fayde Aur Nuksan) भी संछिप्त में बताये है।

अदरक से वजन कैसे घटाए जानने के लिए उत्सुक हैं? पढ़ते रहिये!

Contents hide
3 अदरक के फायदे (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Interesting Facts About Ginger in Hindi)

  • अदरक वास्तव में एक प्रकंद (राइजोम) होता है, जड़ नहीं। राइजोम एक भूमिगत तना होता है।
  • अदरक का पौधा एक जड़ी बूटी होता है।  
  • अदरक जिंगबेरसी परिवार का एक हिस्सा है, जिसमें हल्दी और इलायची भी शामिल है।
  • अदरक दक्षिणपूर्वी एशिया में अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है।
  • आप किराने की दुकानों पर मिलने वाले प्रकंद से अदरक उगा सकते हैं।
  • परिपक्व अदरक प्रकंद, जिन्हें आमतौर पर किराने की दुकानों में बेचा जाता है, 10-12 महीनों के बाद काटा जाता है।
  • अदरक लोकप्रिय क्षेत्रों और उष्णकटिबंधीय में उगाया जाता है।
  • अदरक की खेती पूरे साल की जा सकती है। हालांकि उनकी खेती करने का सबसे अच्छा समय सर्दियों के अंत और शुरुआती वसंत में होता है।
  • अदरक का एक पौधा 4 फुट तक बढ़ सकता है।
  • अदरक में कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं, जिनमें कुछ विरोधी भड़काऊ (anti-inflammatory) गुण, रक्त शर्करा विनियमन और जठरांत्र संबंधी राहत शामिल हैं। (Also Read – योगा से इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाये | Amazing 7 Tips And Benefits For Yoga)

तो चलिए जानते है अदरक से वजन कैसे घटाए

अदरक से वजन कैसे घटाए – Adrak Se Vajan Kaise Ghataye

अदरक के फायदे और नुकसान – Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi, Adrak se pet kaise kam kare, adrak se vajan kam karne Ke Upay, अदरक से वजन और पेट कम करने के उपाय, अदरक से कैसे वजन घटाए, adrak se vajan Kaise Ghataye, वजन घटाने के लिए अदरक का उपयोग कैसे करें,
अदरक से वजन कैसे घटाए (Adrak ke Fayde Aur Nuksan)

वजन घटाने के लिए अदरक को अपने आहार में शामिल करने के कुछ तरीके इस प्रकार हैं:

1. शुद्ध अदरक की चाय

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • ½ इंच अदरक
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • अदरक की जड़ को कुचलने के लिए मोर्टार और मूसल का उपयोग करें।
  • एक कप पानी को उबाल लें।
  • उबलते पानी में अदरक की जड़ डालें और इसे 2 मिनट तक उबालें।
  • चाय को एक कप में डालें, और सेवन करे।

2. अदरक और दालचीनी चाय

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • ½ इंच अदरक
  • ¼  चम्मच सीलोन दालचीनी पाउडर
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • एक कप पानी में सीलोन दालचीनी पाउडर मिलाएं और इसे रात भर भीगा रहने दें।
  • सुबह पानी को छानकर उबाल लें।
  • कुटी हुयी अदरक जोड़ें और इसे 2 मिनट के लिए उबाल लें।
  • अदरक दालचीनी की चाय को एक कप में डालें, और आनंदपूर्वक से सेवन करे।

3. अदरक और नींबू की चाय

Nimbu Aur अदरक से वजन कैसे घटाए (Adrak ke Fayde Aur Nuksan)

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच कसा हुआ अदरक या अदरक पाउडर।
  • आधा नींबू का रस
  • 1 चम्मच शहद (वैकल्पिक)
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • एक कप पानी को उबाल कर अदरक डालें।
  • 5 मिनट के लिए पड़ा रहने दे।
  • इसके ठंडा होने के बाद इसमें नींबू का रस और शहद मिलाएं।
  • अच्छी तरह से हिलाओ और पी लो!

4. एप्पल साइडर सिरका और अदरक

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • 1 चम्मच एप्पल साइडर सिरका
  • 2 चम्मच कसा हुआ अदरक या अदरक पाउडर
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • एक कप पानी में अदरक का रस या पाउडर और सेब साइडर सिरका मिलाएं।
  • और आनंद पूर्वक सेवन करे!

5. अदरक और शहद की चाय

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच कसा हुआ अदरक
  • 1 चम्मच शहद
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • एक कप पानी को उबालें और उसमें कद्दूकस किया हुआ अदरक डालें।
  • 5 मिनट के लिए उबाल लें और इसे ठंडा होने दें।
  • शहद जोड़ें, अच्छे से मिलाये, और पीएं।

6. अदरक का पानी रेसिपी

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • 2 इंच अदरक, कद्दूकस किया हुआ
  • 500 मिली पानी

तैयार कैसे करें

  • पानी को एक बाउल में उबाले और अदरक डालें।
  • आंच से उतार लें और अदरक को 10 मिनट तक पानी में पड़ी रहने दें।
  • अदरक को बाहर निकाल दें।
  • अदरक का पानी गर्म या ठंडा पीएं।

7. काली मिर्च और अदरक

अदरक से वजन कैसे घटाए – सामग्री

  • 2 इंच अदरक, कसा हुआ या 2 चम्मच अदरक पाउडर
  • आधा नींबू का रस
  • ¼ चम्मच काली मिर्च
  • एक चुटकी हल्दी
  • ½  चम्मच शहद
  • 1 कप पानी

तैयार कैसे करें

  • एक कप पानी को उबाल लें।
  • कद्दूकस किया हुआ अदरक या अदरक पाउडर डालें।
  • 2-3 मिनट के लिए उबाल लें।
  • आंच से उतार लें और ठंडा होने दें।
  • नीबू का रस, शहद, हल्दी, और काली मिर्च मिलाएं।
  • हिलाओ और पिए।

अदरक के फायदे (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक से वजन कैसे घटाए (Adrak ke Fayde Aur Nuksan)

1. अदरक गठिया के दर्द को कम करता है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक में प्रभावशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो वात-रोग , संधिशोथ और ऑस्टियोआर्थराइटिस से संबंधित दर्द का इलाज करने में मदद कर सकते हैं। 2001 के एक अध्ययन के मुताबिक, घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के लक्षणों को कम करने में अदरक का अर्क अति प्रभावी था।

गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए, गर्म अदरक के पेस्ट को हल्दी के साथ एक दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इसके अलावा, अपने आहार में कच्चे या पके हुए अदरक को शामिल करें। दर्द कर रही मांसपेशियों और जोड़ों को शांत करने के लिए आप अपने स्नान के पानी में अदरक के तेल की कुछ बूंदो को भी मिला सकते हैं।

2. अदरक ठंड और फ्लू को रोकने में सहायक होता है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan)

अदरक के फायदे और नुकसान: यह अदरक का वो स्वास्थ्य लाभ है जिससे अधिकांश लोग परिचित होंगे। भारत में अधिकतर माएं अपने शिशुओं को ठण्ड व फ्लू का प्राकृतिक उपचार करने के लिए अदरक पर निर्भर रहती हैं। अदरक प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे उसे और भी शक्तिशाली बना देता है ताकि आपका शरीर सर्दी और फ्लू से बिना किसी साइड-इफ़ेक्ट के प्राकृतिक उपाय से लड़ सके। इसके अलावा अदरक में एंटी-वायरल, एंटी-टॉक्सिक और एंटी-फंगल गुण होते हैं। शरीर के ताप का निकास और पसीने को उत्तेजित कर, यह हल्के बुखार से भी मुक्ति दिलाने में सहायक है।

जब आप सर्दी-जुकाम या फ्लू से पीड़ित हो तो, एक दिन में कई बार अदरक का सेवन करें। आप दो कप पानी में एक चम्मच अदरक पाउडर या दो चम्मच ताज़ा बारीक कटे हुए अदरक को उबाल सकते हैं और इसकी मदद से भाप ले सकते हैं। ऐसा करने से आपको आम सर्दी से जुड़े बलगम और अन्य लक्षणों से राहत पाने में सहायता मिलेगी।

3. अदरक के औषधीय गुण शरीर को कैंसर से बचाने में मदद करते है

Adrak ke Fayde Aur Nuksan: डिम्बग्रंथि के कैंसर से कोलोरेक्टल कैंसर तक, अदरक सभी के उपचार में बेहद मददगार साबित हुआ है। एक अध्ययन में पाया गया कि अदरक का पाउडर अंडाशय के कैंसर कोशिकाओं की मृत्यु को प्रेरित करता है।

मिनेसोटा विश्वविद्यालय के एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि अदरक कोलोरेक्टल कैंसर कोशिकाओं के विकास को धीमा कर सकता है और इस तरह से बृहदान्त्र कैंसर को काफी हद तक रोका जा सकता है। अदरक में अन्य प्रकार के कैंसर से निपटने की क्षमता भी है, जिसमें फेफड़े, स्तन, त्वचा, प्रोस्टेट और अग्नाशयी कैंसर शामिल हैं।

4. अदरक की चाय माइग्रेन के इलाज में मदद करती है – (अदरक के फायदे और नुकसान)

Adrak ke Fayde Aur Nuksan: रिसर्च ने दिखाया है कि अदरक की प्रोस्टाग्लैंडीन को रक्त वाहिकाओं में दर्द और सूजन पैदा करने से रोकने की क्षमता की वजह से, यह माइग्रेन-पीड़ित व्यक्ति को माइग्रेन के दर्द से राहत दिलाने में सहायक है।

माइग्रेन का दर्द होने पर आप अदरक की चाय पी सकते हैं जिससे आपको असहनीय दर्द को अवरुद्ध करने में सहायता मिलेगी और परिणाम स्वरुप संबंधित चक्कर और मतली को रोका जा सकता है।

5. अदरक का सेवन खांसी को कम करने में मदद करती है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक एक प्राकृतिक एनाल्जेसिक और दर्द निवारक है, इसलिए इसे गले के दर्द और जलन को शांत करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यह खांसी को कम करने में भी मदद कर सकता है, खासकर जब उसका कारक आम सर्दी हो। अदरक की तीव्र उष्म कार्यशीलता फेफड़ों से बलगम को खत्म करने में मदद करती है जो खाँसी से राहत दिलाने में अत्यंत सहायक है।

खांसी से राहत पाने के लिए कसे हुए अदरक का सेवन कर सकते हैं या फिर अदरक से बनी हुई चाय का आनंद उठा सकते हैं। उपचार प्रक्रिया तथा खांसी को कम करने के लिए आप अदरक के तेल से छाती व पीठ की मालिश कर सकते हैं। (Also Read – साबूदाना खिचड़ी खाने के फायदे )

6. अदरक के गुण हैं हृदय के लिए स्वास्थ्यवर्धक होते है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक का हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए लंबे समय से उपयोग किया जाता रहा है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, रक्तचाप को नियंत्रित करता है और ब्लड-क्लॉटिंग को रोकने में मदद करता है, जो बदले में विभिन्न हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में सहाय है।

पोटेशियम में उच्च, अदरक दिल के स्वास्थ्य के लिए उत्कृष्ट है। अदरक में मौजूद मैंगनीज की अच्छी मात्रा, हृदय, रक्त वाहिकाओं और मूत्र मार्गों का संरक्षण करने में मदद करती है। इसलिए, हृदय के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए अपने नियमित आहार में इस जड़ी बूटी को अवश्य शामिल करें।

7. अदरक खराब पेट का उपचार करने में मदद करती है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक खराब पेट को शांत करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यह जठरांत्र की मांसपेशियों को आराम प्रदान करने में भी मदद करता है और इस प्रकार यह पेट की गैस और सूजन को रोकने में भी सहायक है।

इसके अलावा, स्वास्थ्य विशेषज्ञ अक्सर अपच या शूल जैसे पेट के विकारों के इलाज के लिए अदरक का सेवन करने की सलाह देते हैं। बैक्टीरिया प्रेरित डायरिया के उपचार में भी अदरक का अक्सर उपयोग किया जाता है। पाचन सुधारने के लिए, भोजन ग्रहण करने के पश्चात अदरक का उपभोग करें। अदरक भोजन के विषाक्तता (फ़ूड पोइज़निंग) के विभिन्न लक्षणों को कम करने में भी मदद कर सकता है। ( Also Read – गाय का घी खाने के फायदे और नुकसान )

8. अदरक के रस के फायदे रखें मधुमेह को नियंत्रित रखने में मदद करते है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है और इलाज के लिए इस्तेमाल होने वाली इंसुलिन और अन्य दवाओं के प्रभाव को बढ़ा सकता है। रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए विशेषज्ञों का सुझाव है कि सुबह-सुबह सबसे पहले काम आप यह करें कि एक गिलास गर्म पानी में अदरक के रस का एक चम्मच मिलाकर पी लें।

मधुमेह से जुड़े विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं को अदरक की मदद से काफी हद तक सीमित किया जा सकता है। अदरक का नियमित सेवन, मूत्र के प्रोटीन का स्तर कम कर सकता है। इसके अतरिक्त, यह पानी के सेवन और मूत्र उत्पादन कम करता है और अनियंत्रित रक्त शर्करा के कारण विभिन्न प्रकार के नुकसान का खतरा कम करता है।

9. अदरक का पाउडर मासिक धर्म दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है(Adrak ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

अदरक के फायदे और नुकसान: अदरक में अच्छी गुणवत्ता वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सम्मलित है और यह एक शक्तिशाली प्राकृतिक दर्द निवारक भी है, इसलिए इसे मासिक धर्म के दर्द को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

मासिक धर्म के दर्द से पीड़ित महिलाएं, राहत पाने के लिए अदरक के पाउडर या अदरक से निर्मित कैप्सूल का उपयोग कर सकती हैं। आप अदरक की चाय भी पी सकते हैं। यह आपको मासिक धर्म चक्र की शुरुआत में अक्सर होने वाले दर्द से तत्काल राहत देगा।

10. अदरक और शहद मतली के उपचार में प्रभावी होते है

अदरक के फायदे और नुकसान: उबकन से पीड़ित गर्भवती महिलाएं अदरक का उपयोग कर इस दैनिक समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। अदरक उबकन जैसी परिस्थिति में विटामिन बी 6 की तरह काम करता है। गर्भावस्था से प्रेरित मतली से छुटकारा पाने में विटामिन बी 6 बहुत ही प्रभावी विटामिन होता है। प्रायः मतली से पीड़ित होने पर, अदरक का उपयोग आपको तत्काल राहत प्रदान कर सकता है।

गर्भावस्था या सफर से सम्बंधित मतली व उबकन से छुटकारा पाने के लिए, थोड़ी से शहद के साथ बारीक काटे हुए अदरक का सेवन करें। यदि आपको कच्चा अदरक का स्वाद पसंद नहीं है, तो आप अदरक के पूरक का विकल्प भी चुन सकते हैं।

अदरक के नुकसान निम्नलिखित है (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi)

हालांकि अदरक में बहुत से स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन यह साइड इफेक्ट्स भी देता है। नीचे दर्शाये गए  में अदरक के संभावित दुष्प्रभाव का वर्णन किया गया है:-

  • यह ब्लड-क्लॉटिंग को धीमा कर सकता है और खून के पतलेपन को प्रेरित कर सकता है। अदरक का यह दुष्प्रभाव उन रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है जो ब्लड क्लॉटिंग के लिए दवाई पर निर्भर रहते हैं।
  • यदि अदरक की खुराक बड़ी मात्रा में ली जाए तो गंभीर जठरांत्र संबंधी लक्षण उत्पन्न हो सकते हैं जैसे कि दस्त, पेट की विभिन्न समस्या, मुंह में जलन और गंभीर डकार या उबकाई आदि।
  • कुछ मामलों में पाया गया है कि अदरक गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं, जैसे कि श्वास में कठिनाई, गले बंद होना, होंठ व जीभ में सूजन, खुजली व रैशिस आदि का कारक है। ऐसे मामलों में, अदरक की खपत को तुरंत बंद कर देना चाहिए और अच्छे डॉ. से परामर्श करना चाहिए।
  • अगर पांच कप से ज्यादा अदरक की चाय का सेवन किया जाए तो यह सिरदर्द, उल्टी, दस्त, तीव्रगत दिल की धड़कन और अनिद्रा पैदा कर सकती है।
  • अदरक अनेस्थिसिअ (बेहोसी के लिए Medicine) के साथ हस्तक्षेप कर सकता है। इससे सर्जरी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है जिससे रक्तस्राव का खतरा बढ़ जाता है और उपचार की गति धीमी हो सकती है। इसलिए सर्जन और एनेस्थिसियोलॉजिस्ट इस बात का सुझाव देते हैं कि रोगी को एक सप्ताह पहले ही अपने आहार से अदरक को निकाल देने चाहिए।
  • जो लोग हृदय या उच्च रक्तचाप की दवा लेते हैं, उन्हें स्वास्थ्य विशेषज्ञ की देखरेख में ही अदरक का सेवन करना चाहिए।

उम्मीद है आपको हमारा यह लेख Adrak ke Fayde Aur Nuksan (अदरक के फायदे और नुकसान) पसंद आया होगा ,अगर आपको भी Adrak ke Fayde Aur Nuksan (अदरक के फायदे और नुकसान) के बारे में पता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताये।

और अगर आपके घर परिवार में भी कोई Adrak ke Fayde Aur Nuksan (अदरक के फायदे और नुकसान) जानना चाहते है तो आप उन्हें भी यह लेख भेजे जिस से उन लोगो को भी Adrak ke Fayde Aur Nuksan (अदरक के फायदे और नुकसान) के बारे में पता चलेगा। हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमारे साइट को सब्सक्राइब कर सकते है, जिस से आपको हमारे लेख सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे। वेबसाइट को सब्सक्राइब करने के लिए आप निचे दिए गए बेल्ल आइकॉन को प्रेस कर अल्लोव करे

Leave a Comment